नेट बैंकिंग का प्रयोग करते हैं तो हैकर्स से बचने की 7 टिप्स जान लें,सुरक्षित रहेगा आपका पैसा

आजकल सब कुछ ऑनलाइन हो गया है लेकिन एक समय वो भी था जब लोगों को पैसे निकलवाने या जमा करवाने के लिए बैंक जाना पड़ता था और घंटो तक लंबी लाइन में खड़े होने के बाद उनका नंबर आता था परंतु आज इंटरनेट और स्मार्टफोन के जरिए बैंक खुद आपके पास आ गया है हालांकि ऐसा नहीं है कि अब लोगों ने बिल्कुल ही बैंक जाना बंद कर दिया है परंतु पहले की तुलना में अब बहुत कम लोग ही बैंक जाते हैं। ज्यादातर लोग ऑनलाइन नेट बैंकिंग से ही अपनी ट्रांजैक्शन करते हैं। नेट बैंकिंग से ट्रांजैक्शन करना जहां एक तरफ लोगों के लिए बिल्कुल आसान हो गया है वहीं दूसरी तरफ ऑनलाइन फ्रॉड भी बढ़ गया है। दरअसल कई बार हैकर्स हमारी कुछ गलतियों का फायदा उठाकर हमारे बैंक से सारा पैसा निकाल लेते हैं अगर हम कुछ बातों का ध्यान रखें तो इन हैकर्स से बचा जा सकता है। आज हम आपको सुरक्षित नेट बैंकिंग के लिए कुछ टिप्स दे रहे हैं।

1 हमारे देश में लगभग सभी बैंक अपने ग्राहकों को नेट बैंकिंग की सुविधा मुहैया कराते है। जिस तरह आपका फेसबुक और ट्विटर का पासवर्ड होता है उसी तरह नेट बैंकिंग का भी पासवर्ड होता है जिसको हमें किसी से भी शेयर नहीं करना चाहिए। समय-समय पर अपने पासवर्ड को बदलते रहना अच्छा होता है। जितना हो सके अपने पासवर्ड को अपने दिमाग में याद रखें या फिर किसी डायरी में लिखकर रखें कभी भी अपने नेट बैंकिंग के पासवर्ड को ऑनलाइन सेव करने की गलती ना करें।

2 जब भी आप नेट बैंकिंग से कोई ट्रांजैक्शन करें तो अपने पर्सनल फोन या कंप्यूटर का ही प्रयोग करें कभी भी सार्वजनिक कंप्यूटर का यूज ना करें और ना ही किसी दोस्त का फोन मांग कर अपने पासवर्ड से लॉग इन करें क्योंकि सार्वजनिक इंटरनेट कैफे में आपकी ब्राउजिंग हिस्ट्री व कैशे सेव हो जाते हैं साथ ही कई बार आपका पासवर्ड भी सेव हो जाता है इसलिए या तो किसी भी सार्वजनिक जगह पर नेट बैंकिंग का इस्तेमाल बिल्कुल ना करें या फिर अपनी ब्राउज़िंग हिस्ट्री और पासवर्ड को क्लियर कर दे। इसके अलावा अपना पासवर्ड डालते समय हमेशा ऑनस्क्रीन कीबोर्ड का ही इस्तेमाल करें ऐसा करने से आपका पासवर्ड चोरी नहीं होगा।

3 बैंक का कोई भी कर्मचारी आपसे फोन पर आपके एटीएम पिन, कस्टमर आईडी, नेट बैंकिंग का पासवर्ड या फिर कोई अन्य निजी जानकारी के बारे में नहीं पूछता है अगर आपके पास कोई ऐसा कॉल या एसएमएस आता है तो उन्हें कभी भी अपनी निजी जानकारियां ना दे। यह फ्रॉड कॉल होते हैं। बैंक खुद इनके बारे में अपने कस्टमर्स को समय समय पर सचेत करता रहता है।

4 आजकल इंटरनेट पर फ्रॉड के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं इसलिए आप को बहुत ध्यान देने की जरूरत है जब कभी भी आप नेट बैंकिंग के लिए लॉगइन करें तो यह जांच लें कि वह वेबसाइट बैंक की ऑफिशियल वेबसाइट है या नहीं। हमेशा बैंक की ऑफिसियल पेज से ही लॉगइन करना चाहिए क्योंकि बहुत से लोग आपका पासवर्ड चुराने के लिए सेम टू सेम बैंक जैसी दिखने वाली वेबसाइट तैयार कर लेते हैं इस को पहचानने के लिए आप उस वेबसाइट के यूआरएल पर थोड़ा गौर करें अगर यूआरएल की शुरुआत में आपको https:// लिखा मिले तभी उस वेबसाइट पर लॉगिन करें।

5 कंप्यूटर में वायरस का आ जाना आम बात है इसलिए किसी भी ऐसे कंप्यूटर से नेट बैंकिंग का इस्तेमाल ना करें जिसमें वायरस हो। हमेशा अपने कंप्यूटर में अच्छे एंटीवायरस का सॉफ्टवेयर रखें जो वायरस से आपके डेटा को सुरक्षित रख सके।

6 बहुत से फर्जी लोग आपकी ईमेल आईडी पर कोई लुभावना ऑफर देकर बैंक के जैसे दिखने वाला लिंक भेजते हैं और आपको लॉग इन करने के लिए कहते हैं अगर आप इन के द्वारा भेजे गए लिंक से लॉगइन करते हैं तो आपका पासवर्ड उनके पास चला जाता है यह फिशिंग कहलाता है जिसके जरिए वह आपके अकाउंट से सारे पैसे साफ कर लेते हैं इसलिए इस बात का ध्यान रखें कि कभी भी किसी के द्वारा भेजे गए गलत लिंक पर क्लिक ना करें।

7 कभी भी किसी ऑनलाइन शॉपिंग साइट पर अपने डेबिट और क्रेडिट कार्ड का नंबर, उसकी एक्सपायरी डेट तथा CVV सेव करके ना रखें। अक्सर कई बार लोग ऑनलाइन शॉपिंग करते समय बार बार अपने कार्ड की डिटेल डालने में आलस्य महसूस करते हैं इसलिए वो अपनी सभी डिटेल उस साइट पर सेव कर देते हैं ताकि अगली बार शॉपिंग करते समय दोबारा से अपने डेबिट कार्ड की डिटेल ना डालनी पड़े लेकिन इससे आपका बड़ा नुकसान हो सकता है इसलिए इन छोटी-छोटी चीजों में बहुत सावधानी बरतें।

अगर आप हमारे द्वारा बताई गई इन सभी टिप्स को फॉलो करेंगे तो कभी भी आपके साथ कोई फ्रॉड नहीं होगा और आपका नेट बैंकिंग का पासवर्ड हमेशा सुरक्षित रहेगा। उम्मीद करते हैं कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें ताकि वह भी जान सके कि इंटरनेट की दुनिया में सुरक्षित तरीके से नेट बैंकिंग का इस्तेमाल कैसे करते हैं।