गर्भवती महिलाओं के लिए रामबाण है कैल्शियम से भरपूर ये 4 चीजें, जानिए क्यों है ज़रूरी?

कैल्शियम हड्डियों के लिए बहुत ही जरूरी है। ये एक प्रकार का मिनरल्स ही है। जो कई खाद्य पदार्थों में पाया जाता है। ये किसी भी व्यक्ति के लिए बहुत ही जरूरी पोषक तत्व है। ये शरीर के हड्डियों को मजबूत करने के लिए जरूरी तो है ही साथ ही ये इसलिए भी जरूरी है ताकि शरीर का सही वजन बना रहे। शरीर में कैल्शियम  की कमी से जोड़ों और हड्डियों में दर्द होता है। इसके लिए जरूरी है कि भोजन में सही मात्रा मे कैल्शियम को शामिल किया जाए।

खासकर  30 वर्ष की उम्र की महिलाओं और प्रेग्नेंट महिलाओं को अपने भोजन में कैल्शियम की सही मात्रा अपने भोजन में जरूर शामिल करना चाहिए। क्योंकि जिंदगी के इस पड़ाव में हड्डियों के विकास की गति धीमी हो जाती है।  इस उम्र में शरीर में कई तरह के बदलाव भी आते हैं। इसलिए खाने पीने में विशेष ध्यान देना चाहिए ताकि स्वस्थ रह सकें। डाइट में जरूरी है कि कैल्शियम, मिनरल्स और और आयरन की सही मात्रा उपलब्ध हो।

हड्डियों के लिए कैल्शियम को एक जरूरी मिनरल्स माना गया है। अगर आपकी हड्डियां बहुत ज्यादा कमजोर हो जाती हैं तो आपको कैल्शियम युक्त आहार के अलावा कैल्शियम का सप्लीमेंट लेना भी जरूरी है। एक उम्र के बाद महिलाओं में कमजोरी आनी शूरू हो जाती है महिलआओं को अक्सर कमर में दर्द और गाठिया जैसी बीमारियों को झेलना पड़ सकता है। ये स्थिति 30 की उम्र पार कर चुकी किसी भी महिला के लिए हो सकता है। तो आज हम आपको बताएंगे कि वे कौन से खाद्य पदार्थ हैं जिन्हें खाकर आप कैल्शियम की कमी से दूर रह सकते हैं।

कैल्शियम युक्त आहार का सेवन करें- कैल्शियम युक्त आहार में मुख्य रूप अंडे, हरी सब्जियां, ड्राई फ्रूट्स, फल और डेयरी प्रोडक्ट आदि आते हैं। ये सभी शरीर में कैल्शियम की कमी को दूर कर सकते हैं। महिलाओं को अपने आहार में विशेष ध्यान देना चाहिए।

  • सोयाबीन- वैसे तो सोयाबीन खाने में  बहुत स्वादिष्ट नहीं होता है। लेकिन सोयाबीन या सोया मिल्क आपको भरपूर कैल्शियम देता है। इसका प्रयोग कैल्शियम की पूर्ति के लिए तो किया ही जाता है साथ ही अगर आप मोटापे का शिकार हैंं तो वजन कम करने के लिए भी इसका प्रयोग कर सकते हैं। सोयाबीन से कई प्रकार के बीमारी भी दूर होते हैं। इसे डेली रूटीन में सब्जी बनाकर उपयोग कर सकते हैं।
  • भिंडी- भिंडी बहुत ही आसानी से प्राप्त हो जाने वाली एक सब्जी है। इसके सेवन से कई प्रकार के पोषक तत्वों की पूर्ति की जा सकती है। ये कैल्शियम का एक अच्छा स्रोत है। भिंडी की सब्जी स्वादिष्ट भी होती है। लेकिन भिंडी तभी तक कैल्सियम का सही स्रोत है जब इसे सही तरीके से पकाया जाए। इसको सही तरीके से पकाने पर ही कैल्शियम मिलता है।
  • संतरा- संतरा कैल्शियम के सबसे अच्छे स्रोतों में से एक है। इसे आप फल के रूप में खा सकते हैं या चाहें तो जूस आदि के रूप में भी इसका प्रयोग कर सकते हैं। संतरा को कभी कभी सलाद के रूप में यूज किया जाता है।
  • पालक- पालक में कई प्रकार के औषधिय गुण उपलब्ध होते हैं। ये कैल्शियम का अच्छा स्रोत है। इसका प्रयोग सलाद में, सब्जी बनाकर नियमित करने से कई प्रकार के स्वास्थय परेशानियों से छुटकारा मिल सकता है।

कैल्शियम के अलावा अन्य पोषक तत्व भी जरूरी है- शरीर के लिए जितना जरूरी कैल्शियम है उतना ही अन्य पोषक तत्व भी। कैल्शियम के अलावा मिनरल्स, प्रोटीन, आयरन, फाइबर बहुत ही जरूरी है। इससके अलावा दिन में 7 से 8 गिलास पानी का सेवन भी बहुत सी दिक्कतों को दूर कर सकता है।