किचन में की गई आपकी छोटी सी ये गलती पति और बच्‍चों के भाग्‍य में है बन सकती है रुकावट

कहा जाता है की वास्तुशास्त्र के कुछ नियम मानने से आएगी घर मे सुख, शांति और लक्ष्मी, वास्तुशास्त्र एक विज्ञान है। घर की दशा और दिशाओं का यह अध्ययन होता है, अगर वास्तु के कहे अनुसार पालन नही होता तो घर मे अशांति रहती है, लोग बीमार रहते हैं और उन्नति नही होती है। वास्तु के नियम अगर सही से समझे तो लाभ ही लाभ आयेगा घर मे, वास्तु में गड़बड़ी से कमाई पर भी असर पड़ता है। तो चलिये जानते हैं क्या है वास्तुशास्त्र और घर के अलग अलग हिस्सों से क्या है इसका संबंध है।

शास्त्रों में भी बताया गया है की की किसी भी घर का रसोईघर यानी की किचन सबसे ज्यादा अहम होता है, ऐसा इसलिए क्योंकि कहा जाता है किचन माँ अन्नपूर्णा का स्थान होता है, किचन वास्तुशास्त्र का एक अहम हिस्सा कहा जाता है। बिना भोजन के ईश्वर की पूजा भी नही हो सकती, किचन के वास्तु का ख्याल रखना बेहद ही जरूरी होता है। बता दें की किचन का निर्माण करते वक़्त की गयी मामूली सी भी गलतियाँ हो जाने की वजह से वास्तु में कई तरह की दिक्कतें आती हैं। यहाँ समान, पानी, स्लैब आदि सबकुछ वास्तु के नियम में आते हैं।

कबाड़ से किचन की हमेशा रहे दूरी

आपको बता दें की यह बहुत ही आवश्यक है की किचन में कभी कबाड़ नही रखना चाहिए, क्योंकि कहा जाता है की अगर किचन ही गन्दा तो वास्तु हमेशा ग़लत ही रहेगा। किचन में कभी भी पुराने टूटे फूटे बर्तन खराब हो गए समान नही रखने चाइए, अगर ये अशुभ चीज़ घर किचन में रखी रहती हैं तो घर मे कभी उन्नति नही हो सकती। किचन को साफ सुथरा रखें इसे स्टोर रूम न बनायें।

नहीं करनी चाहिए ऐसी गलतियाँ

इस बात का हमेशा ध्यान रखें की खाना कभी भी बिना नहाये नहीं खाना चाहिए, आपकोबता दें की अगर आप बगैर नहाये खाना खाते हैं तो इससे आप बीमारियों को ही घर बुलाते हैं।

किचन और बाथरूम आस पास न बनाये

बताना चाहेंगे की अगर किचन और बाथरूम दोनो ही आस पास है तो बाथरूम को ढंक कर रखें, क्योंकि यदि आप इस बात का ध्यान नही रखते है तो घर मे हमेशा अशांतिबनी रहेगी। वैसे जहां तक संभव हो कभी भी किचन और बाथरूम आस-पास ए नही होना चाहिए।

मुख्य दरवाजे के सामने ही नहीं हो किचन

इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए की कभी भी आपके घर के मुख्य द्वार के आगे तो किचन नही होना चाहिए। ऐसे किचन वास्तुशास्त्र के अनुसार सही नही माने जाते है। जिस भी घर में इस तरह से किचन का निर्माण हुआ रहता है उस घर में परिवार के सदस्यों में कभी तालमेल नही बैठ पाता। ऐसी स्थिति में घर के सदस्यों में अक्सर ही नोकझोंक की स्थिति बनी रहती है और उस घर में कभी सुख शांति नहीं रहती। बता दें की यदि आप वास्तु के इन सभी नियमों को अपनाते हैं और इसके अनुसार अपने घर और घर के किचन तथा अन्य सभी कमरों का निर्माण कराते हैं तो आपको या आपके परिवार में कभी किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं आएगी।