अगर आपके शरीर में दिखने लगे ये 5 लक्षण तो हो जाए सावधान, हाइपोथायरायडिज्म के है संकेत

हाइपोथायरायडिज्म आम तौर पर महिलाओं में अधिक होता है परंतु कई बार पुरुषों में भी इसके लक्षण नजर आने लगते हैं हाइपोथायरायडिज्म का मतलब आपकी थायराइड ग्रंथि अंडरएक्टिव है आपकी थायराइड ग्रंथि का आकार धनुष की तरह होता है जो गले में स्थित होता है आपके थायराइड का कार्य हार्मोन निर्मित करना है और इसे रक्त में पंप करना होता है जिससे पूरे शरीर में इसकी आवश्यकता पूरी हो सके जब यह निष्क्रिय हो जाता है तो शरीर की बाकी क्रियाओं पर प्रभाव डालता है जिसकी वजह से आपको हाइपोथायरायडिज्म की समस्या होती है आज हम आपको इस लेख के माध्यम से थायराइड ग्रंथि के अंडरएक्टिव होने के कुछ लक्षणों के विषय में विस्तारपूर्वक जानकारी देने जा रहे हैं आप इन लक्षणों को समय रहते पहचान लीजिए और इसका इलाज करवाएं अन्यथा आपको बहुत बड़ी मुसीबत का सामना करना पड़ सकता है।

आइए जानते हैं हाइपोथायरायडिज्म के संकेतों के बारे में

वजन में बदलाव

जो लोग थायराइड से परेशान होते हैं उनके भूख में वृद्धि होती है वह सामान्य से अधिक भोजन का सेवन करते हैं परंतु जरूरत से ज्यादा भोजन करने के पश्चात भी इन व्यक्तियों का वजन घटने लगता है ऐसी स्थिति में मल त्यागने में वृद्धि हो सकती है और बार-बार दस्त हो सकते हैं वहीं दूसरी ओर हाइपोथायरायडिज्म के कारण चयापचय घटने पर इन लोगो की भूख में कमी होती है और कम भोजन करने की स्थिति में भी इनका वजन बढ़ने लगता है ऐसी स्थिति में कब्ज भी आंतों की गतिविधि को कम करता है।

ऊर्जा के अस्तर में अनियमित परिवर्तन

अगर किसी व्यक्ति को हाइपोथायरायडिज्म की समस्या है तो यह चयापचय में तेज और अनियमित परिवर्तन करता है जिसकी वजह से किसी व्यक्ति को सोने में तकलीफ चिड़चिड़ापन बेचैनी तथा इस प्रकार की कुछ अन्य परेशानियां होने लगती है इसके साथ ही सोच में भी नकारात्मक परिवर्तन आते हैं और किसी भी कार्य में ध्यान केंद्रित करने में समस्या आती है हाइपोथायरायडिज्म से पीड़ित व्यक्ति अपने शरीर के गतिशील रहने योग्य आवश्यक ऊर्जा जुटाने में सक्षम नहीं हो पाते हैं जिसकी वजह से शरीर में लगातार थकान होने लगती है हाइपोथायरायडिज्म से पीड़ित लोगों में अवसाद की भी समस्या देखने को मिलती है।

मांसपेशियों में दर्द होना

अगर किसी व्यक्ति को हाइपोथायरायडिज्म की समस्या है तो उसकी मांसपेशियों में कमजोरी आने लगती है और पूरा शरीर थका हुआ और टूटा टूटा सा महसूस होने लगता है अक्सर कमर कंधे और जोड़ों में दर्द होता है तथा इनमें सूजन भी आने लगती है।

असामान्य शारीरिक वृद्धि

जिन पुरुषों को हाइपोथायरायडिज्म की समस्या होती है उनमें कभी-कभी स्तनों का असामान्य विकास और बढ़ा हुआ चयापचय देखने को मिलता है वैसे देखा जाए तो यह बहुत कम होने वाला लक्षण होता है।

तापमान के प्रति संवेदनशीलता में बदलाव

जिन व्यक्तियों में हाइपोथायरायडिज्म की समस्या होती है उनको जरूरत से ज्यादा पसीना आता है ऐसे व्यक्ति गर्म तापमान में अधिक विचलित हो जाते हैं और इसके विपरीत कभी-कभी इनको पसीना भी बहुत कम आता है और इनको ठंड भी लगने लगती है।

उपरोक्त जो हमने आपको जानकारी दी है यह हाइपोथायरायडिज्म के लक्षण है अगर आपको इस तरह की कोई समस्या आती है तो आप तुरंत इसकी जांच करवाएं समय रहते अगर आप इन संकेतों को पहचान लेते हैं तो आप इस गंभीर समस्या से बच सकते हैं।