स्वास्थ्य

तुलसी के बीज का उपयोग, बढ़ाए पुरुषों की मर्दानगी और स्पर्म काउंट

तुलसी के बीज का उपयोग: तुलसी का पौधा एक धार्मिक पौदा है. इसके पत्तियों का इस्तेमाल सदियों से आयुर्वेदिक औषधि के रूप में किया जा रहा है. तुलसी के पत्ते ना केवल चाय का सवाल बढाते हैं लेकिन ये कईं तरह के रोगों को ठीक करने में भी उपयोगी साबित होते हैं. तुलसी के पत्तो से अधिक ताकत उसके बीज में होती है. तुलसे के बीज को सब्जा बीज भी कहा जाता है.

आज हम आपको तुलसी के बीज का उपयोग बताने जा रहे हैं, जिससे बहुत से लोग अनजान है. दरअसल बारिश के मौसम की शुरुआत के साथ ही कईं तरह की बीमारियाँ मनुष्यों को आ घेरती हैं. ऐसे में यदि आप सेहतमंद रेहना चाहते हैं और अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाना चाहते हैं, तो तुलसी के बीज का उपयोग आपके लिए चमत्कार साबित होगा.

गौरतलब है कि भारत देश में तुलसी के पौधे को सबसे पवित्र माना जाता है और इसकी पूजा की जाती है. आपको बता दें कि तुलसी के बीजों में एंटीकैंसर, एंटीबैक्टीरियल, एंटीवायरल, एंटीफंगल और एंटीओक्सीडैन्ट आदि जैसे गगू मौजूद रहता हैं जो मधुमेह जैसे रोगों से हमे निजात दिलाते हैं. आज हम आपको तुलसी के बीज का उपयोग बता रहे हैं जो आपको हैरत में डाल देगा.

तुलसी के बीज का उपयोग- यौन रोगों के लिए मददगार

आज के समय में इंसान की दिनचर्या काफी व्यस्त होती जा रही है. ऐसे में बहुत से पुरुष कमजोरी का शिकार हो रहे हैं. लेकिन आपको बता दें कि तुलसी के बीज का उपयोग शारीरक कमजोरी के लियी काफी फायदेमंद साबित हुआ है. इससे पुरुषो के संबंध बनाने की क्षमता बढ़ती है और नपुंसकता दूर हो जाती है. नियमित रूप से तुलसी के बाज का उपयोग पुरुशों के लिए लाभकारी सिद्ध हुआ है.

तुलसी के बीज का उपयोग- अनियमित माहवारी

लड़कियों एवं महिलाओं में मासिक धर्म एक आम समस्या है लेकिन कईं बार शारीरक एवं मानसिक कमजोरियों या फिर हार्मोन की गड़बड़ी के चलते बहुत सी लड़कियों के पीरियड्स मिस हो जाते हैं. ऐसे में तुलसी के बीज का उपयोग उनके लिए रामबाण साबित हो सकता है. दरअसल, तुलसी का बीज नियमित रूप से खाने से मासिक धर्म सही चलते रहते हैं.

तुलसी के बीज का उपयोग- शीघ्र पतन

दुनिया में ऐसे बहुत सारे मर्द है, जिन्हें सम्बन्ध बनाने के दौरान शीघ्र पतन एवं वीर्य की कमी की समस्या से जूझना पड़ता है. लेकिन यदि तुलसी के बाज का उपयोग इस समस्या के लिए किया जाए तो आपकी ये समस्या हमेशा के लिए दूर हो जाएगी. इसके लिए आप रोज़ तुलसी के बीज गर्म दूध में मिला कर सेवन करें. ऐसा करने से पुरुषों की मर्दानगी में बढ़ोतरी होती है.

तुलसी के बीज का उपयोग- गर्भधारण में समस्या

बहुत सी महिलाएं शादी के बाद गर्भधारण नहीं कर पाती. लेकिन तुलसीके बीज का उपयोग इस समस्या के लिए कारगार साबित हो सकता है. सीके लिए पीरियड्स आने पर आप रोज़ 5 ग्राम तुलसी के बीज का सुबह शाम पानी के साथ सेवन करें. ऐसा करने के कुछ ही समय में आप माँ बन पाएंगी.

तुलसी के बीज का उपयोग- सर्दी खांसी के लिए

अगर आपको फ्लू अर्थात सर्दी खांसी या जुकाम ने घेर लिया है तो तुलसी के बीजक उपयोग आपको कुछ ही समयमे दरुस्त बना देगा. तुलसी के बीज की तासीर गर्म होती है ऐसे में सर्दी खांसी की स्तिथि में इन बीजों का काढ़ा बना कर पीएं.

यह भी पढ़ें : basil in hindi

Back to top button