स्वास्थ्य

आर्थराइटिस के लक्षण | आर्थराइटिस का इलाज और दवा, ऐसे करें आर्थराइटिस से बचाव

न्यूजट्रेंड हैल्थ डेस्क : आर्थराइटिस ( arthritis ) यानी की गठिया, यह एक ऐसी बीमारी है जो तकरीबन हर घर में परिवार के एक या दो सदस्यों को अपने चपेट में लिए हुए है। आप अगर ध्यान देंगे तो देखेंगे की आपके या फिर फिर आपके जान-पहचान या फिर पास-पड़ोस के परिवार में किसी ना किसी सदस्य को जोड़ों में दर्द की समस्या जरूर रहती है। बताना चाहेंगे की अगर आप के परिवार में या फिर आप खुद इस समस्या से परेशान हैं तो आपको अभी से सावधान हो जाने की आवश्यकता है क्योंकि यदि आप समय रहते इस समस्या के प्रति सतर्क नही होते हैं तो आगे चलकर आपको इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं। आमतौर पर देखा गया है की इस समस्या से ज्यादातर महिला ही प्रभावित होती हैं।  आइये जानते हैं आर्थराइटिस बिमारी के बारे में और क्या है आर्थराइटिस का इलाज

गंभीर बीमारी बनती जा रही है आर्थराइटिस ( arthritis )

एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में तकरीबन हर तीन में से एक महिला आर्थराइटिस  ( arthritis ) से पीड़ित है, बता दें कि करीब 20 प्रतिशत 55 वर्ष से अधिक उम्र वाले लोग और 40 पतिशत से ज्यादा 65 वर्ष की उम्र वाले लोगों के लिए जोड़ने घुटनों में दर्द की समस्या एक आम बात हो गई है। ऐसा देखा जाता है कि 40 से 45 वर्ष के के लोग इस समस्या की चपेट में बहुत तेजी से आते हैं हालांकि आपको यह भी बता दे कि आप किसी एक उम्र में होने वाली बीमारी नहीं है।

तकरीबन 15 प्रतिशत युवा भी आज इस बीमारी arthritis  से परेशान हैं जो ज्यादातर किसी दुर्घटना या फिर जॉइंट में पेन होने की वजह से परेशान है। हालांकि आपको बता दें कि अगर आर्थराइटिस का सही से इलाज ना किया जाए तो सामान्य सी समझ आने वाली बीमारी बहुत ही गंभीर रूप ले लेती है जिसके बाद आपको चल पाने, सीढ़ी चढ़ने आदि में बहुत ही ज्यादा समस्या उठानी पड़ सकती है। ऐसा भी बताया जा रहा है की वर्ष 2019 तक जीतने भी लोग आर्थराइटिस से पीड़ित हैं उनकी संख्या डायबीटीज के मरीजों से भी ज्यादा जा सकती है। ऐसे में यह बहुत ही आवश्यक है की आर्थराइटिस के मरीजों को कुछ सावधानियां बरतकर इस समस्या से निजात पा सकते हैं।

आर्थराइटिस ( arthritis )

आर्थराइटिस  ( arthritis ) से बचाव के लिए जरूरी है ये सावधानियाँ

आर्थराइटिस का इलाज ( arthritis ka ilaj )

शरीर को रखें हाइड्रेट

बता दें की अगर आप खुद को आर्थराइटिस जैसी समस्या से खुद को बचा कर रखना है तो यह बहुत ही आवश्यक है की जितना हो सके खूब पानी पिएं। आमतौर पर लोग ठंड के मौसम में पानी कम पीते हैं, जिसकी वजह से डिहाइड्रेशन की समस्या हो जाती है जिससे आर्थराइटिस का दर्द बढ़ सकता है। ऐसे में यह बहुत ही आवश्यक है की अपने शरीर को हाइड्रेट रखें।

वजन संतुलित रहे

आमतौर पर लोग सर्दियों के मौसम में थोड़ा आलस करते है और ऐसे में एक्सर्साइज कम हो जाती है, जिससे आपका वजन भी बढ्ने लगता है और शरीर में कई तरह की दिक्कतें भी आने लगती है। आपको बता दें की ज्यादा वजन होने से जॉइंट पेन को बढ़ता है। इसलिए यह बहुत ही आवश्यक है की अपने वेट को कंट्रोल करने की कोशिश करें। ऐसे मैं आपको बहुत ज्यादा एक्सर्साइज ना करके आप वॉक आदि भी कर सकते है या फिर कोई हल्की एक्सर्साइज जिसके बारे में अपने ट्राइनर से सलाह ले कर कर सकते हैं, ऐसा काफी फायदेमंद होता है।

आर्थराइटिस का इलाज

हेल्दी डायट लें ( आर्थराइटिस का इलाज)

इसके अलावा आपको यह भी बता दें की हमे हमेशा हेल्दी और बैलेंस्ड डायट का सेवन करना चाहिए। कई बार ऐसा होता है की काम के दबाव या फिर हड़बड़ी में हम कुछ इस तरह के फूड आइटम्स का सेवन करते हैं जिसमे ओमेगा 3 फैटी ऐसिड बहुत ज्यादा मात्रा में होता है, उनको अवॉइड करें। यह बेहतर होगा की आप ऐसी चीजें लें, जिनमें विटमिन के, विटमिन सी वगैरह की मात्रा ज्यादा हो। और इस बिमारी आर्थराइटिस से दूर रहें

Related Articles

Close