मेघालय: पूर्वोत्तर के राज्यों में भगवा रंग अब पूरी तरह से हो गया। जी हां, शनिवार को आए चुनाव के नतीजों में मेघालय में किसकी सरकार बनेगी इसकी तस्वीरे धुंधली थी, क्योंकि किसी भी पार्टी के पास बहुमत नहीं था, जिसकी वजह से मेघालय में जोड़-तोड़ की राजनीति जारी थी, लेकिन अब तस्वीरें पूरी तरह से साफ हो गई हैं। बता दें कि मेघालय में बीजेपी गठबंधन के साथ सरकार बनाने जा रही है। आइये  जानते हैं कि मेघालय चुनाव को लेकर ताजा अपडेट क्या है?

तीन राज्यों में हुए चुनावों में से  बीजेपी दो राज्योंं में सरकार तो बनाने जा ही रही थी, लेकिन तीसरे राज्य में भी अब उसी के गठबंधन की होगी। जी हां, बीजेपी ने कांग्रेस मुक्त भारत का सपना एक कदम और पूरा कर लिया, जिससे बीजेपी में खुशी की लहर दिखाई दे रही है। बताते चलें कि  मेघालय में बीजेपी के खाते में सिर्फ दो ही सीट आई थी, इसके बावजूद जोड़ तोड़ की राजनीति कर बीजेपी वहां सरकार बनाने जा रही  है।

गौरतलब है कि यहां ंबीजेपी की भूमिका बहुत कम होगी क्योंकि गठबंधन की इस सरकार में बीजेपी के पास सिर्फ दो ही विधायक है, इसकी वजह से सीएम बीजेपी के नहीं बल्कि एनपीपी के होंगे। बता दें कि एनपीपी के कॉनराड राज्य के नये मुख्यमंत्री होंगे। कॉनराड सीएम पद की शपथ 6 मार्च को लेंगे।

मेघालय में बीजेपी एनपीपी की सरकार

आपको बता दें कि नेशनल पीपल पार्टी को राज्य में 19 सीटे मिली है तो वहीं यूडीपी को 6 सीटें मिली है। बता दें कि इसके अलावा पीडीएफ की 4 और बीजेपी-एचएसपीडीपी की 2-2 सीटे हैं। ऐसे में सभी कांग्रेस को छोड़कर एनपीपी को सभी पार्टियो ने समर्थन दिया है, जिसकी वजह से अब एनपीपी की गठबंधन के पास 34 सीटें हैं, जोकि बहुमत से चार ज्यादा है।

बता दें कि प्रदेश में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी, लेकिन उसने एक बार फिर से सरकार बनाने का मौका खो दिया। याद दिला दें कि ठीक ऐसा ही पिछले साल के विधानसभा चुनाव में भी कांग्रेस ने ऐसा ही मौका अपने हाथ से जाने दिया था। जी हां, हम बात कर रहे हैं मणिपुर और गोवा विधानसभा चुनाव की, जिसमें भी कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.