मनाया जाएगा दीपों का त्‍योहार दीपावली, पूजन सामग्री तथा लक्ष्मी पूजन शुभ मुहूर्त जानें

इस साल दीपावली का त्यौहार 7 नवंबर यानी कल मनाया जाएगा और इस त्यौहार की शुरुआत कल से ही यानि 5 नवंबर धनतेरस से हो चुकी हैं क्योंकि दीपावली का त्यौहार पाँच दिनों मनाया जाता हैं और इसकी शुरुआत धनतेरस से होकर भैया दूज तक चलता हैं। दीपावली के इन पाँच दिनों के त्यौहार का अपना अलग-अलग महत्व होता हैं। जहां धनतेरस के दिन धन्वन्तरी भगवान की पुजा की जाती हैं तो वहीं भैया दूज भाई-बहनों के प्यार का त्यौहार होता हैं, इस दिन बहने अपने भाई को मिठाई खिलाने के लिए मायके जाती हैं। दीपावली पूजन सामग्री तथा पूजा विधि जानिये

दीपावली पूजन सामग्री

 शुभ मुहूर्त दीपावली पूजन

दीपावली का त्यौहार अंधेरे के ऊपर उजाले के प्रतीक के रूप में मनाया जाता हैं, दीपावली के त्यौहार आने से पहले लोग अपने घर की साफ-सफाई और डेंटिंग-पेंटिंग करवाते हैं ताकि उनक घर साफ-सुथरा बना रहे। दरअसल सभी देवी-देवता साफ-सुथरे घर में वास करते हैं, इसलिए इस दिन साफ-सफाई का खास महत्व होता हैं, दीपावली के दिन गणेश भगवान और देवी माँ लक्ष्मी की पुजा की जाती हैं। दीपावली के त्यौहार को लेकर ऐसी मान्यता हैं कि इस दिन कोई भी उपाय या टोटका किया जाता हैं तो वो सफल रहता हैं क्योंकि दीपावली का दिन इस तरह के उपाय करने के लिए सबसे ज्यादा उपयुक्त दिन माना जाता है।

दीपावली पूजन

ऐसा माना जाता हैं कि यदि दिवाली के पाँच दिनों तक पूरे सच्चे मन से देवी-देवताओं की आराधना की जाए तो आपके सभी इच्छा और कार्य पूर्ण होते हैं। आप जो भी कार्य करना चाहते हैं या फिर जो आने जीवन में पाना चाहते हैं वो सभी आपको प्राप्त होगा और आपका जीवन सुखमय रहेगा। दरअसल दीपावली के दिन देवी माँ लक्ष्मी की पुजा प्रदोषकाल में होती है और ऐसा माना जाता हैं कि प्रदोषकाल में देवी माँ लक्ष्मी की आराधना करने से इंसान को कभी भी गरीबी और दरिद्रता का मुँह नहीं देखना पड़ता है। ऐसे में मनुष्य यदि गरीब होता हैं और वह माँ लक्ष्मी पूजन शुभ मुहूर्त यानी की प्रदोषकाल में करता हैं तो उसके जीवन से गरीबी हमेशा के लिए दुर हों जाती हैं। आगे जाने दीपावली पूजन सामग्री और पूजा विधि

दीपावली पूजन सामग्री

पूजा का शुभ मुहूर्त

इस दीपावली देवी माँ लक्ष्मी की पुजा का शुभ मुहूर्त शाम 5:57 मिनट से 7:53 मिनट तक रहेगा और प्रदोषकाल में मुहूर्त शाम 5:27 मिनट से 8:06 मिनट तक रहेगा और वृषभ काल में शाम 5:57 मिनट से 7:53 मिनट तक रहेगा।

अमावस्या तिथि आरंभ

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अमावस्या तिथि का आरंभ 6 नवंबर को रात 10:27 मिनट से प्रारम्भ होकर 7 नवंबर को रात 9:31 मिनट तक रहेगा।

दीपावली पूजन सामग्री

दीपावली पूजन सामग्री

दीपावली के पूजन के लिए रोली, चावल, लौंग, इलायची, धूप, कपूर, मेवे, खील, बताशे, चौकी, कलश, फूलों की माला, घी या तेल से भरे हुए दीपक, पान-सुपारी, कलावा, नारियल, गंगाजल, फल, फूल, मिठाई, दूर्वा, चंदन, घी, शंख, लक्ष्मी-गणेश की मूर्ति, थाली, चांदी का सिक्का, 11 दिए इत्यादि वस्तुएँ आप अपने पूजन सामग्री में शामिल करे, ऐसा करने से देवी माँ लक्ष्मी आपसे प्रसन्न होगी और पूरे साल अपनी कृपा दृष्टि आपके ऊपर बनाए रखेंगी। दरअसल ये दीपावली पूजन सामग्री देवी माँ लक्ष्मी को अत्यंत प्रिय हैं और यदि आप इस दीपावली अपने पूजन सामग्री में शामिल करते हैं तो आपके इस भक्ति और समपर्ण से माँ लक्ष्मी आपसे प्रसन्न होगी।

यह भी पढ़ें :