स्वास्थ्य

अगर आपको भी है भूलने की बीमारी तो इन 5 घरेलू उपायों से बढ़ाये अपनी यादाश्त

अक्सर कई बार हम छोटी सी छोटी चीज़ो को भूल जाते हैं। यह मानव स्वभाव का ही अंग है कि हर कोई कभी न कभी कुछ न कुछ ज़रूर भूलता है, लेकिन कई बार आपकी यह आदत आपको बड़ी मुसीबत में डाल देती है। दरअसल, आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में हर कोई तेज़ी से भागना चाहता है, जिसका असर उसके दिमाग पर पड़ता है। ऐसे में उसे भूलने की बीमारी हो जाती है। जी हां, अगर आपको भी रोज़ाना भूलने की बीमारी है और आप इससे पूरी तरह से परेशान हो चुके हैं, तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

आजकल की बिजी लाइफ में हम उन पौषक तत्वो का इस्तेमाल करना भूल गये हैं, जिनसे मस्तिष्क तेज़ बनता है। तकनीक के बढ़ने की वजह से हम पूरी तरह से उस पर निर्भर हो गये है और उसकी वजह से हमारे दिमाग पर सीधा असर पड़ता है।  दिमाग पर असर पड़ने की वजह से हम छोटी छोटी चीज़े भूलने लगते है और इसकी वजह से  कई बार हम कई ऐसी चीज़ो को भूल जाते हैं, जिनका असर हमारे करियर या रिलेशनशिप पर पड़ता है। ऐसे में आज हम आपको यादाश्त को बढ़ाने के लिए कुछ घरेलू उपाय बताने जा रहे हैं, जिनकी मदद से आप इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

यादाश्त बढ़ाने के घरेलू उपाय

यादाश्त बढ़ाने के लिए आप नीचे लिखे गये कुछ घरेलू उपायों को आज़मा सकते हैं –

1. खूब पानी पीएं – शरीर में पानी की कमी होने की वजह से दिमाग पर प्रभाव पड़ता है, जिसकी वजह से भूलने की बीमारी हो जाती है। इसलिए हर किसी को दिन में 8 से 10 गिलास पानी ज़रूर पीना चाहिए, इससे दिमाग पूरी तरह से  स्वस्थ रहता है।

2. मैडिटेशन करें – यादाश्त बढ़ाने के लिए मैडिटेशन की बहुत ज़रूरत होती  है, क्योंकि ध्यान केंद्रित न होने की वजह से भूलने की बीमारी होती है, जिसकी वजह से आप चीज़ो को भूल जाते हैं। इसलिए रोज़ाना तकरीबन 10 मिनट तक मैडिटेशन करना चाहिए, ताकि आपकी यह समस्या दूर हो जाए।

3. बादाम – माना जाता है कि बादाम में मौजूद गुण यादाश्त को बढ़ाने में सहायक होते हैं, जिसकी वजह से रोज़ाना एक या दो बादाम का सेवन करना चाहिए। इतना ही नहीं, बादाम का सेवन करने से दिमाग भी मजबूत बनता है और इसलिए आपको भूलने की बिमारी नहीं होती है। बादाम छोटे बच्चों को ज़रूर देना चाहिए, क्योंकि इससे उनका दिमागी विकास बहुत ही तेज़ी से होता है।

4. डॉर्क चॉकलेट – यूं तो डॉर्क चॉकलेट खाना सेहत के लिए हानिकारक माना जाता है, लेकिन इसको खाने से दिमाग पूरी तरह से शांत हो जाता है और आपको भूलने की बीमारी नहीं होती है। इसलिए अगर आप कोई औऱ चॉकलेट खाते हैं, तो उसकी जगह पर डॉर्क चॉकलेट आजमाएं, क्योंकि इससे आपका दिमाग पूरी तरह से शांत रहेगा।

 

5.भरपूर नींद लें – रोज़ाना हर इंसान को 8 घंटे की नींद लेनी चाहिए, इससे दिमाग में चल रही हलचले पूरी तरह से शांत हो जाती है और आपको भूलने की बीमारी से छुटकारा मिल जाता है, क्योंकि नींद पूरी न होने की वजह से दिमाग पर प्रभाव पड़ता है।

Related Articles

Close