ईवीएम पर फिर मचा घमासान, शिवसेना बोली ‘बीजेपी की रखैल बना चुनाव आयोग’

देश के विभिन्न राज्यों में हुए उपचुनावों में ईवीएम और वीवीपैट में खराबी को लेकर विपक्ष ही नहीं बीजेपी की सहयोगी पार्टियों के भी सुर बुलंद है। जी हां, वोटिंग मशीन में खराबी होने की वजह से न सिर्फ चुनाव आयोग को आड़े हाथों लिया जा रहा है, बल्कि बीजेपी को भी खरी खोटी सुनाया जा रहा है। इन सबके बीच शिवसेना ने बीजेपी पर बड़ा हमला बोला है। शिवसेना ने सामना पत्र में बीजेपी को लेकर कड़ी टिप्पणी की है। चलिए जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने अपने संपादकीय में बीजेपी को खरी खोटी सुनाया है। शिवसेना ने सामना में लिखा कि सत्ताधारी पार्टी अपने फायदे के लिए तानाशाही का रवैया अपना रही है। यही वजह है कि वो अपने फायदे के लिए ईवीएम में खराबी कर रही है, ताकि वो हर चुनाव में अच्छा प्रदर्शन कर सके। दरअसल, उपचुनाव में ईवीएम की खराबी की बात सामने आई, जिसको लेकर पूरा विपक्ष निशाना साध रहा है।

शिवसेना ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए लिखा कि हिंदुस्तान दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है, ऐसे में डंका पीटने का अब कोई मतलब नहीं रह गया है, क्योंकि ईवीएम ने देश की लोकतंत्र की धज्जियां उड़ा रहा है। पर सत्ताधारी पार्टी अपने फायदे के लिए लोकतंत्र का मजाक उड़ाने से पीछे नहीं हट रही है। इस दौरान शिवसेना ने बीजेपी पर आरोप लगाया कि बीजेपी चुनाव प्रक्रिया का मजाक उड़ा रही है, ईवीएम में खऱाबी उसी ने ही करवाया है।

बीजेपी की रखैल बना चुनाव आयोग: शिवसेना

शिवसेना ने आगे लिखा कि भाजपा वालों ने ईवीएम को भ्रष्ट कर खुद के इस्तेमाल की मशीनरी बना लिया है,  इसलिए चुनाव और चुनाव आयोग पीला हाउस के जंग लगी कोठियों की तवायफ बन गया है। इतना ही नहीं, चुनाव आयोग पर निशाना साधते हुए शिवसेना ने कहा कि बीजेपी का बचाव चुनाव आयोग ऐसे करता है, जैसेकि वो उसकी रखैल हो। सामना के अपने लेख में शिवसेना ने आगे लिखा कि ईवीएम की मेहरबानी और लोकतंत्र को खतरे में डालकर बीजेपी अपना डंका बजा रही है।

बताते चलें कि शिवसेना ने आगे कहा कि वर्तमान चुनाव आयोग और उनकी मशीनरी सत्ताधारियों की चाटुकार बन गई है, इसलिए वे चुनाव में किये जाने वाले शराब के वितरण, पैसे बांटना, सत्ताधरियों की तानाशाही, धमकी भरे भाषणों के खिलाफ शिकायत लेने को तैयार नहीं हैं, क्योंकि वो भी बीजेपी की गोदी में जाकर बैठी हुई है। याद दिला दें कि यूपी के कैराना में हुए उपचुनाव में ईवीएम में खराबी पाई गई, जिसकी वजह से मामला बढ़ता ही जा रहा है।

Shreya Pandey

Web Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published.

4 × three =