ब्रेकिंग न्यूज़

ISIS के वे आतंकी जिनके नाम से काँपती थी मौत; जानिए – आखिर किसने किया इन्हें महिलाओं के कपड़े पहनने को मजबूर

बगदाद : लोगों पर बेसुमार अत्याचार करने वाले आईएस आतंकी मौत को सामने देख बुर्के में छुपते भागते दिखे। जी हां, ये सच है। दुनिया के सबसे खतरनाक आतंकवादी संगठन आईएस के ये आतंकी अब अपनी जान बचाने के लिए महिलाओं के कपड़े पहनने को मजबूर हो गए हैं। दरअसल, इराक़ के मोसुल शहर को आतंकी संगठन इस्‍लामिक स्‍टेट (ISIS) के क़ब्ज़े से छु़ड़ाने के लिए इराक़ी सेना ने एक बड़ा अभियान जारी किया है। इसी दौरान इस्लामिक स्टेट के कुछ आतंकी महिलाओं के कपड़े पहनकर भागते हुए पकड़े गए।  Iraqi forces reaches mosul to end ISIS.

अपने ही गढ़ में घिरे आतंकी  –

इराक़ी सेना के इस अभियान को देखते हुए इस्लामिक स्टेट के सरगना अबू बकर अल-बगदादी ने आदेश दिया था कि आतंकियों की पत्नियों और गर्लफ्रेंड्स को शहर से बाहर भेज दिया जाए। और इस मौके का फायदा उठाते हुए कुछ आतंकी महिलाओं के कपड़े पहनकर भागने की फिराक में थे, लेकिन वे पकड़े गए।  इराकी और कुर्दिश फौज के अलावा पश्चिमी देशों ने यहां इस्लामिक स्टेट के खिलाफ चार दिन पहले निर्णायक जंग छेड़ दी थी। अपने ही गढ़ में घिरे आतंकी अब बचने के लिए कोशिश कर रहे हैं।

बगदादी को मिला आइएस के सभी बड़े कमांडरों का साथ –

मीडिया कि खबरों के अनुसार, आइएस के सबसे बड़े लड़ाकू इस वक्त बगदादी के साथ खड़े हैं। वहीं, लड़ाई के मैदान से भाग रहे इन आतंकियों को लेकर अमेरिकी सेना से लेकर फ्रेंच राष्ट्रपति तक ने चिंता जताई है। ऐसा माना जा रहा है कि अगर ये आतंकी किसी तरह सीरिया से होते हुए रक्का पहुंच गये तो वहां ये अन्य आतंकियों संगठनों से मिलकर दोबारा सक्रिय हो जाएंगे।

हवाई हमले से बचने के लिए लगाई तेल के कुओं में आग –

आतंकी तेल के कुओं में आग लगा रहे हैं, जिससे सैन्य कार्रवाई में बाधा पहुंचे और इराकी सैना बम ना गिरा सके। अमेरिकी सेना के मेजर जनरल गैरी वोलेस्की का कहना है कि सैन्य कार्रवाई से घबराकर इस्लामिक स्टेट के कमांडर इलाके से भागने लगे हैं।  वहीं, इस्लामिक स्टेट के आतंकी शहर से सुरक्षित बाहर निकलने के लिए मानव ढाल का भी प्रयोग कर रहे हैं।

 

Related Articles

Close