नेताओं के वो विवादित बयान जिन्होंने बटोंरी सूर्खियां, राजनीतिक गलियारों में मच गई थी हलचल

2019 आने वाला है और ये साल चुनाव के लिहाज से काफी खास है। 10 साल की कांग्रेस की सत्ता हिलाने वाली बीजेपी एक बार फिर मैहान फतेह करने में लगी है। चुनावी माहौल गर्म है तो जाहिर है आरोप प्रत्यारोप का दौर भी शुरु हो चुका है। खुद की उपलब्धियां गिनवाते हुए कई ऐसे मौके आए जब नेताओं ने विवादित बयान दे दिए। इसमें छोटे बड़े से लेकर कई दिग्गज नेता शामिल हैं। आपको बताते हैं ऐसे ही कुछ नेताओं के बयान।

शरद यादव-

जनता दल के पूर्व नेता शरद यादव ने एक बार वोटों की महत्ता बताते हुए विवादित बयान दे दिया था। उन्होंने कह दिया था कि वोट की इज्जत बेटी की इज्जत से ज्यादा बड़ी है। बेटी की इज्जत जाएगी तो गांव मोहल्ले की इज्जत जाएगी, लेकिन वोट की इज्जत जाएगी तो पूरे देश की इज्जत जाएगी।अगर ऐसा हो गया तो आने वाला सपना पूरा नहीं होगा।ये बयान उन्होंने पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधितक करते हुए दिया था।।

आजम खान-

सपा नेता आजम खान को अगर किंग ऑफ कॉन्ट्रोवर्सी कहा जाए तो गलत नहीं होगा। एक दो नहीं बल्कि कितने ऐसे मौके हैं जहां आजम खान ने विवादित बयान देकर सियासी गलियारों में हंगामा मचा दिया था। कन्नौज में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा था कि मुसलमान अगर खाली बैठेगा तो बच्चे ही पैदा करेगा। हिंदुओं ने मुसलमानों से ही बच्चा पैदा करना सीखा है। इतना ही नहीं एक बार उन्होंने भारतीय सेना पर विवादित बयान देते हुए कहा था कि सेना भी बलात्कार के मामलों में शामिल रहती है।

तेज प्रताप यादव-

इसी साल दूल्हा बने तेज प्रताप यादव उस वक्त गर्म हो गए थे जब उनके पिता और आरजेडी प्रमुख की सुरक्षा व्यवस्था में कटौती कर दी गई थी। उन्होंने अपनी भड़ास निकालते हुए मोदी सरकार पर विवादित बयान दे दिया था। तेज प्रतार ने कहा था कि ये तो लालू यादव के मर्डर कराने की साजिथ है। मोदी जी का खाल के बाल उधड़वा देंगे।

मणिशंकर अय्यर-

आजम खान के बाद विवादित बयान देने को लिस् में दूसरा नंबर आता है अय्यर का। अय्यर ने भी एक दो मौकों पर नहीं बल्कि कई बार विवादित बयान दिया और अपनी ही पार्टी का किरकिरी करा दी। गुजरात चुनाव के ठीक पहले उन्होंने पीएम मोदी को नीच बता दिया। उनके इस बयान से चुनामवा पारा और गर्म हो गया और कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ गईं। अय्यर ने कहा कि जो व्यक्ति लगातार अंबेडकर व नेहरू के सपने के पूरा करने की बात कह रहा है उस के बारे में गलत बात करना, मुझे तो ये आदमी नीच लगता है।

पीएम मोदी-

विवादित बयान देनें में देश के प्रधानमत्री भी पीछे नहीं हैं। राज्यसभा में उनके संबोधन के दौरान कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी किसी बात को लेकर जोर से हंस रही थीं। सभापति नायडू ने उन्हें हंसने से मना किया तो सभापति को रोकते हुए पीएम मोदी ने कहा –रेणुका जी को कुछ मत कहिए। रामायण धारावाहित बंद होनो के बाद पहली बार ऐसी हंसी सुनाई दी है। पीएम मोदी के इस बात पर पूरा सदन हंसी ठहाकों से गुंज उठा। रेणुका कुछ कह रहीं थीं, लेकिन हंसी में उनकी आवाज दब गई।