वायरल जोक्स: पत्नी ने सुबह उठते ही अपने पति को पंखे से रस्सी बांधते देखा, पत्नी घबराकर बोली…

आजकल के इस स्ट्रेस भरी लाइफ में इंसान जैसे हंसना ही भूल गया है. वह काम में इतना मशगूल हो गया है कि खुद के लिए वक्त ही नहीं निकाल पाता. लेकिन खुद पर इतना जुल्म ढाना भी गलत है. अगर आप अपने साथ ऐसा करेंगे तो वह दिन दूर नहीं जब तरह-तरह की बीमारियां आपको अपने चपेट में ले लेंगी. इसलिए स्वस्थ रहने का पहला मंत्र यही है कि खुद के लिए थोड़ा समय निकालना और मन को प्रसन्न रखना. यदि आपका मन प्रसन्न रहेगा तभी आप स्वस्थ रहेंगे. अब प्रश्न ये है कि मन को खुश करने के लिए क्या किया जाए. क्या किया जाए जो दिनभर की थकान दूर हो जाये और चेहरे पर हलकी सी मुस्कान आ जाए. यह सुनने में आपको बहुत मुश्किल लग रहा होगा लेकिन है बहुत आसान. यदि आप दिन भर के बिजी शेड्यूल में से 15 मिनट निकाल कर इंटरनेट पर वायरल जोक्स पढ़ लेंगे तो आपकी दिनभर की थकान भी दूर हो जायेगी और मन भी प्रसन्न रहेगा. इसलिए आज के इस पोस्ट में हम आपके लिए ऐसे ही कुछ मजेदार जोक्स लेकर आये हैं, जो सोशल मीडिया बहुत वायरल हैं. तो देर किस बात की है, चलिए शुरू करते हैं हंसने हंसाने का ये खूबसूरत सिलसिला.

टीचर- होमवर्क क्यों नही किया?
पप्पू- सर, लाइट नही थी
टीचर- तो मोमबत्ती जला लेते
पप्पू- सर, माचिस नही थी

टीचर- माचिस क्यों नही थी
पप्पू- पूजा घर में रखी थी
टीचर- तो वहां से ले आते
पप्पू- नहाया हुआ नही था

टीचर- नहाये क्यों नही थे
पप्पू- पानी नही था सर
टीचर- पानी क्यों नही था
पप्पू- सर मोटर नही चल रही थी

टीचर- उल्लू के पट्ठे, मोटर क्यों नहीं चल रही थी
पप्पू- सर बताया तो था, लाइट नही थी!

दारू और सिगरेट पीने वाला इंसान कभी मतलबी
नही होता क्योंकि….
जिसे अपने शरीर से ही मतलब नहीं,
वो भला किसी के बारे मे कैसे बुरा सोच सकता है

संता मोबाइल कंपनी में नौकरी लेने गया तो पहले ही
सवाल का जवाब देने पर उसको भगा दिया गया.
सवाल- सबसे बड़ा नेटवर्क कौन सा है?
संता- कार्टून नेटवर्क!

 

 

संता- मेरे दोस्त, तू जुआ खेलना छोड़ दे
बंता- क्यों तेरे बाप का क्या जाता है?
संता- भाई ये गंदी आदत है..

इसमें तू आज जीतेगा फिर कल हारेगा,

फिर अगले दिन जीतेगा फिर हारेगा.

बंता- मैं समझ गया भाई..
अब मैं एक दिन छोड़ के खेला करूंगा

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि इन मजेदार जोक्स ने आपको गुदगुदाया होगा. पसंद आने पर लाइक और शेयर करना ना भूलें.