मध्य प्रदेश में वनवास ख़त्म करने की कांग्रेस की रणनीति, इन मुद्दों को भुनाने की कोशिश

भोपाल: इस समय मध्य प्रदेश में भाजपा की सरकार है और पिछले 15 सालों से मुख्यमंत्री की कुर्सी पर शिवराज सिंह चौहान क़ाबिज़ हैं। मध्य प्रदेश में कांग्रेस पिछले 15 सालों से वनवास झेल रही है। भगवान श्रीराम के 14 सालों के वनवास की राह पर चलकर कांग्रेस मध्य प्रदेश का क़िला फ़तह करना चाहती है। इसी वजह से कांग्रेस ने राम वन गमन पथ यात्रा शुरू करने की योजना बनाई है। कमलनाथ के मध्य प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद ही कांग्रेस सॉफ़्ट हिंदुत्व की तिनि अपनाने लगी है।

35 विधानसभा से होकर गुज़रेगी कांग्रेस की यात्रा:

इसी वजह से कांग्रेस इन दिनों राज्य में गाय, नर्मदा, मंदिर और अब राम की बात करने लगी है। शायद अब कांग्रेस को समझ में आ गया है कि इस देश की सबसे ज़्यादा आबदी हिंदुओं की है, ऐसे में उन्हें ख़ुश करना बहुत ज़रूरी है। इसी कारण कांग्रेस ने राम वन गमन पथ यात्रा शुरू करने जा रही है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कांग्रेस की यह यात्रा इसी महीने 21 सितम्बर से शुरू होकर अगले महीने 9 अक्टूबर तक चलेगी। बताया जा रहा है कि कांग्रेस की यह यात्रा लगभग 35 विधानसभा क्षेत्रों से होकर गुज़रेगी।

बताया जा रहा है कि भगवान श्रीराम अपने 14 साल के वनवास के दौरान मध्य प्रदेश में जिन-जिन स्थानों से गुज़रे थे, कांग्रेस की यात्रा भी उसी मार्ग से होकर निकलेगी। कांग्रेस ने नेता हरिशंकर शुक्ला ने कहा कि, हम चुनाव से पहले भगवान राम का आशीर्वाद पाना चाहते हैं। इसी वजह से हम यह यात्रा एक खुले रथ पर निकालेंगे, जिसमें साधु-संत बैठेंगे। उन्होंने आगे कहा कि यात्रा के दौरान अखण्ड मानस पाठ और भजन-कीर्तन भी होगा। इस यात्रा के चित्रकूट से शुरू होने की सम्भावना है। उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस के घोषणापत्र में राम वन गमन पथ यात्रा को शामिल कराने का अनुरोध करेंगे।

भाजपा सिर्फ़ गाय के नाम पर करती है राजनीति:

कांग्रेस अपनी इस नयी रणनीति के तहत मध्य प्रदेश में संघ और भाजपा से टक्कर लेना चाहती है। कुछ दिनों पहले कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा था कि कांग्रेस की सरकार बनने पर मध्य प्रदेश के 23 हज़ार ग्राम पंचायतों में एक-एक गौशाला खोली जाएगी। उन्होंने भाजपा पर हमला करते हुए कहा था कि भाजपा बहुत गाय की बात करती है, लेकिन प्रदेश में गौशलाओं की हालत बहुत ख़राब है। सैकड़ों गाएँ हर रोज़ मर रही हैं। भाजपा सिर्फ़ गाय के नाम पर राजनीति करती हैं, लेकिन कांग्रेस गायों को तड़पते हुए नहीं देख सकती।

इसी वजह से सड़कों पर घूमने वाली आवारा गायों के लिए गौशाला खोला जाएगा, ताकि वह दुर्घटना का शिकार ना हों। आपको बता दें इन दिनों मध्य प्रदेश में कांग्रेस के नेताओं को मंदिर का दर्शन करते हुए साफ़-साफ़ देखा जा सकता है। राज्य के प्रमुख मंदिरों और धार्मिक स्थलों की लिस्ट बनाई जा रही है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जब मध्य प्रदेश में चुनाव प्रचार के लिए आएँगे तो इन्ही मंदिरों में दर्शन के लिए जाएँगे। पिछले साल कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह दशहरे के दिन नर्मदा परिक्रमा पर निकले थे। 6 महीने घर से दूर रहकर उन्होंने 3800 किलोमीटर की यात्रा पूरी की थी। इस बार कांग्रेस नर्मदा संरक्षण का मुद्दा भी उठा रही है।