ईशान किशन का जीवन परिचय और उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण बातें

भारत का राष्ट्रीय खेल हॉकी है लेकिन यहां पर क्रिकेट के फैन सबसे ज्यादा है, पहले बात करें तो क्रिकेटर के बारे में लोग उतना नहीं जान पाते थे लेकिन वही आज के समय में क्रिकेटर्स का भी जलवा सितारों की तरह हो गया है लोग उनके बारे में भी जानना चाहते हैं और तो और उनकी हर एक्टिविटी को फॉलो करना चाहते हैं यही कारण है कि आप देख सकते होंगे इस सोशल मीडिया पर जिस तरह लोग बॉलीवुड सितारे को फॉलो करते हैं ठीक उसी तरह अब क्रिकेटर्स को भी फॉलो करते हैं और उनकी पर्सनल लाइफ से जुड़ी हर एक जानकारी को जानना चाहते हैं। आज हम आपको एक ऐसे क्रिकेटर ईशान किशन (Ishan Kishan) के बारे में बताने जा रहे हैं जिनके बारे में आप शायद ही जानते होंगे लेकिन आज के समय में वह इतना मशहूर हो चुके हैं कि हर कोई उन्हें जानने लगा है। जिन्होंने अपने प्रतिभा का लोहा मनवाना बचपन से ही शुरू कर दिया था और आज वह खेल जगत के एक चमकते सितारे हैं.

ईशान किशन ने अपने प्रतिभा का लोहा मनवाना बचपन से ही शुरू कर दिया था और आज वह खेल जगत के एक चमकते सितारे हैं. तो आइए बात करते हैं भारतीय टीम के युवा खिलाड़ी ईशान किशन (Ishan Kishan) का जीवन परिचय के बारे में।

Ishan Kishan

ईशान किशन का जीवन परिचय (Ishan Kishan Birth and Family)

18 जुलाई 1998 को बिहार के पटना में ईशान किशन का जन्म हुआ, ईशान किशन के पिता का नाम प्रणव पाण्डेय है जो की एक बिल्डर है. ईशान किशन के एक भाई भी हैं जो क्रिकेट को लेकर बहुत सपोर्ट करते हैं. इशान का कहना है की भाई का उन के खेल के प्रति बहुत ही अच्छा साथ था, जिस से वह जीवन में आगे बढ़ सके बिहार में जन्मे ईशान किशन (Ishan Kishan) के जीवन की बात करें तो बता दें की इन्हे बचपन से ही क्रिकेट खेलने का बहुत शोक था, बचपन में जब भी उन्हे पढ़ाई से मौका मिलता था वो बस निकल पड़ते थे क्रिकेट के मैदान में। बचपन से क्रिकेट के खेल में माहिर ईशान की प्रतिभा को उनके भाई ने देखा और उन्हें क्रिकेट खेलने की सलाह दी।

अपने भाई की सलाह के बाद ईशान ने क्रिकेट क्लब को ज्वाइन किया और क्रिकेट खेलना शुरू किया। बताया जाता है की बिहार क्रिकेट एसोसिएशन और बीसीसीआई के बीच पंजीकरण के किसी मुद्दे की वजह से ईशान को बिहार की तरफ से खेलने का मौका नही मिल पाया तब उन्होने अपने एक वरिष्ठ खिलाड़ी मित्र की सलाह पर पड़ोसी राज्य झारखंड के लिए खेलना शुरू कर दिया और यहीं से शुरू हो गयी उनकी भारतीय राष्ट्रीय टीम का सफर। बता दें की ईशान किशन (Ishan Kishan) पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और पूर्व ऑस्ट्रेलियाई विकेटकीपर बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट को अपना आइडियल मानते हैं। आपको बता दें की आज ईशान किशन वर्तमान क्रिकेट के पटल पर छाए एक ऐसे खिलाड़ी हैं जिनकी प्रतिभा का जौहर बचपन से ही दिखाना शुरू हो गया था।

Ishan Kishan

क्या क्या हैं ईशान किशन की उपलब्धियां (Achievements of Ishan Kishan)

ईशान किशन (Ishan Kishan) के आईपीएल करियर एवं प्रथम श्रेणी क्रिकेट करियर की शुरुआत (Ishan kishan carrier )
झारखंड की तरफ से रणजी ट्राफी खेलते हुए ईशान किशन ने अपने क्रिकेट कैरियर शुरू किया और 6 नवंबर 2016 को, ईशान ने 2016-17 रणजी ट्रॉफी में दिल्ली के खिलाफ 273 रन बनाए। आपको बता दें की झारखंड की तरफ से रणजी ट्राफी में किसी खिलाड़ी द्वारा बनाया गया ये अब तक का उच्चतम स्कोर है। उनके शानदार प्रदर्शन को देखते हुए 2016 में होने वाले अंडर-19 विश्वकप के लिए बाद में 22 दिसम्बर 2015 को इशान किशन को भारतीय टीम का कप्तान बनाया गया, बता दें की अपने आइडियल खिलाड़ी तथा पूर्व भारतीय  आज वह से प्रेरित ईशान किशन एक अच्छे विकेटकीपर बल्लेबाज हैं।

इसके अलावा आपको यह भी बता दें की ईशान किशन (Ishan Kishan) के आईपीएल कैरियर की शुरुआत वर्ष 2016 में सुरेश रैना की कप्तानी वाली टीम गुजरात लायंस से हुई। इस टीम के लिए ईशान किशन बतोर ओपेंनिंग बल्लेबाज़ के रूप में उतरते थे। यहाँ पर भी उन्होने अपने शानदार प्रदर्शन को जारी रखा और 2018 आईपीएल की नीलामी में उन्हे मुंबई इंडियंस ने 6.2 करोड़ रुपए में खरीदा गया था जो की उनके लिए बहुत ही गर्व की बात थी। वैसे बता दें की ये तो अभी इस खिलाड़ी की शुरुआत है क्योंकि इसके शानदार प्रदर्शन को देखते हुए लगता है की इसे अभी बहुत ही लंबा सफर तय करना है।