रिज़र्व बैंक ने नोटों की अदला बदली के बारे में बतायी कुछ महत्वपूर्ण बातें, जो हर किसी के लिए है फायदेमंद!

मंगलवार मध्यरात्रि से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की घोषणा के बाद 1,000 रुपये और 500 रुपये के नोटों को बैंक अवैध करार दे दिया है। किसी ने भी कल्पना नहीं की थी कि केंद्र सरकार इस तरह की अप्रत्याशित घोषणा करने वाली है। मौद्रिक अधिकारियों ने प्रधानमंत्री के इस कदम के पीछे तर्क देते हुए 25 बिंदुओं की एक विस्तृत प्रश्नोत्तरी जारी की है। भारतीय रिजर्व बैंक के अनुसार, यह बड़ा कदम काले धन की समस्या को रोकने और बाजार में चल रहे जाली नोटों से बचने के लिए उठाया गया है। रिज़र्व बैंक ने लोगों से कहा है कि इस कारण जनता को कोई नुकसान नहीं उठाना होगा, उनको उनके मूल्य के पुराने नोटों के बदने नए नोट मिल जायेंगे। मतलब अगर आप 1000 का एक नोट जमा करते हैं तो आपको 100 के 10 नोट मिल जायेंगे।

ribi-srikant-newstrend-09-11-16-2

रिजर्व बैंक ने यह भी कहा है कि एक व्यक्ति को नकदी के रूप में केवल 4,000 रुपये तक ही मिल सकते हैं और अगर इससे ऊपर की रकम है तो वो उसके खाते में जमा कर दिए जाएंगे। 500 और 1000 के नोट रिज़र्व बैंक के 19 कार्यालयों में से कहीं पर भी बदला जा सकता है। आप किसी भी बैंक में जाकर अपने नोट को बदल सकते हैं और साथ ही अपने नजदीकी मुख्य डाकघर में भी नोट को बदला जा सकता है। जिन लोगों को किसी कारण से 4000 से ज्यादा धन की आवश्यकता है उनके लिए यह सुविधा है कि वह चेक के जरिये भुगतान कर सकते हैं। वो लोग पहले की तरह इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों जैसे ऑनलाइन बैंकिंग, मोबाइल वॉलेट, आईएमपीएस, क्रेडिट, डेबिट कार्ड की सहायता से अपने सभी भुगतान कर सकता है।

जिन लोगों के पास अपना खुद का कोई बैंक खाता नहीं है,

जिन लोगों के पास अपना खुद का कोई बैंक खाता नहीं है, वे जरुरी केवाईसी दस्तावेजों के साथ अपना खुद का एक खाता खोल सकते हैं और अपने पैसों को बदल सकते हैं।

जिन लोगों के पास अपना खुद का बैंक खाता नहीं है उनके लिए यह भी सुविधा है कि वह अपने नोटों को अपने रिश्तेदार या किसी दोस्त की सहायता से बदल सकता है। लेकिन उसे लिखित तौर पर अनुमति लेनी होगी और खाताधारक ने उसे इसकी अनुमति दी है यह भी प्रमाणित करना होगा साथ ही साथ खुद का जरुरी पहचान प्रमाण पत्र भी देना होगा।

18 नवंबर तक केवल 2,000 रुपये एक कार्ड से एक दिन में निकाल सकता है

अभी रिज़र्व बैंक ने कहा है कि एटीएम से पैसे निकालने में मुश्किल हो सकती है, जब तक नए नोट ना डाल दिए जाएँ। अभी के लिए सारे एटीएम बंद कर दिए गए हैं। अगर एक बार एटीएम काम करना शुरू कर देता है तो, कोई भी व्यक्ति 18 नवंबर तक केवल 2,000 रुपये एक कार्ड से एक दिन में निकाल सकता है। उसके बाद धन निकासी की यह सीमा 2000 से बढ़ाकर 4000 कर दी जाएगी, मतलब एक कार्ड से एक दिन में 4000 तक की राशी ही निकाली जा सकती है।

इस बार पैसे निकालने को लेकर नियम नए वर्ष तक थोड़ा मुश्किल रहने वाला है। आप चेक या निकासी पर्ची की मदद से एक दिन में 10000 से ज्यादा नहीं निकाल सकते हैं और 24 नवम्बर तक एक हप्ते में आप कुल मिलकर केवल 20000 ही निकाल सकते हैं।

सरकार ने ज्यादा लेन- देन करने वालों के लिए एक सहूलियत रखी है

सरकार ने ज्यादा लेन- देन करने वालों के लिए एक सहूलियत रखी है कि वह इलेक्ट्रॉनिक लेन- देन चाहे जितना भी कर सकते हैं। रिज़र्व बैंक ने कहा है कि नोट को बदलने की अवधी 30 दिसंबर, 2016 को बंद हो जाएगी। तब तक जिनके पास भी 1000 और 500 के नोट हैं वो रिज़र्व बैंक के कार्यालयों, किसी भी बैंक की शाखा या मुख्य डाकघर पर जाकर बदल सकते हैं। जो लोग ऐसा नहीं कर पाते हैं उनके लिए आरबीआई के निर्धारित कार्यालयों में एक सीमित अवसर की पेशकश की जाएगी।

जो लोग विदेश में हैं, वे देश में किसी अन्य व्यक्ति को लिखित रूप में अधिकृत कर नोटों को अपने खातों में जमा करवा सकते हैं। अधिक सूचना के लिए आप आरबीआई की वेबसाइट को देख सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.