रिलेशनशिप्स

जब भी मिले एकांत तो पति-पत्नी को रखना चाहिए इन बातों का ध्यान, बना रहता है सुखी वैवाहिक जीवन

हर व्यक्ति के जीवन में कुछ चीजों का बहुत ही ज्यादा महत्व होता है। कुछ ऐसी भी चीजें होती हैं, जो लगभग हर व्यक्ति के जीवन में होती है। उन्ही में से एक है शादी। शादी को हिन्दू धर्म में एक संस्कार की तरह माना जाता है। यही वजह है कि हिन्दू धर्म को मानने वाला हर व्यक्ति शादी के बंधन में बंधता है। हालाँकि इसमें अपवाद भी है। कुछ लोग शादी के बंधन में नहीं बंधना चाहते हैं। शादी हर व्यक्ति के लिए बहुत महत्वपूर्ण पल होता है। शादी के बाद व्यक्ति की जिम्मेदारियां बढ़ जाती हैं और उसकी प्राथमिकताओं में भी बदलाव आ जाता है।

शादी के बाद हर पुरुष के जीवन में एक और महिला आ जाती है, जिसे उसका ख़याल रखना होता है और उसे प्यार देना होता है। अगर व्यक्ति का वैवाहिक जीवन सुखी होता है तो धरती पर ही स्वर्ग की अनुभूति होने लगती है। लेकिन अगर इसके उलट शादीशुदा जीवन सुखी नहीं है तो व्यक्ति का जीवन परेशानियों और दुःख से भर जाता है। आज के समय में ज्यादातर लोगों के साथ ऐसा ही हो रहा है। आज पति-पत्नी के बीच में प्रेम की कमी आसानी से देखी जा सकती है। सुखी वैवाहिक जीवन के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत ही जरूरी होता है।

पति-पत्नी रखें इन बातों का ध्यान:

*- अक्सर ऐसा देखा जाता है कि पति-पत्नी एकांत में होने के बाद भी किसी और चीज के बारे में बात करते रहते हैं। जबकि बेडरूम में होने पर पति-पत्नी को केवल अपने बारे में बात करनी चाहिए। उस समय किसी तीसरे व्यक्ति के बारे में बात करने पर वैवाहिक जीवन खतरे में पड़ जाता है।

*- सुखी वैवाहिक जीवन के लिए सबसे ज्यादा जरुरी यह होता है कि आप अपने पार्टनर को अच्छे से समझें। अगर आपका साथी किसी बात के लिए नाराज है और गुस्सा कर रहा है तो आप भी उसपर गुस्सा ना करें, बल्कि उसे प्यार से मनाएं। अगर दोनों एक ही बात के लिए साथ-साथ गुस्सा हो जायेंगे तो बात बनने की बजाय बिगड़ जाएगी। जब व्यक्ति गुस्से में होता है तो उसकी सोचने-समझने की क्षमता ख़त्म हो जाती है। इसलिए गुस्से में कोई भी फैसला लेने से बचना चाहिए।

*- हर व्यक्ति अलग होता है और इसके साथ ही उसकी सोच भी अलग होती है। जरूरी नहीं है कि आप जिस बात को सही मानते हैं, आपका पार्टनर भी उसी बात को सही मानें। किसी बात को लेकर उसकी अपनी एक अलग सोच भी हो सकती है। कई बार एक विषय पर बात करते समय पति-पत्नी के तर्क अलग-अलग होते हैं और दोनों आपस में लड़ने लगते हैं। यह बिलकुल गलत तरीका होता है। इससे रिश्ते में दरार जल्दी आ जाती है।

*- हर व्यक्ति को अपनी तारीफ सुनना अच्छा लगता है। अगर वह तारीफ जीवनसाथी करता है तो और भी ज्यादा ख़ुशी होती है। इसलिए हर पति-पत्नी को एक-दूसरे के बारे में हर रोज कम से कम एक अच्छी बात कहनी चाहिए। इससे दोनों के बीच प्रेम बढ़ता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close