राजनीति

वित्तमंत्री जेटली का राहुल पर पलटवार, बोले- ‘किसी के कुछ भी कहने पर कैंसल नहीं होगी राफेल डील’

राफेल डील पर फ्रांस्वा ओलांद के खुलासे के बाद मचे सियासी घमासान से केंद्र की मोदी सरकार लगातार विपक्ष के हमले झेल रही है। इसी बीच वित्त मंत्री अरूण जेटली सामने आए हैं और ओलांद द्वारा लगाए गए आरोपों को सिरे से नकार दिया है। और कहा है कि राफेल डील रद्द नहीं होगी।

राफेल डील रद्द नहीं होगी- वित्त मंत्री अरूण जेटली ने कहा है कि राफेल डील एक साफ सुथरा सौदा है इसके रद्द होने का कोई सवाल ही नहीं है। जेटली ने कहा कि जहां तक सवाल विमानों के कम या ज्यादा कीमतों का है। तो ये सारे आंकड़े कैग के पास हैं। कैग आंकड़ों के मामले में विशेषज्ञ संस्था है।

ओलांद और राहुल की जुगलबंदी- फ्रांस के राष्ट्रपति के बयान के बारे में कहते हुए अरूण जेटली ने कहा कि मुझे बिल्कुल हैरानी नहीं होगी अगर ये सब पहले से सुनिश्चित निकलेगा। उन्होंने कहा कि 30 अगस्त को राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा था कि पेरिस में कुछ धमाके होने वाले हैं। और उसके बाद वैसा ही हुआ जैसा कि उन्होंने कहा था। उन्होंने राहुल गांधी पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि ये राहुल गांधी को कैसे पता था कि बयान ऐसे आने वाले हैं। जेटली ने आगे कहा कि ये जो जुगलबंदी है इस तरह की, मेरे पास कोई ठोस सबूत नहीं है लेकिन मन में प्रश्न जरूर खड़े हो रहे हैं।

 

लोग गलत तथ्य दे सकते हैं लेकिन परिस्थितियां झूठ नहीं बोलती- वित्त मंत्री ने कहा कि कांग्रेस किसी भी चीज पर भरोसा कर सकती है। लेकिन आपको मूलभूत तौर तरीके याद रहने चाहिए। जो कई वर्षों से चले आ रहे हैं। जो इस तर्ज पर आज भी कायम है कि “लोग गलत तथ्य दे सकते हैं लेकिन परिस्थितियां झूठ नहीं बोलती” ।

राहुल का बयान आपत्तिजनक- अरूण जेटली ने कहा कि “राफेल डील सेना पर सर्जिकल स्ट्राइक है” राहुल का यह बयान बेहद ही आपत्तिजनक है। सर्जिकल स्ट्राइक पर पूरे देश को गर्व है। अगर इसे कोई आपत्तिजनक से देखता है तो उसके देशभक्ति पर सवाल उठना जायज है।

पब्लिक डिस्कोर्स लाफ्टर चैलेंज नहीं- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चोर कहे जाने पर राहुल गांधी के बयान पर जेटली ने पलटवार करते हुए कहा कि पब्लिक डिस्कोर्स कोई लाफ्टर चैलेंज नहीं है। आप किसी को हग करते हैं फिर आंख मार देते हैं फिर गलत बयान देते रहें। लोकतंत्र में वार होना जायज है। लेकिन प्रहार ऐसे शब्दों से किया जाए जिसमें बुद्धि दिखाई दे।

झूठ और असभ्य भाषा का सहारा-  वित्तमंत्री जेटली ने कहा कि कोई झूठ और असभ्य भाषा का सहारा ले रहा है तो जरूरी नहीं कि पीएम इस डिबेट में भाग लेंगे। उन्होंने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि किसी के कुछ भी कहने या आरोप लगाने से राफेल डील कैंसिल नहीं होगी।

Related Articles

Close