जेटली बोले – नोटबंदी का फैसला वापस नहीं होगा, देश को होगा लाभ; 22 हजार ATM देंगे 500-2000 के नोट

नयी दिल्ली वित्त मंत्री अरुण जेटली ने नोटबंदी के मुद्दे पर कहा कि बैंक कर्मचारियों के सराहनीय काम के लिए उनका शुक्रिया अदा करता हूं। बीते सात दिनों में उन्होंने करोड़ों रुपयों का लेनदेन किया है। एटीएम को युद्ध स्तर पर ठीक किया जा रहा है। बीते कुछ दिनों में हमें 4000 रुपये बदलने के फैसले के दुरुपयोग की शिकायतें मिली थीं और इसीलिए हमने इस सीमा को कम कर दिया है। साथ ही जेटली ने यह भी स्पष्ट कर दिया कि नोटबंदी का फैसला किसी भी हाल में वापस नहीं लिया जाएगा।  इससे देश को आने वाले दिनों में काफी लाभ मिलने वाले हैं। Arun Jaitley on Demonetization Decision.

 

फैसला वापस लेने का सवाल ही नहीं उठता –

नोटबंदी पर सरकार ने आज पूरी तरह स्पष्ट कर दिया कि फैसला किसी भी कीमत पर वापस नहीं होगा। वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा, “मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि आम आदमी पार्टी और तृणमूल कांग्रेस ने जो मांग की है फैसले को वापस लेने की इसका तो कोई प्रश्न ही नहीं उठता।”

कांग्रेस के नोटबंदी के फैसले को आतंकवाद से जोड़ने के सवाल पर जेटली ने कहा, “हमारी कांग्रेस से अपेक्षा थी कि वो इसका समर्थन करेंगे। ये कोई देशभक्ति नहीं है कि कालेधन के खिलाफ उठाए गए कदम को आप आतंकवाद से जोड़ दो। ये बहुत दुर्भाग्यपूर्ण और गैर-जिम्मेदाराना है। मैं इसकी निंदा करता हूं।”

 

ममता और केजरीवाल ने दिया 72 घंटे का अल्टीमेटम –

ममता बनर्जी और अरविंद केजरीवाल के नोटबंदी के फैसले को 72 घंटे में वापस लेने की मांग पर पलटवार करते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि सरकार अपने फैसले पर अडिग है। न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत के दौरान जेटली ने कहा कि सरकार ने पांच सौ व हजार के लीगल टेंडर को समाप्त करने के पीछे का उद्देश्य कालाधन को बाहर करना, देश के वित्तीय व्यवस्था को साफ-सुथरा करना है।

उन्होंने कहा कि इस फैसले से बैंकों में ज्यादा पैसा पहुंचेगा,  क्राइम मनी बाहर निकलेगा,  राजनीति में भी स्वच्छता आयेगी। खेद की बात है कि कुछ राजनीतिक दल और राज्य सरकारें इसमें बाधा पहुंच रही है।

विजय माल्या के सवाल पर उन्होंने कहा कि किसी लोन डिफॉल्टर का कर्ज माफ नहीं किया गया है। सिर्फ कर्ज को एनपीए में बदला गया है। बड़े डिफॉल्टर के लोन माफ करने के आरोप पर जेटली ने कहा, “किसी का लोन माफ नहीं किया गया है। सरकार रिकवरी की कोशिश कर रही है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.