क्या आपको पता है CV, Resume और Biodata के बीच का अंतर? अच्छे-अच्छे नहीं बता पाते

सीवी, रिज्यूमे और बायोडाटा का हमारे जीवन में एक महत्वपूर्ण स्थान होता है. इंटरव्यू में जाते वक्त हम अक्सर अपना सीवी, बायोडाटा और रिज्यूमे अपने साथ ले जाते हैं. इनमें आपकी क्वालिफिकेशन से लेकर आपके सारे रिकार्ड्स लिखे जाते हैं. आपने कितनी पढ़ाई की है और और आपकी अब तक क्या-क्या उपलब्धि है ये सारी बातें सीवी, रिज्यूमे और बायोडाटा में लिखी जाती हैं. इन तीनों के बारे में अब तक हम सबने सुना है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि सीवी, रिज्यूमे और बायोडाटा में क्या अंतर होता है? CV Resume और Biodata का अंतर :

बहुत कम लोगों को ही इसके बारे में जानकारी होती है. कभी-कभी तो इंटरव्यू के दौरान भी यह प्रश्न कर लिया जाता है कि सीवी, रिज्यूमे और बायोडाटा के बीच क्या अंतर है? यदि आप भी उनमें से एक हैं जिनको इनके बीच का अंतर नहीं पता तो चलिए आज हम आपको बताते हैं. आईये जानते हैं क्या होता है CV, Resume और Biodata का मतलब .

CV (सीवी) ( CV Resume और Biodata का अंतर)

सीवी को एक पूर्ण और विस्तृत दस्तावेज माना जाता है. इसमें आपके करियर, पढ़ाई और उपलब्धियों की पूरी जानकारी होती है. यह व्यक्ति की योग्यता, अनुभव, कौशल, दक्षता और उपलब्धियों को दर्शाता है. सीवी में आपकी पूरी क्वालिफिकेशन लिखी हुई होती है और साथ ही इसमें आपके पिछले सारे कामों जैसे कि प्रकाशनों, पुरस्कार, सम्मान और अन्य गतिविधियों की जानकारी होती है. सीवी में दूसरों के रिकमेन्डेशन लेटर और कवर लेटर को भी शामिल किया जाता है. सीवी में कम से कम दो पेज तो होते ही हैं. पेजों की संख्या दो से अधिक भी हो सकती है. इसमें आपसे जुड़ी लगभग हर बात की इनफार्मेशन होती है तो इसे नौकरी के हिसाब से इसे बदलने की जरूरत भी नहीं पड़ती.

Biodata (बायोडाटा) (CV Resume और Biodata का अंतर)

बायोडाटा का फुल फॉर्म बायोग्राफिकल डाटा है. बायोडाटा में व्यक्ति अपनी पर्सनल इनफार्मेशन डालता है. इसमें व्यक्ति का मैरिटल स्टेटस, डेट ऑफ बर्थ, धर्म, जेंडर आदि की जानकारी दी जाती है. भारत में लोग बायोडाटा का इस्तेमाल अक्सर शादी से पहले अपनी पर्सनल इनफार्मेशन देने के लिए करते हैं. इसका नौकरी में भी इस्तेमाल होता है लेकिन तब जब व्यक्ति सरकारी नौकरी के लिए आवेदन करता है. इंटरनेशनल लेवल पर जहां व्यक्ति की पर्सनल इनफार्मेशन मायने नहीं रखती वहां इसका इस्तेमाल नहीं किया जाता.

Resume (रिज्यूमे) (CV Resume और Biodata का अंतर)

रिज्यूमे में आपकी शिक्षा, कार्य अनुभव, दक्षता और पिछले नौकरी में उपलब्धियों के महत्वपूर्ण बिन्दुओं का जिक्र होता है. रिज्यूमे ज्यादा बड़ा नहीं होता. यह आमतौर पर एक या दो पेज का ही होता है. रिज्यूमे छोटा होता है इसलिए इसमें उन बातों को हाईलाइट करते हैं जो उस जॉब की जरूरतों में शामिल हो. रिज्यूमे को आवेदक अपने जरूरतों के हिसाब से बदल भी सकता है. इसमें नौकरी और विशिष्ट पदों के हिसाब से बदलाव भी किया जा सकता है. रिज्यूमे में अपनी पूरी उपलब्धि शॉर्ट में लिखी जाती है.

तो ये था सीवी, बायोडाटा और रिज्यूमे के बीच का अंतर. अब आगे से पूछे जाने पर आप इसका जवाब आसानी से दे सकते हैं. दोस्तों हमें उम्मीद है कि आपको हमारी ये पोस्ट पसंद आई होगी. पसंद आने पर इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published.