त्यौहारों के मौसम में न खाएं ज्यादा मिठाई, हो सकती है ये 9 बड़ी समस्याएं

न्यूज़ट्रेन्ड वेब डेस्क: त्यौहार हो और मीठाई न हो, ये तो हो ही नहीं सकता। यूं तो मिठाई का नाम सुनते ही सबके मुंह में पानी आ जाता है। और हो भी क्यों न, इतना स्वादिष्ट जो होता है। मीठे का शौक लगभग हर किसी को होता है। कुछ लोगों को तो मीठा खाने की बहुत ही तीव्र इच्छा होती है। वो पूरे दिन भर में एक या दो बार मीठा जरूर खा लेते होंगे।

एक बार मुंह में मीठा चला जाता है तो उसकी और इच्छा होने लगती है, और इस तरह से आपको मीठे की लत लग जाती है। लेकिन ये स्वाद में जितना बेहतर होता है। इसकी अति सेहत के लिए उतनी ही बुरी होती है। बहुत ज्यादा मीठा खाने के बहुत सारे नुकसान हैं। तो आइये जानते हैं कि अधिक मीठा खाने से शरीर को कौन कौन से नुकसान होते हैं।

मोटापा- अगर आप अधिक मीठे का सेवन करते हैं तो आप मोटापे का शिकार हो सकते हैं। मोटापा एक लगातार बढ़ती समस्या है। खासकर शहरी युवा इसके चपेट में हैं। इसकी वजह अधिक मीठे का सेवन करना है। जैसे चॉकलेट, कैंडी, कोल्डड्रिंक्स, केक आदि। मोटापा कई तरह के बीमारियों की जड़ भी है। इससे डायबिटीज, हृदय रोग, ऑर्थराइटिस, आदि प्रमुख हैं। इसलिए अगर आप एक महीने मीठे का सेवन नहीं करेंगे या एक महीने तक मीठा छोड़ देंगे तो आपको मोटापे की समस्या नहीं होगी और इसके साथ वजन भी कम हो जाएगा।

डायबिटीज- अगर आप अधिक मीठे पदार्थों का सेवन करेंगे तो खून में शुगर का स्तर बढ़ जाएगा और इससे डायबिटीज की संभावना बढ़ जाती है। डायबिटीज एक खतरनाक बीमारी है। अधिक मीठे के सेवन से इस बीमारी के खतरे बढ़ जाते हैं। इसलिए मीठे का सेवन अधिक मात्रा में न करें। कुछ दिनों के लिए मीठे का सेवन कम करके आप इसके खतरे को कम कर सकते हैं।

कोलेस्ट्राल- अधिक मीठा खाने से कोलेस्ट्राल लेवल में वृद्धि होती है। कोलेस्ट्राल बढ़ जाने से हृदय रोग होता है। इसलिए चीनी से बने पदार्थों का कम सेवन करें।

ब्लड प्रेशर- मिठाई के अधिक सेवन से ब्लड प्रेशर से संबंधित रोग होते हैं। इससे बचने के लिए भी शक्कर से बने पदार्थों का सेवन कम कर दें।

हार्ट अटैक- ये जाहिर सी बात है कि चीनी का बहुत ज्यादा सेवन हृदय रोगों के खतरे को बढ़ाता है। इसलिए जितना हो सके मिठाई को सीमित मात्रा में खाएं। अगर आपको मीठा खाने का ज्यादा मन हो तो कुछ फल वगैरह का सेवन कर लेँ।

जोड़ों का दर्द- अधिक मीठा पदार्थ के सेवन से जोड़ों में दर्द होता है। इसलिए जिन लोगों को जोड़ों में दर्द की समस्या रहती है। उन्हें मीठे चीजों का त्याग कर देना चाहिए।

प्रतिरोधक क्षमता कमजोर- मीठे के अधिक सेवन से शरीर की इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर पड़ जाती है। अगर आप मीठे का सेवन कम करने लगेंगे तो इम्यूनिटी सिस्टम बूस्ट होगी और आप कई तरह के छोटी छोटी बीमारियों से बच सकते हैं।

पाचन क्रिया कमजोर- अधिक मीठा शरीर के पाचन प्रक्रिया को प्रभावित करता है। अगर आप भी त्योहारों के मौसम में अधिक मीठा खाने के शौकिन हैं तो इस आदत को छोड़ दें। सीमित मात्रा में ही मीठाई का सेवन करें।

नींद न आना- यकीनन ज्यादा मीठा खाने से नींद न आने की परेशानी होती है। अगर आपको भी नींद न आने की समस्या है तो अपने आहार में मीठे की मात्रा को कम कर दें। इससे नींद ठीक से आएगी।