अश्वगंधा चूर्ण के उपयोग एवं खाने का सही तरीका

अश्वगंधा चूर्ण के उपयोग: अश्वगंधा एक तरह से आयुर्वेदिक पौधा है जिसके पत्तों की जगह उसकी जड़ का इस्तेमाल किया जाता है. खाने में इसका स्वाद बेहद तीखा होता है लेकिन इसके अनगिनत फायदों के चलते बाज़ार में इसकी मांग दिनों दिन बढती नजर आ रही है. आपको बता दें कि अश्वगंधा काफी सस्ता होता है इसलिए यह आसानी से मिल जाता है. आज हम आपको अश्वगंधा चूर्ण के उपयोग बताने जा रहे हैं जिनसे शायद आप पहले से वाकिफ नहीं होंगे. दरअसल, अश्वगंधा को चूर्ण, कैप्सूल, गोलियों तीनो रूप में खाया जा सकता है. इस्ससे शारीरिक कमजोरी के साथ साथ मानसिक रोग भी जड़ से मिट जाते हैं. अश्वगंधा को किसी भी पतंजली स्टोर या पंसारी की दूकान से खरीदा जा सकता है.
आपको बता दें कि अश्वगंधा पौधे की जड़ को कूटने पर उससे घोड़े के मूत्र के गंध आती है.

इसीलिए इस जड़ी बूटी को अश्वगंधा का नाम दिया गया है. अश्वगंधा के नियमित रूप से सेवन करने से मानसिक कमजोरी, तनाव, पुराना सिर दर्द, अनिद्रा आदि जैसे रोग जड़ से मिट जाते हैं. आज के इस आर्टिकल में हम आपको अश्वगंधा के चूर्ण के उपयोग बताने जा रहे हैं. तो चलिए जानते हैं आखिर यह चूर्ण आपके स्वास्थ्य के लिए कितना प्रभावी है.

अश्वगंधा चूर्ण के उपयोग- अश्वंधा चूर्ण के फायदे

 

अश्वगंधा एक आयुर्वेदिक औषधि है जिसका इस्तेमाल कईं रोगों को दूर करने के लिए किया जाता है. यह कैप्सूल, चूर्ण, तेल आदि कईं रूपों में मिलता है. इस पौडे की जड़ से कईं दवाईयां बनाई जाता है. चलिए जानते हैं अश्वगंधा के फायदों की लिस्ट के बारे में विस्तार से-

  • औरतों में सफेद पानी लिकोरिया की समस्या के चलते उनके शरीर में कमजोरी आने लगती है जिसका सीधा असर उनकी प्रजनन क्षमता पर पड़ता है. ऐसे में अश्वगंधा के चूर्ण के सेवन से महिलाओं को इस रोग से छुटकारा मिल जाता है. इसके इलावा हम आपको बता दें कि अश्वगंधा को शतावरी के साथ लेने से औरतों के ब्रेस्ट का साइज भी बढ़ाया जा सकता है.
  • पुरुषों के लिए भी अश्वगंधा चूर्ण रामबाण साबित होता है इसके रोजाना सेवन से मर्दों की प्रजनन क्षमता और स्पर्म काउंट बढ़ता है साथ ही इसके सेवन से उनकी शारीरिक थकान एवं कमजोरी दूर हो जाती है और एक नया जोश आता है. जो मर्द अनिद्रा एवं स्वप्नदोष से परेशान है गहरी नींद नहीं ले पाते हम के लिए अश्वगंधा एक अचूक दवा है.

  • बॉडीबिल्डिंग के लिए भी अश्वगंधा का सेवन काफी फायदेमंद साबित होता है इसके लिए अश्वगंधा और शतावरी को मिलाकर में मिश्री मिला दे ओ रात को सोने से पहले या कसरत के बाद एक चम्मच पाउडर खाएँ और ऊपर से गरम दूध का गिलास पिए. लगातार एक महीने इस विधि को दोहराने से आपका वजन बढ़ने लगेगा.

  • जो लोग अपनी छोटी हाइट यानी छोटे कर्ज से परेशान हैं तो अश्वगंधा की मदद से वह अपनी हाइट भी बढ़ा सकते हैं. अश्वगंधा चूर्ण के एक चम्मच को एक गिलास दूध में मिलाकर इसका सेवन करें 40 से 45 दिन तक आप अपनी हाईट में फर्क महसूस करेंगे.

  • यदि आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है तो अश्वगंधा चूर्ण का दूध के साथ सेवन करने से आपकी यह समस्या ठीक हो जाएगी साथ ही इससे फोड़े फुंसियां जखम एवं तनाव भी दूर हो जाता है. कोलेस्ट्रोल और हृदय रोग के लिए अश्वगंधा एक बेहतरीन औषधि है.