विटामिन बी 12 की कमी से हो सकती हैं ये समस्याएं, जानिए इसके कारण और उपाय

विटामिन बी 12 पानी में घुलनशील वाटर साल्यूबल विटामिन होता है। यह विटामिन बी कांपलेक्स के 8 विटामिनो में से एक विटामिन है। व्यस्त और अनियमित जीवन शैली के कारण खानपान में ध्यान न देने की वजह से विटामिन बी12  की कमी का होना लाजमी है। विटामिन बी12 हमारे शरीर के लिए काफी महत्तवपूर्ण विटामिन है। लाल रक्त कणिका या रेड ब्लड सेल (आरबीसी) जो हमारे शरीर में अॉक्सीजन का सप्लाई करते हैं के लिए विटामिन बी12 काफी महत्वपूर्ण पोषक तत्व होता है। साथ ही नर्व सिस्टम के लिए भी जरूरी माना जाता है। नर्व सिस्टम के टिशू के सही ढंग से काम करने के लिए यह जरूरी है कि विटामिन बी12 का शरीर में उचित मात्रा मौजूद हो। विटामिन बी12 हमारे शरीर में फॉलिक एसिड के अवशोषण में भी मदद करता है। फॉलिक एसिड एनर्जी प्रोडक्शन के लिए बहुत ही जरूरी होता है। चूंकि हमारा शरीर स्वयं बी 12 का निर्माण नहीं करता इसलिए नियमित खाद्य पदार्थ के माध्यम से ही शरीर को विटामिन बी12  की पूर्ति होती है।

  • विटामिन बी12 कितना लें- सबसे पहले कोई भी सप्लीमेंट लेने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर ले लें। एक सामान्य व्यक्ति को 2.4 माइक्रोग्राम विटामिन बी12 की जरूरत होती है। इसके अलावा 1 से 9 साल तक के बच्चों को 0.9 माइक्रोग्राम से 1.8 माइक्रोग्राम तक विटामिन बी12 की आवश्यकता होती है।

 

  • विटामिन बी12 के कमी के कारण- इसका सबसे बड़ा कारण है भोजन। मांसाहारी लोगों के मुकाबले शाकाहारी लोगों में इस विटामिन के कमी की संभावना अधिक रहती है। क्योंकि विटामिन बी12 का सबसे अच्छा स्त्रोत मांस है। इसके अलावा इसका दूसरा कारण शरीर में खून की कमी का होना है। एनीमिया के हो जाने से पेट में मौजूद विटामिन  बी12 को शोखने वाले प्रोटीन नष्ट हो जाते हैं। और शरीर में विटामिन बी 12 की कमी होने लगती है।

 

  • किसे होती है विटामिन बी12 के कमी की संभावना- पचास की उम्र पार चुके वे लोग जो शाकाहारी होते हैं उन्हें खास तौर पर विटामिन बी12 की कमी होती है। इसके अलावा ऐसी कोई बीमारी हो जो आपके पाचन को प्रभावित करती हो तब भी शरीर में विटामिन बी12 की कमी होती है। विटामिन बी12 की कमी कुपोषित लोगों में भी होती है। इसके अलावा उन बच्चों को इसकी कमी होती है जिनकी मां शाकाहारी हो और बच्चे सिर्फ मां का दूध पीकर बढ़े हों।

 

  • विटामिन बी12 की कमी के लक्षण-

  1. थकान होना- यह विटामिन हमारे शरीर के अंदर एनर्जी मेटाबोलिज्म में काफी अहम भूमिका निभाता है। इसलिए इसकी कमी होने पर शरीर में थकान होने लगती है।
  2. शरीर में अॉक्सीजन की कमी होने लगती है- क्योंकि ये विटामिन शरीर में आरबीसी बनाने का काम करती है। और इस विटामिन की कमी से इसके निमार्ण में बाधा आती है। आरबीसी शरीर में आक्सीजन सप्लाई में काम आते हैं। इसलिए इनके ठीक ढंग से न बनने से शरीर में आक्सीजीन की कमी होने लगती है।
  3. झुनझुनी महसूस होना- तंत्रिका तंत्र को हेल्दी बनाए रखने के लिए विटामिन बी12 काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इसलिए झुनझुनी होना विटामिन बी12 के कमी का लक्षण  है।
  4. लो ब्लड प्रेशर- शरीर में विटामिन बी 12 की कमी होने से रक्तचाप के धीरे हो जाने की संभावना अधिक रहती है।
  5. स्किन का पीला पड़ना- विटामिन बी12 की कमी से शरीर में मजबूत सेल्स नहीं बन पाते जिससे की शरीर पीला पड़ने लगता है।

 

  • विटामिन बी12 की पूर्ति के लिए आहार-

  1. अधिक से अधिक डेयरी प्रोडक्टस का सेवन करें।
  2. मांस, मछली
  3. दलिया नारियल का दूध
  4. संतुलित आहार