ब्रेकिंग न्यूज़

क्या BFF लिखकर फेसबुक अकाउंट कितना सुरक्षित है जान सकते हैं? सच्चाई जान लिजिए

पिछले कुछ घंटों में फेसबुक में एक पोस्ट खूब वायरल हो रहा है जिसे लोग धड़ल्ले से शेयर कर रहे हैं और इस पर कमेंट्स भी कर रहे हैं.. क्योंकि बताया जा रहा है कि इस पर BFF वर्ड कमेंट्स कर अपने अकाउंट और डेटा की सेफ्टी को चेक किया जा सकता है। अगर आपने भी ऐसा ही कुछ किया है या करने कि सोच रहे हैं तो पहले इसकी हकीकत जान लीजिए। क्योंकि सोशल मीडिया पर वायरल होने वाले सूचनाएं अक्सर भ्रामक होती हैं और लोग बिना जाने समझे उसे शेयर करने लगते हैं। तो चलिए आपको बताते हैं फैसबुक BFF फीचर की असली हकीकत .. BFF Meaning

दुनिया भर में फेसबुक के जरिए डेटा लीक मामले को लेकर जहां हंगामा मचा है वहीं अब इसे लेकर कई सारी फर्जी सूचनाओं का दौर सोशल माडिया पर चल पड़ा है। दरअसल जैसे ही सीईओ मार्क जकरबर्ग ने डेटा लीक मामले को लेकर चुप्पी तोड़ते हुए नई डेटा सिक्योरिटी पॉलिसी लाने की बात कही, वैसे ही फेसबुक पर फेक इंफॉर्मेशन का दौर शुरु हो गया। यहां तक कि एक पोस्ट के जरिए अकाउंट और डेटा सेफ को चेक करने की बात कही जा रही है।

क्या है BFF Meaning?

जुकरबर्ग के बयान के बाद एक पोस्ट फेसबुक पर वायरल हो रहा है जिसके जरिए दावा किया गया है कि फेसबुक ने यूजर्स की डेटा की सेफ्टी के लिए एक नया समाधान ढूंढा और इसके लिए फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग ने BFF वर्ड डिजाइन किया है। ऐसे में अगर आपको अपने अकाउंट के डेटा सुरक्षा के बारे में जानना है तो इस पोस्ट के कमेंट बॉक्स में BFF टाइप करें और अगर टाइप करते ही ये शब्द हरे रंग का हो जाता है तो इसका मतलब है कि आपका अकाउंट सेफ है, पर अगर ये BFF हरे रंग में तब्दील नहीं होता तो अकाउंट खतरे में है.. इसलिए आपको अपना फेसबुक पासवर्ड तुरंत बदलना होगा।

सच क्या है? BFF

वैसे हम आपको बता दे कि ये मैसेज सिर्फ फेक इंफॉर्मेशन सोशल मीडिया पर फैला रहा है.. वास्तव में, ये BFF फेसबुक का एक स्पेशल कैरेक्टर है जो कि एक टेक्स्ट एनिमेशन है और इसके जरिए फेसबुक खास इमोशन को दिखाता है।  जैसे कि जब आप शुभकामना, Congratulations और You Got This जैसे वर्ड लिखते हैं तो वो अलग रंग में तब्दील हो जाते हैं .. ठीक वैसे ही BFF भी एक ऐसा शब्द है जिसे फेसबुक ने दोस्ती सेलिब्रेट करने के लिए डिजाइन किया है। इसमें जैसे ही कोई यूजर BFF लिखता है तो वहां दो हाथ सामने आते है और ये शब्द हरे रंग में बदल जाता है।

BFF Meaning: Best Friend Forever

यानी कि BFF कोई सेफ्टी फीचर नहीं बल्कि ये फेसबुक का सामान्य स्पेशल कैरेक्टर है .. इस तरह साफ है कि ये फेसबुक की ओर से शुरु की गई डेटा सिक्योरिटी मुहिम नहीं है बल्कि ये पोस्ट आम यूजर्स को गुमराह करने के लिए फैलाया जा रहा है.. इसलिए आप ऐसे फेक पोस्ट पोस्ट पर बिल्कुल भी यकीन ना करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close