यूपी कैबिनेट मंत्री का बड़ा बयान ‘चाहे जो हो जाए बीजेपी की हार 2019 में है तय’

आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों के बीच वाद विवाद का माहौल बढ़ता जा रहा है। जहां एक तरफ बीजेपी 2019 के चुनाव में अपनी वापसी  का दावा कर रही है तो वहीं विपक्ष इसे सिर्फ ख्याली पुलाव बता रही है। इस दौरानी बीजेपी सरकार की मुश्किलें पहले के मुकाबले बढ़ती जा रही है। अभी तक बीजेपी की हार का दावा सिर्फ विपक्ष कर रही थी, लेकिन अब उनके ही सहयोगी बड़ा बयान देते हुए नजर आ रहे हैं। जी हां, योगी के मंत्री ने बीजेपी सरकार को लेकर बड़ा बयान दिया है, जिसकी वजह से पार्टी हाईकमान में टेंशन की लहर देखने को मिल रही है। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

योगी कैबिनेट के मंत्री राजभर ने एक बार फिर से बीजेपी पर निशाना साधा है। यह पहला मौका नहीं है, जब इन्होने बीजेपी पर निशाना साधा है, बल्कि इससे पहले कई बार ये योगी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए नज़र आ चुके हैं। गौरतलब है कि बीजेपी की पुरानी सभी सहयोगी पार्टियां उससे नाराज़ चल रही है, जिसकी वजह से आगामी लोकसभा चुनाव में बीजेपी की मुश्किलें बढ़ती हुई नज़र आ रही है। बताते चलें कि सुहेलदेव पार्टी के अध्यक्ष यूपी से बीजेपी के सहयोगी है, जोकि बीजेपी के लिए गेमचेंजर साबित हो सकते हैं। यही वजह है कि बीजेपी इन पर कार्रवाई नहीं करती है, क्योंकि आगामी चुनाव में बीजेपी को सहयोगी पार्टियों की सख्त ज़रूरत है।

राजभर ने शनिवार को आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर बड़ी भविष्यवाणी करते हुए बोलें कि किसी भी हालत में बीजेपी आगामी लोकसभा चुनाव नहीं जीत सकती है, जिसकी वजह से अब पार्टी हाईकमान राजभर को मनाने में लगी हुई है। राजभर का बयान ऐसे समय पर आया, जब कुछ ही समय पहले उन्होंने बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ बैठक हुई। इस बयान पर राजनीतिक विशेषज्ञों की माने तो बीजेपी की सहयोगी पार्टियां उससे पूरी तरह से नाराज़ है, ऐसे में अब बीजेपी के सामने अपनी सहयोगी पार्टियों को मनाने के अलावा दूसरा कोई रास्ता नज़र नहीं आ रहा है।

याद दिला दें कि जहां एक तरफ टीडीपी ने पहले ही बीजेपी से अपना दामन छुड़ा लिया है तो वहीं दूसरी तरफ शिवसेना ने आगामी चुनाव अकेले लड़ने का फैसला किया है। एक के बाद एक सहयोगी पार्टियों का नाराज़ होना बीजेपी के लिए किसी भी नज़रिये से अच्छी खबर नहीं मानी जा सकती है। बहरहाल, अब देखने वाली बात यह होगी कि आगामी चुनाव होने तक बीजेपी कैसे अपनी सहयोगी पार्टियों को मनाने में सफल होती है।

error: Content is protected !!