भारत बंद में कांग्रेस को मिला सभी विपक्षी दलों का साथ, जानिए अलग अलग शहरों का हाल

पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेस के भारत बंद का असर आज सुबह से ही देखने को मिल रहा है। अलग अलग शहरों में लगातार विरोध प्रदर्शन जारी है। विपक्षी पार्टियां लगातार केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रही है। इस बंद की अगुवाई के लिए खुद राहुल गांधी राजघाट पहुँचे। बता दें कि राहुल गांधी बीते कुछ दिनों से कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर गए थे, वहां से लौटकर वह सीधे बंद को समर्थन देने के लिए सड़कों पर पहुँचे हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कैलाश मानसरोवर की यात्रा से लौटकर महात्मा गांधी को श्रद्दांजलि दी। और कैलाश मानसरोवर से लाए जल को बापू की समाधि पर चढ़ाया। इसके बाद उन्होंने मार्च की अगुवाई की। इस मार्च में तमाम विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने शिरकत की। यह मार्च नई दिल्ली के राजघाट से चलकर रामलीला मैदान पर जाकर रुका। वहीं रामलीलाा मैदान में विपक्षी दलों के तमाम नेता धरने पर बैठे हैं। रामलीला मैदान में यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, एनसीपी के प्रमुख शरद पवार, शरद यादव समेत तमाम विपक्षी पार्टियां मंच पर एक साथ दिखे।

टीएमसी और आप के नेता भी दिखे साथ-

इन दोनों ही पार्टियों ने भारत बंद से खुद को दूर रखा था। आप नेता और राज्यसभा के सदस्य संजय सिंह ने कहा कि छोटे मोटे विरोधों को दरकिनार करते हुए हम सभी बढ़ती महंगाई के खिलाफ एकजुट होने को तैयार हैं।

अन्य विपक्षी दलों का साथ भी हासिल-

एनसीपी के मुखिया शरद पवार मार्च में खुद शामिल होने पहुँचे। शरद यादव, तारिक अनवर के अलावा आरजेडी से मनोज झा, जेडीएस से दानिश अली, आरएलडी से जयंत चौधरी, जैसे तमाम बड़े नेता इस मार्च में राहुल गांधी के साथ पहुँचे।

20 से अधिक विपक्षी दलों का समर्थन प्राप्त-

कांग्रेस की ओर से बुलाए गए इस बंद में 20 से अधिक विपक्षी दलों का समर्थन प्राप्त है। कांग्रेस ने तो महंगाई के विरोध में बंद बुलाया है। लेकिन माना जा रहा है कि अलग अलग विपक्षी पार्टियों के महंगाई के अलावा भी अपने अपने मुद्दे हैं। सभी अपने मुद्दों के साथ अलग अलग राज्यों में केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

जानिए भारत बंद का असर कैसा है-

यूपी की राजधानी लखनऊ में सुबह सुबह कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने बाइक रैली निकालकर अपना विरोध प्रदर्शन किया।

बिहार की राजधानी पटना में भी बंद का अच्छा खासा असर दिख रहा है। यहां दुकानें बंद हैं, सड़कें खाली हैं। कुछ जगहों पर आगजनी भी हुई है।

छत्तीसगढ़ के राजधानी रायपुर में भी विपक्षी पार्टियों ने विरोध प्रदर्शन किया है।

ओड़िसा के संबलपुर में ट्रेनें रोकी गई हैं।