ब्रेकिंग न्यूज़

शिवसेना सांसद का बड़ा बयान, ‘कभी एनडीए का हिस्सा थी ममता, आज अछूत हो गई क्या?’

बंगाल की सीएम ममता बनर्जी इन दिनों विपक्षीय नेताओं को जोड़ने की कवायद में लगी हुई है, ऐसे में वो शिवसेना सांसद संजय राउत से भी मिली, जिसको लेकर सियासी गलियारों में हलचलें तेज हो गई, इतना ही नहीं सोशल मीडिया पर इसको लेकर संजय राउत पर लोगों ने तरह तरह कमेंट किये। बात तब बढ़ी जब बीजेपी नेताओं ने संजय और ममता के मुलाकात को लेकर तंज कसा, ऐसे में अब शिवसेना सांसद संजय राउत ने करारा जवाब दिया है। आइये जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

ममता और संजय की मुलाकात को लेकर अटकलें लगाई जा रही थी कि शिवसेना भी ममता का साथ देगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। जी हां, संजय राउत ने इस बात को नाकार दिया कि शिवसेना किसी भी मोर्चे में शामिल हो सकती है, ऐसे में ममता की कोशिशे भले ही नाकाम रही हो, लेकिन शिवसेना सांसद ने ममता की जमकर तारीफ की। बता देंं कि संजय राउत ने कहा कि ममता बनर्जी शिवसेना का बहुत सम्मान करती है, ऐसे में कुछ बाते उन्हें शिवसेना से कहनी थी, इसलिए हमारी मुलाकात हुई।

संजय राउत ने कहा कि जब पीएम मोदी पाकिस्तान जाकर नवाज शरीफ से मिल सकते हैं, तो मैं ममता बनर्जी से क्यों नहीं मिल सकता  हूं? जबकि ममता तो भारत की नागरिक है, और एक राज्य की सीएम भी है, ऐसे में लोगों को इससे कोई आपत्ति तो नहीं होनी चाहिए, लेकिन लोगों को बहुत आपत्ति होती है, जोकि सरासर गलत है। ऐसे में संजय राउत ने ममता की तारीफ भी की।

शिवसेना ने आगे कहा कि एक समय ममता एनडीए की हिस्सा रह चुकी हैं, ऐसे में जब वो एनडीए से अलग हुई तो क्या वो अब अछूत हो गई? इसके बाद संजय राउत ने कहा कि ममता एक कोशिश कर रही है, ताकि देश को बचाया जा सके, इसमें किसी कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए, लेकिन शिवसेना किसी भी मोर्चे में शामिल नहीं होगी, हमारी बैठक सिर्फ एक नार्मल थी, जिसमें ममता बनर्जी ने अपनी बात रखी, तो हमने भी रखी, इसके आगे कुछ भी नहीं।

याद दिला दें कि इन दिनों ममता बनर्जी दिल्ली के दौरे पर है, जिसकी वजह से राजनीतिक गलियारो में हलचलें तेज हैं। बता दें कि ममता विपक्ष एकता को जुट करने की कोशिश कर रही हैं, जिसकी वजह से वो विपक्षीय पार्टियों के नेताओं के साथ मिलकर विपक्ष की रणनीति बना रही है। ऐसे में सवाल ये खड़ा होता है कि क्या ममता अपनी इस कोशिश में सफल हो पाती हैं या नहीं? ये तो खैर, वक्त ही बताएगा।

Related Articles

Close