मायावती बोलीं ‘कुंडा के गुंडा जाल में न फंसते अखिलेश तो बीएसपी प्रत्याशी की होती जीत’

राज्यसभा की सीट हारने के बाद मायावती ने शनिवार को प्रेस कांन्फ्रेस की, ऐसे में जहां एक तरफ मायावती अखिलेश की तरफदारी करती हुई दिखी तो वहीं दूसरी तरफ बीजेपी पर जमकर बरसी। जी हां, मायावती ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि बीजेपी प्रदेश में अराजकता फैला रही है, जोकि प्रदेश की जनता के लिए किसी भी नजरिये से ठीक नहीं है। आइये जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

बसपा सुप्रीमो मायावती ने बीजेपी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि बीजेपी ने धोखे औऱ धन के बल से हमारे विधायकों का अपहरण किया, जोकि बीजेपी की अराजकता मानसिकता को दर्शाती है। मायावती यही नहीं रूकी उन्होंने आगे कहा कि बीजेपी गोरखपुर और फूलपुर की हार से बुरी तरह बौखला गई है, ऐसे में राज्यसभा की जीत को लेकर सीएम योगी चाहे जितने लड्डू खा ले, लेकिन उनका बदला पूरा नहीं हो सकता है। मायावती ने आगे कहा कि बीजेपी बौखलाट में दिख रही है, यरही वजह है कि उसने एक सीट के लिए पूरी जान लगा दी।

मायावती ने आगे कहा कि बीजेपी नहीं चाहती है कि सपा और बसपा एक साथ आएं, इसलिए वो दोनों के बीच दूरियां पैद करने की कोशिश कर रही है, लेकिन हम बीजेपी की किसी भी कोशिश को कामयाब नहीं होने देंंगे, क्योंकि बीजेपी ये जानती है कि अगर बसपा और सपा एक साथ आ जाएगी, तो 2019 में बीजेपी को उत्तर प्रदेश छोड़कर जाना पड़ेगा, ऐसे में बार बार बीजेपी गेस्ट हाउस कांड का ज्रिक कर रही है, लेकिन यहां मायावती ने कहा कि गेस्ट हाउस कांड में अखिलेश का कोई हाथ नहीं है, इसके लिए वो जिम्मेदार नहीं हैं।

कुंडा के जाल में न फंसते तो होती बसपा की जीत

अखिलेश को सलाह देते हुए मायावती बोली की अगर कुंडा यानि राज भैया पर अखिलेश भरोसा नहीं करते तो बीएसपी की जीत होती, लेकिन अखिलेश कुंडा के जाल में फंस गये, जिसकी वजह से हमारी यहां हार हुई। राजा भैया पर हमला बोलते हुए मायावती ने कहा  कि राजा ने अखिलेश को धोखा दिया है, क्योंकि चुनाव से पहले राजा ने कहा था कि वो अपना वोट हमें दे देंगे, लेकिन बाद में उन्होंने हमे वोट नही किया, जोकि साफ साफ धोखा है। यहां मजेदार बात यह है कि इधर मायावती राजा भैया पर भड़की तो उधर अखिलेश ने अपना थैंक यू राजा भैया का ट्वीट डिलीट कर दिया, इससे साफ होता है कि चिंगारी दोनों तरफ से लगी हुई है।

इस दौरान मायावती गठबंधन पर भी बोलती हुई नजर आई। मायावती ने कहा कि सपा और बसपा के बीच दूरियां के लिए जो बीजेपी के मनसूबे हैं, हम उन्हें कामयाब नहीं होने देंगे, ऐसे में सपा औऱ बसपा का गठबंधन बरकरार रहेगा। बहरहाल, देखना ये होगा कि माया और अखिलेश की ये जोड़ी कितनी दूर तक चलती है?