सीएम योगी बोले ‘यूपी उपचुनाव ही नहीं, 2019 भी जीतेगी बीजेपी’

देश के सबसे बड़े राज्य में रविवार को दो लोकसभा सीटों पर मतदान हुआ। जी हां, इसमें से एक सीट सीएम योगी की थी, जिन्होंने सीएम बनने के बाद वहां से इस्तीफा दिया तो दूसरी सीट डिप्टी सीएम केशव प्रताप मौर्या की थी, इन्होंने भी पद संभालने के बाद सांसद के पद से इस्तीफा दे दिया था। याद दिला दें कि 2017 में बीजेपी ने यूपी में प्रचंड बहुमत से जीत हासिल कर कमल खिलाया था। इसके बाद बीजेपी के दो सांसदों को इस्तीफा देना पड़ा था, जिसमें से एक सीएम योगी तो दूसरे डिप्टी सीएम केशव है, इनके इस्तीफे के बाद ये दोनों सीटे खाली हो गई थी, जिस पे रविवार को उपचुनाव हुए।

जी हां, फूलपुर और गोरखपुर की लोकसभा सीट के लिए मतदान हो चुके हैं। बता दें कि नतीजे 14 मार्च को आएँगे, लेकिन इससे पहले यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने बड़ा बयान दिया है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बीजेपी उपचुनाव ही नहीं बल्कि 2019 भी जीतेगी, वो भी प्रचंड बहुमत से। याद दिला दें कि सीएम योगी पहले भी उपचुनाव की इन दोनों सीटों पर जीत हासिल करने का दावा कर चुके हैं। ऐसे में यह देखना होगा कि क्या बीजेपी उपचुनाव में अपनी साख बचा पाएगी या नहीं?

दरअसल, यूपी उपचुनाव को लेकर यूपी में विपक्ष एकजुट हुई तो ऐसा माना जा रहा है कि कहीं बीजेपी की मुश्किले बढ़ न जाए। बता दें कि यूपी में सपा और बसपा के गठबंधन की वजह से राजनीतिक विशेषज्ञों का मानना है कि मुकाबला टक्कर का है, ऐसे में यह और भी दिलचस्प होगा कि क्या गठबंधन जीतेगी या फिर एक बार फिर बीजेपी यूपी की गठबंधन पार्टियों पर भारी पड़ेगी, ये तो चुनाव नतीजें ही बताएंगे।

सीएम योगी बोले, नकारात्मक राजनीति से बचे विपक्ष

बता देंं कि गोरखपुर में वोट डालने के बाद सीएम योगी ने जहां एक तरफ अखिलेश और माया के गठबंधन पर निशाना साधा तो वहीं राहुल गांधी को आड़े हाथों लेना नहीं भूले। जी हां, राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए सीएम योगी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी को नकारात्मक राजनीति से बचना चाहिए। इस दौरान कांग्रेस मुक्त भारत का हवाला देते हुए योगी ने कहा कि जिस तरह से कांग्रेस का देश से सफाया हो रहा  है, ऐसे में राहुल  को अपनी नकारात्मक राजनीति पे विशेष ध्यान देना चाहिए। इसके साथ ही सीएम योगी ने ये भी कहा कि कर्नाटक में भी कांग्रेस का सफाया होने वाला है। बता दें कि कर्नाटक में अप्रैल या मई में चुनाव हो सकते हैं, ऐसे में फिलहाल यहां कांग्रेस की सरकार है।

उत्तर प्रदेश के सीएम यही नहीं रूके उन्होंने कहा कि देश औऱ प्रदेश से वंशवाद की राजनीति का खात्मा हो रहा है, इससे इसी तरफ इशारा हो रहा है कि जल्दी ही देश से वंशवाद की राजनीति का खात्मा हो जाएगा। बताते चलें कि गोरखपुर और फूलपुर को लेकर यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव भी जीत का दावा कर रहे हैं, ऐसे में देखना ये होगा कि आखिर किसकी जीत होगी? सीएम योगी ने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में देश प्रदेश का विकास हो रहा है, ऐसे में 2019 में एक बाऱ फिर से बीजेपी की प्रचंड बहुमत से जीत होगी और नकारात्मक राजनीति का खात्मा 2014 की तरह ही होगा।

बताते चलें कि गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव के नतीजे 14 मार्च को आएंगे। साथ ही आपको यह भी बता दें कि गोरखपुर उपचुनाव में 43 फीसदी तो फूलपुर में 37.39 फीसदी ही वोटिंग दर्ज की गई। बहरहाल, सबकी निगाहें अब चुनाव परिणाम पर है, क्योंकि 25 सालों बाद बसपा औऱ सपा एक साथ आएं हैं, ऐसे में यह मुकाबला बड़ा ही दिलचस्प रहा है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.