खुफिया एजेसियों ने जारी किया अलर्ट – पाकिस्तान में शुरू हुई 100 के नकली नोटों की छपाई

नई दिल्ली – प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 500 और 1000 के नोटों पर रोक लगाने के साथ ही इनके जाली नोटों पर भी अंकुश लग गया है। जाली नोटों का ज्यादातर इस्तेमाल बड़े आतंकवादी करते है। इस बैन के बाद ऐसी उम्मीद कि जा रही थी कि पाकिस्तान, आईएसआई और दाऊद इब्राहिम के नकली नोटों से देश की अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाने की कोशिशें धरी की धरी रह जाएँगी। Pakistan printing 100 rupee fake note.

लेकिन, इन सबने भारत को बर्बाद करने का एक अलग तरीका निकाल लिया है। आईएसआई और दाऊद इब्राहिम ने मिलकर पीएम मोदी के इस सर्जिकल स्ट्राइक का तोड़ निकाल लिया है।

पाकिस्तान में शुरू हुई 100 के नकली नोटों की छपाई –

सरकार की तरफ से 500-1000 के नोटों के चलन पर रोक लगने से जाली नोटों के कारोबारी समेत डी गैंग के सरगना दाऊद इब्राहिम और उसके सरपरस्त पाकिस्तानी हुक्मरानों और आईएसआई को चौंकाते हुए सरकार ने इन सबको बड़ा झटका दे डाला।

लेकिन, 500 और 1000 के नोट बंद होने से लगे झटके से उबरने के लिए आईएसआई ने भी अपनी रणनीति में बदलाव शुरू कर दिया है। दिल्ली क्राइम ब्रांच को ऐसी ख़बर मिली है कि आईएसआई ने अब 500 और हजार की नोट की जगह 100 के नकली नोटों को छापना शुरू कर दिया है।

अंडरवल्र्ड सरगना दाउद इब्राहिम ने इसके लिए अपने सहयोगी और नकली नोटों का काम देखने वाले इकबाल काना और आफताब को जिम्मेदारी सौंपी है। इस सूचना के बाद क्राइम ब्रांच की तरफ से बांग्लादेश और नेपाल बॉर्डर समेत पाकिस्तान से जोडऩे वाले हर रूट पर चौकसी बतरने का अलर्ट जारी कर दिया है।

ऐसे चलता है नकली नोटों का धंधा –

रिपोर्ट्स के अनुसार, पाकिस्तान में छपते नोट बांग्लादेश और नेपाल के रास्ते भारत पहुंचते हैं। बांग्लादेश सीमा पर केवल 18 हज़ार रुपये में एक लाख के नकली भारतीय नोट मिलते हैं….जबकि भारत-बांग्लादेश सीमा के बाद बिहार में आते ही इनकी कीमत 40 हज़ार रुपये हो जाती है…वहीं, दिल्ली और पंजाब पहुंचने पर एक लाख के नकली नोट का रेट 50 से 70 हज़ार रुपये हो जाता है।

आईएसआई इसके लिए भारत के गुमराह युवकों को कमीशन के आधार पर तैयार कर नकली नोटों को गली मुहल्लों तक पहुंचाता है। भारत में 500 व हजार के नोटों को बंद करने की घोषणा से आईएसआई को बड़ा झटका लगा है। अब आईएसआई ने भारतीय अर्थव्यवस्था को चोटिल करने की रणनीति में बदलाव कर दिया है। क्राइम ब्रांच को सूचना मिली है कि इसके लिए आईएसआई ने बड़े स्तर पर 100 रुपए के नकली नोटों को छापना शुरू कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.