विशेष

अमेरिका पर परमाणु हमला होता है तो ट्रंप को बचाने के लिए अमेरिका ने कर रखी हैं बेहद खास तैयारी

परमाणु हथियार सबसे खतरनाक माने जाते हैं और अगर इन से किसी देश पर हमला कर दिया जाए तो ये कुछ ही मिनटों में ही सबकुछ बुरी तरह तबाह कर सकते हैं। आज के समय में सबसे ज्यादा परमाणु हथियारों का जखीरा अमेरिका और रूस के पास है। अमेरीका के पास कुल 6,800 परमाणु हथियार हैं, जो कि ब्रिटेन के मुकाबले 31 गुना और चीन के मुकाबले 26 गुना ज्यादा है। लेकिन आज के समय में सिर्फ अमेरिका ही नहीं दुनिया के लगभग सभी देश परमाणु हथियारों से लैस है जिनके माध्यम से वे कुछ ही पलों में सब कुछ राख कर सकते हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है अगर इन परमाणु हथियारों से हमला होता है तो बचने के लिए सभी देशों ने कितनी तैयारी की है। (अमेरिका पर परमाणु हमला)

आज हम आपको अमेरिका द्वारा परमाणु हथियारों के हमले से बचने के लिए की गई व्यवस्था के बारे में पता रहे हैं कि अगर अमेरिका में कभी परमाणु हमला होता है तो राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को कैसे सुरक्षित रखा जा सकता है। आप जानते हैं अमेरिका एक ताकतवर देश है और इसके दुश्मन देशों की सूची भी लंबी है जिसमें उत्तर कोरिया भी शामिल हैं। उत्तर कोरिया कई बार अमेरिका को परमाणु हमले की धमकी दे चुका है। उत्तर कोरिया का सनकी तानाशाह किम जोंग उन अमेरिका पर परमाणु बम विस्फोट करा सकता है और उसका मुख्य टारगेट अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप हैं। लेकिन अमेरिका ने भी परमाणु हमलों से बचने की बेहद ही खास तैयारी करके रखी है। अगर अमेरिका में कभी परमाणु हमला होता है तो राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को खरोंच तक नहीं आएगी।

अमेरिका पर परमाणु हमला होता हैं तो

दरअसल अगर अमेरिका पर परमाणु हमला होता हैं तो अमेरिकी राष्ट्रपति के आधिकारिक निवास व्हाईट हाउस में बने खुफिया बंकर्स के सहारे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को परमाणु हमले से बचाया जाएगा। व्हाइट हाउस बहुत ही सुरक्षित जगह मानी जाती है और इस को जेम्स होबन ने तैयार किया था। व्हाइट हाउस का निर्माण 1792 से 1800 के बीच पूरा हुआ था इस का प्रयोग अमेरिकी राष्ट्रपति, उनके परिवार और उनके स्टॉफ को सुरक्षित रखने के लिए किया जाता है। व्हाइट हाउस में एक ऐसे खुफिया बंकर्स हैं जिनका प्रयोग मुश्किल की घड़ी में सुरक्षा के लिए किया जाता है और इसके बारे में बहुत कम लोग ही जानते हैं। इन बंकर्स का निर्माण अमेरिका के 33वें राष्ट्रपति हैरी एस ट्रूमैन के समय किया गया था। हमले की स्थिति में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को तुरंत ही सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया जाएगा और यहां उनके रहने की रहने की अच्छी व्यवस्था की गई है।

अमेरिका पर परमाणु हमला के वक्त अमेरिका के राष्ट्रपति के साथ-साथ कुछ चुनिंदा वरिष्ठ अधिकारियों को बंकर में जाने की इजाजत दी गई है। हालांकि कुछ लोगों का यह भी कहना है कि भले ही हमले से बचने के लिए सारी तैयारियां की जा चुकी हैं, लेकिन कोई भी बंकर परमाणु हमले की डायरेक्ट हिट से नहीं बचा पाएगी। वहीं कुछ बड़े इतिहासकारों का मानना है कि किसी भी देश की सुरक्षा के लिए बंकर का निर्माण करना बेहद जरूरी होता है। एक सर्वे में यह बात सामने आई है कि जब द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान जापान के नागासाकी शहर पर परमाणु हमला हुआ था उस वक्त अगर बंकर्स होते तो उस हमले में मारे गए लोगों में से करीब 30 फीसदी लोगों की जान बच सकती थी।

Related Articles

Close