राजनीति

राहुल गांधी का पीएम मोदी पर व्यंग्य ‘पेपर लीक से बच्चों का भविष्य हुआ बर्बाद, जल्दी ही आएगा…’

सीबीएसई पेपर लीक मामले को लेकर राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर तंज कसा। जी हां, पेपर लीक को लेकर राहुल पहले भी पीएम मोदी को आड़े हाथों लिया था, ऐसे में एक बार फिर बीजेपी को घेरा है। जब से पेपर लीक की खबर आई है, तब से ही कांग्रेस बीजेपी पर हमलावर है, ऐसे में राहुल ने एक बार फिर से पीएम मोदी पर जबरदस्त हमला बोला है। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?


पेपर लीक मामले में जहां एक तरफ लाखो बच्चे परेशान हैं, तो वही दूसरी तरफ इस मामले में सियासत जारी है। जी हां, तमाम नेता इस मुद्दे को लेकर सरकार पर आरोप लगा रहे हैं, लेकिन कोई भी इस मामले को लेकर गम्भीर नहीं दिखाई दे रहा है। यहाँ छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा था, तो उधर देश के नेता अपनी सियासी रोटियां सेकने में लगे हुए। बता दें कि गुरुवार को राहुल गांधी ट्वीट करते हुए था कि और कितने लीक? दरअसल, एक के बाद एक चीजें लीक हो रही है, जिसको लेकर राहुल गांधी एक भी मौका नहीं छोड़ते है।


कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि पीएम ने एग्जाम वॉरियर्स लिखी थी, एक किताब जो एग्जाम के दौरान छात्रों को तनाव से मुक्त रहना सिखाएगी, ऐसे में अब अगली, एग्जाम वॉरियर्स-2, एक किताब जो पेपर लीक होने से बर्बाद हुई जिंदगी के बाद छात्रों और अभिभावकों को तनाव से राहत दिलाएगी, इस पर आएगी। गौरतलब है कि पीएम मोदी ने बोर्ड परीक्षाओं से परेशान छात्रों के लिए एग्जाम टिप्स दिया था, जिसको लेकर अब राहुल ने तंज कसा। राहुल गांधी का कहना है कि पेपर लीक से बच्चों का भविष्य खराब हुआ है, ऐसे में अब पीएम मोदी की अगली किताब जल्द ही आएगी।

राहुल गांधी ने पहले कहा था कि एसएससी पेपर लीक, डेट लीक, डाटा लीक और अब सीबीएसई पेपर लीक, ऐसे में चौकीदारी वीक हो चुकी है, लेकिन अब एक साल और बचा है। इतना ही नहीं इस मामले में कांग्रेस ने प्रकाश जावड़ेकर और सीबीएसई चीफ से इस्तीफे की मांग भी किया था। साथ ही सीबीएसई चीफ को लेकर कहा था कि यहां पेपर लीक हुआ, और वहाँ चीफ किताब प्रोमोशन कर रही है, उन्हें टेंशन ही नहीं है।

गौरतलब है कि दसवीं की गणित और बारहवीं की अर्थशास्त्र की पेपर लीक होने की वजह से सीबीएसई ने इन दोनों पेपर्स को दोबारा करवाने का ऐलान किया है, जिसको लेकर देशभर में छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं। फिलहाल इस मामले में पुलिस और क्राइम ब्रांच जांच कर रही है। अभी तक आई खबरों के मुताबिक सीबीएसई को पहले से ही पेपर लीक की भनक थी, लेकिन उसने हल्के में लिया। इतना ही नहीं, सूत्रों की माने तो 35 हजार में एक पेरेंट्स ने पेपर को खरीदा था, जिसके बाद पैसे कमाने की लालच में उसने पेपर को बेचना शुरू किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close