दो सुपरहिट फिल्में देने के बाद गुम हो गई ये खूबसूरत एक्ट्रेस, आज जी रही है गुमनामी का जीवन

बॉलीवुड एक ऐसी दुनिया है जहां हर दिन हजारों लोग एक बड़ा सितारा बनने की चाहत लेकर आते हैं लेकिन हर किसी की किस्मत एक जैसी नहीं होती.  आज हम बात कर रहे खूबसूरत अभिनेत्री ग्रेसी सिंह की जिन्होंने कई टीवी सीरियल और फिल्मों में काम किया लेकिन बाद में कहां गायब हो गईं इसके बारे में बहुत कम लोग ही जान पाए. दो सुपरहिट फिल्में देने के बाद गुम हो गई ये खूबसूरत एक्ट्रेस, इनकी खूबसूरती पर आमिर से लेकर संजय दत्त तक मरते थे लेकिन बाद में इन्होंने फिल्मी दुनिया छोड़कर ऐसी जिंदगी बितानी शुरु कर दी जैसी हर आम लड़की बिताना चाहती है.

20 जुलाई, 1980 को दिल्ली में जन्मी ग्रेसी सिंह ने अपने करियर की शुरुआत द प्लैनेट्स नाम के डांस ग्रुप में डांस करके की थी. इसके बाद इन्हें एक सीरियल में काम करने का मौका मिला और ये मुंबई आ गईं. यहां जी टीवी पर आने वाले डेली सोप अमानत में लीड रोल मिला और ये सीरियल बहुत पॉपुलर रहा. इसमें उनकी खूबसूरती के दीवाने हुए आमिर खान ने अपनी फिल्म लगान के लिए इन्हें लीड रोल ऑफर किया. आमिर खान जैसे एक्टर और आशुतोष गोवारिकर जैसे निर्देशक को भला कौन मना करना चाहेगा. ग्रेसी सिंह ने भी उन्हें हां कह दी और वे बन गईं लगान की ‘गौरी’, इसमें काम करने के लिए ये कई अवॉर्ड्स के लिए नॉमिनेट हुई लेकिन आईफास जी सिने और स्क्रीन अवॉर्ड ही इनके नाम रहा. इसके बाद ग्रेसी सिंह ने तेलुगु भाषा में कुछ फिल्में कीं और एक बार फिर बॉलीवुड का रुख लिया.

इनकी दूसरी सुपरहिट फिल्म थी मुन्नाभाई एमएमबीबीएस, जिसमें ये डॉक्टर सुमन के लीड किरदार में थीं. इस फिल्म की सफलता किसी से छिपी नहीं है और इसमें भी इन्हें कई अवॉर्ड्स का हकदार बनाया था. ग्रेसी सिंह का जादू बॉलीवुड पर छाने लगा और इन्होंने कई फिल्मों में काम किया लेकिन ये सफलता ज्यादा समय तक नहीं टिकी और इन्होंने फिल्मों से दूरियां बना लीं.

लगान और मुन्नाभाई एमबीबीएस जैसी ब्लॉकबस्टर देने वाली ग्रेसी सिंह अब 37 साल की हो गई हैं लेकिन शादी से इनका दूर-दूर तक कोई वास्ता नहीं है. ग्रेसी सिंह इस समय ब्रह्मकुमारी संस्था से जुड़ी हैं और अब लोग उनका आशिर्वाद लेने पहुंचते हैं. ग्रेसी ने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि एक बार धारावाहिक जय संतोषी मां में संतोषी मां का किरदार निभाते-निभाते वे अपने अंदर कुछ खास पावर महसूस करने लगती हैं. सीरियल तो बंद हो गया लेकिन उसके बाद भी वे अपने अंदर कुछ अलग महसूस करती थीं फिर उन्होंने ब्रह्मकुमारी संस्था के बारे में सुना और इससे जुड़ने का फैसला किया. आज उनकी बहुत से अलग-अलग लोगों से मुलाकात होती है जिनके अंदर रूहानी शक्तियां होती हैं और उन्हें लगता है कि वे भगवान हैं. जब वे संतोषी मां का किरदार निभाती थीं तो लोग उनका आशिर्वाद लेने आया करते थे. ग्रेसी ने अपने एक इंटरव्यू में ये भी बताया था कि वे फिल्मों में लंबी पारी नहीं खेलना चाहती थीं लेकिन एक ऐसा किरदार निभाना चाहती थीं जो बॉलीवुड के इतिहास में लिया जाए और उन्होंने ऐसा करके भी दिखाया.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

error: Content is protected !!