रहना चाहते हैं फिट तो अपनी डाइट में ज़रूर शामिल करें ये पोषक तत्व, जिंदगी भर नहीं होंगे बीमार

शरीर को सही पोषक तत्वों का मिलना बहुत ही जरूरी है। अगर इसकी कमी हो जाए तो इसका असर आपके शारीरिक विकास पर पड़ सकता है। खासकर बच्चों को पोषक तत्वों की सही मात्रा देनी जरूरी है। नहीं तो उनके विकास में बाधा पहुंच सकती है। ये बात सच है कि शाकाहारियों की अपेक्षा मांसाहारियों के भोजन में पोषक तत्वों की मात्रा अधिक पाई जाती है। और मांस से शरीर को आवश्यक पोषक तत्वों की पूर्ति आसानी से हो जाती है।

वहीं शाकाहारी लोग पूरी तरह से शुद्ध भोजन का सेवन तो जरूर करते हैं लेकिन उनका पोषण तत्व मांसाहारी लोगों से कहीं न कहीं कम होता है। लेकिन ये बात बिल्कुल गलत है कि जो लोग मांस नहीं खाते उनका शारीरिक विकास ठीक से नहीं होता है। चाहे मांसाहारी हों या शाकाहारी हमेशा भोजन को सही अनुपात और सही तरीके से खाया जाना चाहिए। जिससे कि शरीर को पूरा पूरा पोषक तत्व मिल पाए। तो आइये जानते हैं कि शाकाहारी लोग किन किन भोजन का सेवन करके पूरा पोषण तत्व ले सकते हैं।

विटामिन डी- हमारे शरीर के लिए विटामिन बहुत ही जरूरी है। अक्सर हड्डियों और मांसपेशियों में दर्द की वजह विटामिन डी में कमी रहती है। विटामिन डी की कमी शहर में रहने वाले लोगों में अधिक होती है। शरीर की इम्यूनिटी सिस्टम को बढ़ाने के लिए भी विटामिन डी बहुत ही आवश्यक है। इसके अलावा कई तरह के इंफेक्शन से बचने के लिए भी जरूरी माना जाता है। और कैंसर से बचाव के लिए भी विटामिन डी बहुत ही जरूरी है।

विटामिन डी
विटामिन डी

विटामिन डी के स्त्रोत- विटामिन डी के स्त्रोत की बात की जाए तो ड्राई फ्रूट्स, दूध और दूध से बनी चीजें एवं कुछ अन्य सब्जियों में भी विटामिन डी पाया जाता है। विटामिन डी का सबसे अच्छा स्त्रोत सूरज की रोशनी को भी माना जाता है।

विटामिन बी-12- विटामिन बी-12 की अगर सही मात्रा में शरीर को मिले तो भूलने की बीमारी, एनीमिया या नर्व सिस्टम का कमजोर होने जैसी कोई भी बीमारी नहीं होगी। विटामिन बी-12 युवाओं को रोज 2.4 माइक्रोग्राम, गर्भवती महिलाओं को 2.5 माइक्रोग्राम तक विटामिन बी-12 का सेवन करना चाहिए।

विटामिन बी-12
विटामिन बी-12

विटामिन बी-12 के स्त्रोत- विटामिन बी-12 के लिए दही, फोर्टिफाइड अनाज, ड्राई फ्रूट्स, नट्स, अंडे, पनीर आदि खा सकते हैं। इसके सेवन से शरीर में विटामिन बी-12 की कमी नहीं होगी।

क्यों जरूरी है प्रोटीन का पोषण- शरीर के सही ढंग से काम करने के लिए प्रोटीन की आवश्यकता होती है। प्रोटीन हमारे शरीर के लिए बेहद ही जरूरी है। ये शरीर में कोशिकाओं के निर्माण में अहम भूमिका निभाता है। शरीर में अगर प्रोटीन की भूमिका की बात करें तो इसका काम होता है शरीर में टूट-फूट की मरम्मत करना। प्रोटीन शरीर के निर्माण के लिए बहुत ही जरूरी है साथ ही ये पाचक रसों का भी निर्माण करता है।

प्रोटीन दो प्रकार के होते हैं । एक वो जो मांसाहार से प्राप्त किया जा सकता है और दूसरा वो जो फलों आदि से प्राप्त किया जाता है। साबूत अनाज, बींस, साबूत दालें, दलहन, मटर आदि भी प्रोटीन के अच्छे स्त्रोत हैं।

यह भी पढ़ें