जैसे ही आप अपने अकाउंट में कैश जमा करेंगे टैक्स डिपार्टमेंट के साईट पर बज जाएगी घंटी!

मोदी सरकार के 500 और 1000 के नोट बंद करने से देश में हाहाकार मचा हुआ है, लोगों को समझ में नहीं आ रहा है कि ये क्या हो गया है। देश के हर कोने में 500 और 1000 के नोट बंद होने के बाद से लम्बी- लम्बी कतारें हर बैंक के बाहर देखने को मिल रही है। लोग बड़ी सख्या में अपने खाते में पैसे जमा कर रहे हैं और निकाल रहे हैं। अगर आप भी अपने बैंक खाते में कैश जमा करने जा रहे हैं तो यह खबर आपके लिए ही है।

आयकर विभाग ने टैक्स चोरी करने वालों पर रखी नजर :

income-tax-depatment-newstrend-12-11-16-2

आयकर विभाग ने आईटी ई-फिलिंग की अपनी वेबसाइट अभी एक नए विंडो को जोड़ा है

टैक्स चोरी करने वालों पर नजर रखने के लिए आयकर विभाग ने इस दिशा में एक कदम बढ़ाया है। दरअसल आयकर विभाग ने आईटी ई-फिलिंग की अपनी वेबसाइट www.incometaxindiaefiling.gov पर अभी एक नए विंडो को जोड़ा है। इसके बाद से जब भी कोई अपने खाते में कैश जमा करेगा तो उसकी जानकारी इस साईट पर दर्ज हो जायेगी। अगर पैसा टैक्स लिमिट से ज्यादा हुआ तो आयकर विभाग तुरंत नोटिस जारी कर देगी। इसके लिए सभी बैंकों के सर्वर आयकर विभाग के सीपीयू से लिंक किये जा चुके हैं।

आपको ज्ञात होगा कि 500 और 1000 की नोट के बंद होने के बाद लोगों को यह सुविधा दी गयी है कि वह 30 दिसंबर तक अपने पास पड़े हुए कैश को बैंक में जमा कर दें। 2.5 लाख तक की सीमा या इससे कम कैश होने पर किसी भी प्रकार का टैक्स नहीं लगेगा। जिनके पास इससे ज्यादा कैश होगा, उसके ऊपर आयकर विभाग की नजर रहेगी। इससे पहले लोग अपने पास बहुत सारा कैश रखते थे और सरकार को टैक्स नहीं चुकाते थे। इसी से परेशान होकर मोदी सरकार ने नोट बंदी की घोषणा की थी।

जिन करदाताओं के पास पहले से ही ई-फिलिंग अकाउंट है, वे इस वेबसाइट पर जाकर लॉग इन करके देख सकते हैं कि उनके अकाउंट में कितना कैश जमा किया गया है। यहाँ हर बैंक के खातों की जानकारी दर्ज की जाएगी, इसका मतलब है कि अब कोई भी आयकर विभाग की नजरों से नहीं बच सकता है। आयकर विभाग ने नोट बंदी के बाद से देश में कई जगहों पर छापेमारी के अपने अभियान में जुट चुकी है।

प्रवर्तन निदेशालय भी विदेशी मुद्रा का कारोबार करने वालों की तलाश में लगी हुई है

इधर प्रवर्तन निदेशालय भी विदेशी मुद्रा का कारोबार करने वालों की तलाश में लगी हुई है। वित्तमंत्रालय ने सभी बैंकों को यह कड़ा निर्देश दिया है कि 2.5 लाख से अधिक रूपये रखने वाले सभी खाताधारकों के बारे में सभी जानकारी रखी जाए।

वित्तमंत्रालय के अधिकारीयों के अनुसार सभी बैंकों को यह निर्देश दिया गया है कि पुराने नोट बदलने की समय सीमा ख़त्म होने के बाद उन सभी अकाउंट की जाँच की जाये, जिनमे 2.5 से अधिक की राशी जमा है। आयकर विभाग की नजर सबसे ज्यादा सोना चाँदी का व्यापार करने वालों पर है। ख़ुफ़िया विभाग को भी यह निर्देश दिया गया है कि काले धन से सम्बंधित हर सूचना को आयकर विभाग के साथ साझा करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.