स्वास्थ्य

काली मिर्च के सेवन करने से दूर होते हैं ये 7 बीमारियां, नंबर 5 से तो हर कोई है परेशान

काली मिर्च का इस्तेमाल आमतौर पर घरों में मसालों के रूप में किया जाता है। मगर इसके बहुत से स्वास्थय संबंधी उपयोग भी हैं। काली मिर्च किसी औषधि से कम नहीं है। आयुर्वेद में भी काली मिर्च के बहुत से उपयोग बताए गए हैं, यहाँ तक कि इसका प्रयोग औषधि के रूप में भी किया जाता है। काली मिर्च के गुणों से अगर आप परिचित हो जाएँगे तो इसका उपयोग आप घरों में औषधि के रूप में भी कर सकते हैं। काली मिर्च के जरिए घर में ही दवा बनाकर इसका प्रयोग खांसी, जुकाम, जैसी बीमारियों से राहत पाने के लिए कर सकते हैं। अतः कहा जा सकता है कि काली मिर्च का प्रयोग दवा और मसाला दोनों रूपों मे किया जाता है। काली मिर्च में खास तौर से विटामिन ए, विटामिन ई, विटामिन के, विटामिन सी, सोडियम, पोटैशियम, फोलेट, कोलाइन आदि भी पाए जाते हैं। तो आइए जानते हैं कि काली मिर्च के सेवन से क्या क्या फायदे हैं और किस तरह के स्वास्थय लाभ हैं और यह किन किन बीमारियों को दूर भगाने में मदद करती है।

  • पाचन शक्ति बढ़ाए- काली मिर्च शरीर में हाइड्रोक्लोरिक एसिड एसिड के स्त्राव को बढ़ाता है। और यह हमारे टेस्ट बड्स को भी बढ़ावा देता है, जो बेहतर और स्वस्थ पाचन में मदद करता है। हाइड्रोक्लोरिक एसिड के कमी से पाचन तंत्र में गड़बड़ी आती है। और इसकी कमी ही हमारे पाचन प्रक्रिया को खराब करता है, काली मिर्च के सेवन से इसेमें बढ़ोतरी होती है।
  • पेट में गैस और एसिडीटी से छुटकारा- पेट में अगर गैस की वजह से दर्द है और आपका लंबे समय से इस बीमारी से पीछा नहीं छुट रहा है तो रोज नींबू के रस के साथ काली मिर्च का सेवन करें। इस परेशानी से जल्द ही छुटकारा मिलेगा।

  • सर्दी और जुकाम से छुटकारा- काली  मिर्च में रोगाणुरोधी गुण पाए जाते हैं। यह शरीर के अंदर कफ को कम करने में सहायक होते हैं। इसलिए काली मिर्च का प्रयोग सर्दी और जुकाम के दौरान व्यापक रूप में की जाती है।
  • दांत और मसूड़ों की कमजोरी को करे दूर- मुँह से संबंधी परेशानी जैसे दाँतो से खून आना और बदबू भगाने के लिए भी काली मिर्च का प्रयोग किया जाता है। काली मिर्च सूजन को कम करने में सहायक होते हैं। इसलिए मसूड़ों के सूजन में इसका प्रयोग किया जाता है।
  • तनाव कम करने के लिए- चिकित्सक बताते हैं कि सिरोटोनिन नामक पदार्थ के कम होने से तनाव और डिप्रेशन बढ़ता है। काली मिर्च में मौजूद पिपेरिने नामक पदार्थ सिरोटोनिन को बढ़ाने में सहायक होता है। और यह एक एंटीडिप्रेशन का काम भी करता है।

  • रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी- सुबह सुबह एक गिलास पानी में काली मिर्च मिलाकर पीने से आपके रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी होती है। यह एक सामान्य औषधि है जो आसानी से घरों में मौजूद होते हैं।
  • डिहाइड्रेशन- शरीर में पानी की कमी से थकान का एहसास होता है। इससे बचने के लिए गर्म पानी के साथ काली मिर्च डालकर इसका सेवन करने से आपको फायदा होगा। और आपके शरीर में पानी की समस्या नहीं होगी।

Related Articles

Close