तेजप्रताप की शादी पर बीजेपी की चुटकी ‘विपक्ष की एकता की हवाबाजी गुल’

तेज प्रताप की शादी  को लेकर अब सियासत शुरू हो चुकी  है। जी हां, तेजप्रताप की शादी पर बीजेपी ने चुटकी ली है। तेजप्रताप की शादी शनिवार को हुई। इस दौरान तेज की शादी अभी भी सुर्खियों में है। अब इस मसले पर बीजेपी ने मेहमानों के ना आने पर भी चुटकी लिया है। शादी से पहले ही इसे सियासी चर्चा का मंच बताया जा  रहा था, लेकिन आरजेडी ने पहले ही इसे इनकार कर दिया था। तेज की शादी शाही अंदाज में हुई। हजारों की संख्या में मेहमान शामिल हुएं हैं, इस दौरान कुछ हादसे भी देखने को मिले। चलिए जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

लालू के बेटे के शादी को लेकर विपक्ष के सभी नेताओं को न्यौता दिया  गया था, लेकिन अखिलेश दिन में ही लालू के यहां वो आएं, तो वहीं बाकि विपक्षी नेता इस शादी से दूरी बनाए दिखे। खबर थी कि राहुल गांधी अपनी बहन के साथ शादी में शामिल होंगे, लेकिन राहुल के न आने की वजह से बीजेपी ने चुटकी ली। वैसे भी विपक्ष के नेताओं के आने की संभावनाएं ज्यादा थी, लेकिन आएं सत्ताधारी पार्टी के नेता। जिसकी वजह से अब बीजेपी चुटकी लेती हुई नजर आ रही है।

बीजेपी का कहना है कि 2019 में विपक्ष की ताकत की हवा तो अभी ही निकल आई। दरअसल, सोनिया, राहुल और ममता के न आने पर बीजेपी ने वार करते हुए  कहा कि लालू को इनमें से कोई भी अपना नेता नहीं मानता है, जिसकी वजह से कोई भी शादी में शामिल नहीं हुआ। हालांकि, आरजेडी ने इस पर सफाई देते हुए कहा कि शादी समारोह सामाजिक कार्यक्रम है, इसे राजनीति से जोड़ना बिल्कुल गलत है। साथ ही आरजेडी ने कहा कि हम शादी के मंच को राजनीति से नहीं जोड़ते हैं। आपको बता दें कि तेजप्रताप की शादी में नीतीश कुमार शामिल हुए थे।

तेजप्रताप की शादी को लेकर एक अनोखा काम यह भी हो गया कि लोग शादी में से सारा सामान लेकर भाग रहे थे। गौरतलब है  कि रिपोर्ट ये  आ रही है कि तेज की शादी लोग कोलड्रिंक और मिठाई लेकर इधर उधऱ भाग रहे थे। खाने की जगह एक साथ भीड़ टूट पड़ी जिसकी वजह से लालू के बेटे की शादी का मजा थोड़ा सा किरकिरा जरूर हो गया। इसके अलावा मंच भी टूट गया था, जिसकी वजह से करीब 20 लोग मंच से नीचे गिर गये थे।

बताते चलें कि तेज की शादी में नीतीश और रामविलास जैसे बड़े नेता दिखाई दिये, जिसकी वजह से शादी में सियासत होनी शुरू हो चुकी। हालांकि, लालू परिवार ने बीजेपी नेताओं को भी शादी में आने का न्यौता दिया था, लेकिन अमित शाह नहीं गये तो वहीं पीएम मोदी शायद नेपाल दौरे की वजह से शादी में नहीं शामिल हो पाए। राहुल गांधी की बात करे तो कर्नाटक चुनाव के प्रचार से वो शायद थक गये होंगे इसलिए अभी उनका ध्यान सिर्फ नतीजों पर है।

Shreya Pandey

Web Journalist