इस बार दीवाली पर बाजारों में नहीं बिकेंगी ये चीजें, मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला

दीवाली के दिनों में बाजार में बहुत सारे भिन्न-भिन्न प्रकार के चाईनीज सामान देखने को मिलते हैं और लोग उनकी तरफ आकर्षित होकर उन्हें खरीदने में कोई कसर नहीं छोड़ते। आज के इस बदलते मॉडर्न जमाने में हमने अपने त्योहारों को मनाने का ढंग भी बदल दिया है या यह कहें कि हम बहुत आलसी होते जा रहे हैं क्योंकि जहां पहले दीवाली पर बहुत सारे दीपक लगाकर हम अपना घर रोशन करते थे अब उनकी जगह चाइनीज़ लड़ियों से ही काम चला लेते हैं। बाजार में आसानी से मिलने वाली इन चाईनीज लड़ियों ने हमारे दीपक की रोशनी को कम कर दिया है। हर साल लोगों को शपथ दिलाई जाती है कि इस दीवाली चाईनीज चीजों का बहिष्कार करना है लेकिन उसका ज्यादा असर देखने को नहीं मिलता।

इस दीवाली चाइनीज लाइटिंग और इलेक्ट्रिक चीजें नहीं दिखेंगी :

हालांकि बीते कुछ सालों में लोग स्वदेशी चीजों के प्रति काफी जागरूक हुए हैं और चीनी सामान की बिक्री में पहले के मुकाबले गिरावट आई है जो कि हमारे लिए अच्छी खबर है। इस बार भी बाजार में कुछ ऐसा ही नजर आ रहा है। दरअसल इस दीवाली भारतीय बाजार में चाइनीज लाइटिंग और इलेक्ट्रिक चीजें कम ही दिखाई पड़ रही हैं। इसके अलावा सजावटी सामान की दुकानों से भी चाईनीज सामान गायब है। दुकानदार भी चाईनीज माल बेचने में ज्यादा दिलचस्पी नहीं दिखा रहे, उनका कहना है कि ग्राहक अब चाईनीज वस्तुएं खरीदने में पहले जैसी रुचि नहीं दिखा रहे। रिपोर्ट्स के मुताबिक इस बार चाईनीज माल बहुत कम मात्रा में हमारे देश में आया है जिससे चीन को काफी नुकसान हो रहा है और भारत में चीनी बाजार कुछ हद तक सिमटना हुआ प्रतित हो रहा है।

भारतीय बाजार में नहीं पहुंच रहा चाईनीज सामान :

इस साल चाईनीज सामान के भारतीय बाजारों में नहीं दिखने का बड़ा कारण इम्पोर्ट टैरिफ में हुई दोगुनी बढ़ोतरी को बताया जा रहा है साथ ही कंसाइनमेंट क्लियरंस में देरी भी इसका एक मुख्य कारण हैं। इसके अलावा चाईनीज सामान का बहिष्कार करके देशी चीजों के प्रयोग करने जैसी मुहिम चलाकर लोगों को जागरूक किया जा रहा है ताकि चाईनीज माल को भारतीय बाजारों से साफ किया जा सके। ये बात तो सभी जानते हैं कि चीन की अर्थव्यवस्था में भारतीय बाजार का बहुत बड़ा रोल है ऐसे में अगर चीनी सामान की बिक्री में गिरावट आती है तो सीधे-सीधे चीन की अर्थव्यवस्था पर भी इसका व्यापक असर देखने को मिलेगा। कुल मिलाकर यह कहा जा सकता है कि यह दीवाली चीन के लिए कुछ ज्यादा फायदेमंद नहीं रहने वाली।

चाईनीज सामान के दामों में हुई वृद्धि :

बता दें कि इस बार चीनी सामान की कीमतों में भी बढ़ोत्तरी हुई है। क्योंकि मोदी सरकार ने इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ा दी है। सरकार द्वारा इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ाने के फैसले से चीन पर बड़ा असर पड़ा है। भारतीय सरकार का यह फैसला चीन के लिए बहुत बड़ा झटका हैं। काउंटरवेलिंग ड्यूटी, सेस और अन्य शुल्कों के साथ इम्पोर्ट कॉस्ट भी लगभग दोगुनी बढ़ा है इससे मेक इन इंडिया को भी बढ़ावा मिलेगा चीन पहले से ही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा शुरू की गई ट्रेड वार से परेशान हैं जिसमें अमेरिका ने 200 अरब डॉलर के इंपोर्ट पर टैरिफ लगाने का ऐलान किया था।

ये भी पढ़ें : दीवाली स्पेशल: घर पर ही बनाएं बाजार जैसा मिल्क-केक (संपूर्ण विधि)