दिलचस्प

क्यों 13 को माना जाता है मनहूस, क्या है 13 नंबर की सच्चाई!

क्या कोई संख्या भी मनहूस हो सकती है? अगर भारत के नजर से बात करें तो इसके पीछे तर्क फिर भी नजर आ जाएंगे, लेकिन क्या आप जानते हैं कि विदेशों में भी एक संख्या को लेकर लोग डरे सहमे नजर आते हैं। यह नंबर है 13 जिसे लेकर लोग कांप जाते हैं। विदेशों में 13 को बहुत अशुभ माना जाता है। आप यह सोचकर भी ताज्जुब कर सकते हैं कि इस अंक का इस्तेमाल तो क्या कुछ लोग मुंह से भी 13 नंबर बोलना खराब मानते हैं। आप सोच सकते हैं कि सिर्फ मुंह से बोलने से 13 कैसे दुर्भाग्यपूर्ण माना जा सकता है।आपको बताते हैं कि क्यों 13 को माना जाता है अशुभ और इसमें छिपी है कितनी सच्चाई।

क्यों माना जाता है अशुभ

13 तारीख को अशुभ मानने के पीछे सबसे बड़ी वजह यह बताई जाती है कि एक बार प्रभु यीशू रात्रिभोज में अपने शिष्यों के साथ बैठे थें। उनके साथ वहां बैठे एक शख्स ने धोखा किया था औऱ उसकी सीट थी 13। इसके बाद से ही 13 को धोखेबाजी और दुर्भाग्यपूर्ण माना जाने लगा।

इतना ही नहीं मनोविज्ञान में 13 अंक को एक डर भी बताया है जसे ट्रिस्काइडेकाफोबिया या थर्टीन डिजीट फोबिया भी कहते हैं। यह फोबिया कुछ लोगों के अंदर इस कदर होता है कि वह इस नंबर का कभी इस्तेमाल तक नहीं करते औऱ ना ही इसका जिक्र करते हैं।

भारत में भी है 13 का डर

13 नंबर का डर सिर्फ विदेशों में ही नहीं भारत में भी फैला हुआ है। चंडीगढ़ जैसा खूबसूरत शहर सबसे सुनियोजित शहर माना जाता है। पंडित जवाहरलाल नेहरू इसे सपनों का शहर मानते थे। इस शहर की सबसे दिलचस्प बात यह है कि इसमें आप सेक्टर 13 नहीं पाएंगे। कहा जाता है कि इस शहर का नक्शा बनाने वाले आर्किटेक्ट ने 13 नंबर का सेक्टर नहीं बनाया था क्योंकि वह इसे अशुभ मानता था। वह आर्किटेक्ट विदेश से बुलाया गया था। आपने बहुत कम ही फ्लैट और सेक्टर देखे होंगे जिनका नंबर 13 हो।

13 को ना

विदेशों में और भारत में भी कई जगह लोग 13 को अशुभ मानते हैं। यहां तक की लोग अपने घर या फ्लैट का नंबर भी 13 नहीं लगवाते। यहां तक की विदेशों में लोग 13 तारीख को निकलना भी पसंद नहीं करते। वहां पर उससे भी खराब योग मानते हैं शुक्रवार को पड़ने वाले 13 तारीख को जिसे इंग्लिश में फ्राइडे द 13 कहते हैं। इतना ही नहीं कुछ लोग 13 तारीख को पैसों या प्रॉपर्टी की डील भी छोड़ देते हैं।

गौरतलब है कि एक विदेशी फिल्म का नाम भी फ्राइडे द 13 पर पड़ा था जो एक हॉन्टेड फिल्म थी औऱ भारत में एक फिल्म बनी थी 13बी और वह भी एक भुतिया फिल्म थी।

वैसे न्यूमरोलॉजी के हिसाब से भी 13 नंबर को अच्छा नहीं माना जाता। इससे ज्यादा नंबर 12 को बहुत शुभ मानते हैं। न्यूमरोलॉजी का मानना है कि 12 नंबर पूर्णता का प्रतीक है और इसमें एक और नंबर जोड़ना बुरे भाग्य यानी दुर्भाग्य का प्रतीक माना जाता है। न्यूमरोलॉजी के अलावा इन बातों में कितनी सच्चाई है वह तो पता नहीं, लेकिन आज भी इस नंबर को अच्छी नजर से नहीं देखते और इसे अशुभ मानते हैं।

यह भी पढ़ें :

Related Articles

Close