आमिर खान की पांच बातों पर अमल करके पा सकते हैं मनचाहा मुकाम

आमिर खान को मिस्टर परफेक्टनिस्ट कहा जाता है, क्योंकि उनकी सफलता का मंत्र और मायने अलग है। उनके काम करने का स्टाइल अलग है। ऐसे में बॉलीवुड में आमिर खान को हमेशा ट्रेंडसेटर कहा जाता है। बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट बनने के लिए आमिर खान ने कुछ ऐसा किया है। जिसके लिए उन्हें लोग सबसे अलग मानते है। क्या है उनकी सफलता का मंत्र आप कैसे पा सकते हैं सफलता आज हम आपको बताते हैं।

आमिर खान न सिर्फ अच्छे कलाकार हैं बल्कि अच्छे इंसान भी हैं। बॉलीवुड में कई खान के बीच उनका अलग नाम है। आमिर सफलता की एक जीती जागती ट्रॉफी हैं। जिसकी चाहत सभी को है। ऐसे में अगर आपको भी आमिर खान की तरह एक कामयाब इंसान बनना चाहते हैं तो उनकी कुछ खास बातों को अपने जीवन में उतार लीजिए। जिसके बाद आमिर जैसे आपकी भी कामयाबी शोर मचा देगी।

पूर्ण समर्पण

जी हां समर्पण एक ऐसी चीज है, जो किसी भी काम को करने के लिए पूरी तरह से चाहिए। आप भी अगर सफलता पाना चाहते हैं तो आमिर खान से डेडिकेशन यानी समर्पण  सीखना चाहिए। आमिर हमेशा साल में एक ही फिल्म करते हैं ताकि अपना सौ प्रतिशत फिल्म को दे सकें। आमिर छोटे से रोल को भी बहुत दिल लगाकर करते हैं।

समय का पाबंद

देश दुनिया में जितने भी महान लोग हुए हैं, उन्होंने समय की पाबंदी के बारे में हमेशा लिखा है। ऐसे में समय का पाबंद होना सफलता की आधी गारंटी है। आमिर खान समय के बहुत पाबंद व्यक्ति हैं अमिताभ बच्चन को भी समय का पाबंद माना जाता है। आमिर खान को किसी भी जगह देर से पहुंचना बिल्कुल पसंद नहीं है। इंसान अगर समय की अहमियत देता है तो आमिर की तरह जीवन में कभी फेल होने का चांस नहीं रहेगा।

संपूर्ण/ परफेक्टनिस्ट

आमिर खान को पर्फेक्टनिस्ट कहा जाता है। आमिर हर काम पूरी लगन के साथ काम करते है। ऐसे में रिजल्ट शानदार आना वाजिब है। परफेक्टनिस्ट बनने के लिए उन्होने बड़ी मेहनत की है। अगर आप भी जीवन में कुछ बनना चाहते हैं कुछ करना चाहते हैं, तो आमिर के इस गुण को जीवन में उतारना पड़ेगा।

अलग राह और सोच

आमिर उन विषयों पर फिल्म बनाते हैं जिसके बारे में कोई सोच नहीं सकता, लोग फिल्म बनाने से डरते हैं। लेकिन आमिर हमेशा फिल्मों में लीक से हटकर कुछ करते हैं। आमिर बने बनाए रास्ते पर नहीं चलते वो कभी भी भेड़ चाल में विश्वास नहीं करते।  आमिर हमेशा अपना रास्ता बनाने और चलने में भरोसा रखते हैं, इसी लिए आज तक वो जो पाना चाहते थे उनको मिला है। हर व्यक्ति को अपने पर भरोसा रखकर अलग करने की सोचनी चाहिए।

खामोशी से करें अपना काम

एक कहावत है काम ऐसा शांति से करो कि सफलता शोर मचा दे। आमिर खान बॉलीवुड में इतना बड़ा नाम हैं, लेकिन कभी किसी भी किसी अवार्ड फंक्शन में नहीं जाते। इसका मतलब है कि वो नंबर एक नंबर दो में भरोसा नहीं रखते काम से उनको नंबर मिलते हैं। आमिर से आप सीख सकते हैं कि इंसान को कर्म करने में भरोसा रखना चाहिए,  शो ऑफ करने में नहीं। यकीनन सफलता आपके कदम चूमेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.