प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इस फैसले से देश से ख़त्म होगा लगभग 4 लाख करोड़ का काला धन!

मोदी सरकार ने अपने कार्यकाल का सबसे बड़ा और ऐतिहासिक फैसला लिया है। नरेन्द्र मोदी ने अचानक से मंगलवार की रात को यह घोषणा की कि अब से 500 और 1000 के पुराने नोट नहीं चलेंगे। प्रधानमंत्री के इस अचानक लिए गए फैसले से पूरा देश सकते में आ गया है। देश के कुछ लोग खुश हैं वही काला धन इकठ्ठा करने वालों के ऊपर मानों पहाड़ गिर गया हो। अनुमान है कि प्रधानमंत्री के इस फैसले से देश के अन्दर रखे हुए 3 से 4 लाख करोड़ मूल्य का काला धन बर्बाद हो जायेगा। यह एक तरह से देश के हित में ही है। जहाँ देश की गरीब जनता प्रधानमंत्री के इस कदम की तारीफ कर रही है वहीँ बड़े- बड़े उद्योगपति और बिल्डर इस फैसले से आहत हुए हैं।

आपको बता दें यह फैसला काला धन पर नियंत्रण पाने और जाली नोटों का चलन रोकने के लिए किया गया है। प्रधानमंत्री के इस फैसले से आतंकियों पर भी नकेल कसी जा सकेगी और आतंकवाद की घटनाओं में कमी आएगी। भ्रष्टाचार के मामले में भी देश बहुत आगे हो गया था, इसके बाद से उम्मीद है कि इसमें भी कमी आएगी।

कैसे होगा 3-4 लाख करोड़ काले धन का सफाया:

4 लाख करोड़ का काला धन

रिज़र्व बैंक के अधिकारीयों के अनुसार, अभी वर्तमान समय में देश के अन्दर लगभग 17 लाख करोड़ रूपये के मूल्य के करेंसी नोट चल रहे हैं। इनमे से कुल 14 लाख करोड़ रूपये 500 और 1000 के नोटों में चल रहे हैं, जो की अब बंद हो चुका है। अर्थशास्त्रियों का कहना है कि प्रधानमंत्री के इस फैसले का सीधा असर देश के काले धन पर पड़ने वाला है। ऐसा इसलिए भी कहा जा रहा है, क्योंकि उन्हें बहुत कम समय उस धन को ख़त्म करने के लिए मिला है। उनके पास जितना भी काला धन है, उसे इतने कम समय में सफ़ेद नहीं किया जा सकता है और ना ही वह अब चल रहा है कि उसे कहीं और लगाया जा सके। इसे देखकर यह अनुमान लगाया गया है कि 4 लाख करोड़ का काला धन बर्बाद हो जायेगा।

सबसे ज्यादा काला धन लगा है रियल एस्टेट में:

4 लाख करोड़ का काला धन

आपको बता दें देश का सबसे ज्यादा काला धन रियल एस्टेट में लगा हुआ है। इस सेक्टर में संपत्ति के रूप में सबसे ज्यादा काला धन लगाया जाता है। इसे देखकर तो ऐसा लगता है कि प्रधानमंत्री के इस फैसले से सारा का सारा काला धन समाप्त हो जाये, यह मुश्किल लगता है।

सरकार के खजाने पर होगा अच्छा असर:

प्रधानमंत्री के इस फैसले से काले धन का एक बहुत बड़ा लगभग 4 लाख करोड़ के सिस्टम से ख़त्म होने की उम्मीद है। इस बात से सीधा असर सरकार के खजाने पर होने वाला है। अब सरकार के खजाने में बढ़ोत्तरी होने की उम्मीद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.