विशेष

मोदी विरोधी इस भारतीय नेता के बेटे ने बनाया ट्रंप को दुनिया के सबसे ताकतवर देश का राष्ट्रपति

अमेरिका/नई दिल्ली – अमेरिका के बहुचर्चित राष्ट्रपति पद के चुनाव में आखिरकार सभी सर्वेक्षणों को झुठलाते हुए रिपब्लिकन उम्मीदवार ट्रंप ने हिलेरी को करारी शिकस्त दी है। ह्वाइट हाउस पर ट्रंप ने कब्जा जमा लिया है। ट्रंप को जहां 276 इलेक्टोरल वोट मिले वहीं हिलेरी को 218 वोट हासिल हुए। इस तरह ट्रंप अमेरिका के 45वें रष्ट्रपति बन गए हैं। Amrish Tyagi Important Roll Trump Victory.

इस बार के राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन प्रत्याशी डोनाल्ड ट्रंप के पक्ष में गाजियाबाद से माहौल बनाने की कोशिशें की जा रही थी। आखिरकार यह अभियान सफल रहा और ट्रंप अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति चुने गए।

अमरीश त्यागी बने ट्रंप की जीत के सूत्रधार –

ट्रंप की छवि एक दक्षिणपंथी नेता की बन गई है। भारत में भी उनको दक्षिणपंथियों के बीच वो खासे मशहूर हुए। एक तरफ ट्रंप ने भारत के हिंदुओं की तारीफ की तो अबकी बार ट्रंप सरकार भी उन्होंने कहा। तीन हफ्ते अमेरिका रह कर लौटे केसी त्यागी (जदयू नेता) के बेटे अमरीश त्यागी अब गाजियाबाद से ऑनलाइन सर्वे व रिसर्च में सक्रिय हो गए थे।

अमरीश ने डोनाल्ड ट्रंप के वॉर रूम में लंबा समय गुजारा और गाजियाबाद से ही वॉर रूम टीम के साथ जुड़े हुए थे। सोशल मीडिया पर एशिया और खासतौर पर भारतीय लोग चुनाव को लेकर क्या सोच रहे हैं, क्या प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे हैं, उनका रुझान क्या है आदि पर रिसर्च कर ट्रंप को सुझाव देने की जिम्मेदारी अमरीश त्यागी निभा रहे थे।  कैंब्रिज एनलेटिका कंपनी की तरफ से उन्हें ये जिम्मेदारी दी गई थी।

अमरीश त्यागी के पिता केसी त्यागी हैं मोदी के धुर-विरोधी –

डोनाल्ड ट्रंप की जीत में अहम किरदार अदा करने वाले अमरीश त्यागी भारत के एक ऐसे राजनेता के बेटे हैं जो मोदी के धुर-विरोधी हैं।

अमरीश त्यागी जनता दल यूनाइटेड के बड़े नेता केसी त्यागी के बेटे हैं। बिहार में उन्होंने भाजपा को हराने और भाजपा के खिलाफ महागठबंधन बनाने में अहम भूमिका निभाई थी और अब वे उत्तर प्रदेश में वही दोहराने की कोशिश कर रहे हैं। उनके बेटे अमरीश त्यागी ने तो दक्षिणपंथी कहे जाने वाले ट्रंप को अमेरिकी राष्ट्रपति की गद्दी तक पहुंचा दिया।

Related Articles

Close