विशेष

आचार्य चाणक्य अनुसार: इन 5 लोगों कि भूलकर भी ना करें सहायता, वरना आ सकती है मुसीबत

आचार्य चाणक्य जी एक बहुत ही अच्छे नीतिकार थे इन्होंने मनुष्य जीवन को सफल बनाने के लिए बहुत सी बातें बताई हैं अगर कोई व्यक्ति इन बातों पर अमल करता है तो वह अपने जीवन को खुशहाल बना सकता है और व्यक्ति अपने जीवन में सफलता प्राप्त कर सकता है आचार्य चाणक्य जी ने अपनी नीतियों में मनुष्य जाति से जुड़ी हुई ऐसी बहुत सी बातें बताई हैं जिससे हम अपने जीवन को पूरी तरह से बदल सकते हैं इन नीतियों में सफलता का रहस्य छुपा हुआ है आचार्य चाणक्य जी ने अपनी नीतियों में ऐसे पांच व्यक्तियों के बारे में बताया है जिनकी भूलकर भी सहायता नहीं करनी चाहिए अगर आप इन व्यक्तियों की सहायता करते हैं तो आप मुसीबत में आ सकते हैं आज हम आपको इस लेख के माध्यम से आचार्य चाणक्य जी द्वारा बताए गए इन्हीं पांच व्यक्तियों के बारे में जानकारी देने वाले हैं।

आइए जानते हैं किन 5 व्यक्तियों कि नहीं करनी चाहिए मदद

नशा करने वाले व्यक्ति

आचार्य चाणक्य जी का कहना है कि जो व्यक्ति नशा करते हैं उनकी भूलकर भी सहायता नहीं करनी चाहिए अगर आप ऐसे व्यक्तियों की सहायता करते हैं तो आपको उनके साथ ही रहना पड़ सकता है और यह व्यक्ति आपको भी अपनी तरह नशे की लत लगा सकते हैं जिसकी वजह से आप भी नशे के आदी हो जाएंगे इन्हीं सब कारणों से आप भूलकर भी नशा करने वाले व्यक्तियों की सहायता ना करें।

मूर्ख व्यक्ति

आचार्य चाणक्य जी का कहना है कि अगर आप मूर्ख व्यक्तियों की सहायता करते हैं तो आप उल्टा फंस सकते हैं क्योंकि मूर्ख व्यक्तियों की सहायता करने से अगर कोई समस्या आ जाती है तो उसका जिम्मेदार आप को ही ठहराया जाएगा इसलिए आप मूर्ख व्यक्तियों की मदद ना करें अन्यथा सारा दोष आपके ऊपर ही आएगा।

लूटपाट और गलत कार्य करने वाले व्यक्ति

आचार्य चाणक्य जी का कहना है कि अगर आप लूटपाट और गलत कार्य करने वाले व्यक्तियों की सहायता करते हैं तो आप खुद मुसीबत में आ सकते हैं क्योंकि ऐसे व्यक्ति हमेशा गलत कार्य करने में लगे रहते हैं जिसकी वजह से अगर उनके ऊपर कोई मुसीबत आती है तो आपका नाम भी आ सकता है ऐसे लोगों की मदद करने से आप भी उनके साथ शामिल माने जाएंगे इसलिए आप ऐसे व्यक्तियों का साथ ना दे।

दुखी रहने वाले व्यक्ति

जो व्यक्ति हमेशा दुखी रहते हैं और अपनी परेशानी लोगों को सुनाते रहते हैं ऐसे व्यक्तियों की सहायता नहीं करनी चाहिए क्योंकि ऐसे व्यक्ति सारा इल्जाम हम पर डाल सकते हैं मान लीजिए अगर आपने किसी दुखी रहने वाले व्यक्ति की सहायता की और उसके ऊपर कोई परेशानी आ गई तो वह सारा इल्जाम आपके ऊपर ही लगा देगा उसका ऐसा कहना होगा कि तुमने मेरी सहायता की इसलिए ऐसा हो गया इन्हीं सब कारणों से आप ऐसे व्यक्तियों की सहायता ना करें।

दुष्ट महिला

जिन महिलाओं का समाज में नाम खराब हो जो महिला समाज के नजर में बदनाम है ऐसी महिलाओं की मदद नहीं करनी चाहिए अगर आप ऐसी महिलाओं की सहायता करते हैं तो समाज आपको ही गलत ठहराने लगेगा चाहे आप सिर्फ उसकी मदद कर रहे हैं परंतु समाज यह सब नहीं देखेगा और आपको भी गलत मानने लगेगा।

Back to top button