पूर्व PM मनमोहन सिंह का बड़ा बयान ‘नोटबंदी बड़ी तबाही, देश से माफी मांगे पीएम मोदी’

नोटबंदी को पूरे दो साल हो चुके हैं। इस मौके पर जहां एक तरफ सत्तापक्ष इसके फायदे गिना रहा है तो वहीं दूसरी तरफ विपक्ष एक से बढ़कर एक आरोप लगाता हुआ नजर आ रहा है। जी हां, नोटबंदी को भले ही पूरे दो साल हो चुके हो, लेकिन इस पर राजनीति अभी भी खत्म नहीं हुई है। हर बार की तरह इस बार भी जहां एक तरफ बीजेपी इस मौके पर जश्न मना रही है तो वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस और तमाम विपक्षीय दल इसे तबाही बता रही है। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

नोटबंदी के मुद्दे पर पूर्व प्रधानमंत्री और अर्थशास्त्री मनमोहन सिंह ने बीजेपी और पीएम मोदी पर बड़ा हमला बोला है। जी हां, पूर्व प्रधानमंत्री और अर्थशास्त्री मनमोहन सिंह ने कहा कि नोटबंदी के घाव दिन ब दिन बढ़ते जा रहे हैं, ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि वक्त के साथ नोटबंदी के घाव गहरे होते जा रहे हैं। इस पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने नोटबंदी को लेकर पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि उन्होंने आनन फानन में बिना सोचे समझे यह फैेसला लिया था, जिसकी वजह से आज देश में तबाही का माहौल है।

मनमोहन सिंह ने कहा कि नोटबंदी से हर व्यक्ति प्रभावित हुआ और देश के मझोले और छोटे कारोबार अब भी नोटबंदी की मार से उबर नहीं पाए हैं। इस दौरान पूर्व पीएम ने देश की मोदी सरकार को एक सलाह भी दी। पूर्व प्रधानमंत्री और अर्थशास्त्री मनमोहन सिंह ने कहा कि देश की आर्थिक व्यवस्था को देखते हुए अब पीएम मोदी को कोई ऐसा कदम नहीं उठाना चाहिए, वरना देश इससे कभी भी उभर नहीं पाएगा। इस पूर्व प्रधानमंत्री और अर्थशास्त्री मनमोहन सिंह नोटबंदी को भारी तबाही बताया।

स्व-निर्मित आपदा” के लिए देशवासियों से माफी मांगें पीएम मोदी

बताते चलें कि कांग्रेस पार्टी ने अब जब लगभग सभी पुराने नोट रिजर्व बैंक के पास जमा हो गए हैं, तो आवश्यक है कि मोदी इस “स्व-निर्मित आपदा” के लिए देशवासियों से माफी मांगें। गौरतलब है कि 8 नवंबर 2016 को पीएम मोदी ने 500 औऱ 1000 के तत्कालीन प्रचलित नोटो को अवैध करार दिया था, जिसके बाद से देशभर में नोटबंदी लागू हो गया औऱ पूरा देश नोट को बदलवाने के लिए बैंको की लाइनों में खड़ा था। अब दो साल बाद स्थिति में थोड़ा सुधार देखने को मिला, लेकिन आर्थिक स्थिति ज्यों की त्यों ही बनी है।