सिगरेट ही नहीं धूपबत्ती का धुआं भी है जानलेवा, हो सकती खतरनाक बीमारियां

अक्सर आपने किसी को कहते हुए सुना होगा कि सिगरेट का धुआं हानिकारक होता है, ये बात सच है, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि घर में अगरबत्ती या धूपबत्ती का धुआं भी खतरनाक हो सकता है? जी हां, घर में पूजा पाठ के दौरान अगरबत्ती या धूपबत्ती का प्रयोग किया जाता है। ऐसे में भारतीय मान्यता के तहत इसे शुभ भी माना जाता है, लेकिन ये आपको कई बीमारियों की तरफ ले जाता है। तो आइये जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

आपको बता दें कि हाल ही में एक शोध के जरिये खुलाासा हुआ कि सिगरेट से ज्यादा खतरनाक अगरबत्ती या धूपबत्ती का धुआं होता है, जिसकी वजह से आपकी मौत भी हो सकती है। दरअसल, इसमें पाए जाने वाले पॉलीएरोमैटिक हाइड्रोकार्बन अस्थमा, कैंसर, सरदर्द और खांसी जैसी बीमारियों का कारण बन सकते है, ऐसे में आपकी हंसती खेलती जिंदगी गुमशुम बन जाती है। तो आइये जानते हैं कि शोध में किन बीमारियों की तरफ इशारा किया गया है।

हार्ट अटैक का खतरा – अगरबत्ती या धूपबत्ती का धुआं भी खतरनाक हो सकता है

बता दें कि अगरबत्ती या धूपबत्ती के धुएं में लगातार सांस लेने से दिल की कोशिकाएं सिकुड़ने लगती है, ऐसे में हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है।

श्वसन कैंसर – अगरबत्ती या धूपबत्ती का धुआं भी खतरनाक हो सकता है

साथ ही आपको ये भी बता दें कि ज्यादा समय तक इसका धुआं शरीर में जाने से श्वसन कैंसर का खतरा बढ़ जाता है, ऐसे में इससे श्वसन कैंसर का खतरा बढ़ सकता है। जी हां, धूम्रपान के अलावा अगरबत्ती के धुंआ से आपको इस बिमारी का खतरा बन सकता है।

फेफड़े के रोग – अगरबत्ती या धूपबत्ती का धुआं भी खतरनाक हो सकता है

बताते चलें कि अगरबत्ती और धूपबत्ती के धुएं से निकलने वाली कार्बनमोनो ऑक्साइड शरीर में जाकर फेफड़ों को नुकसान पहुंचाती है, जिसकी वजह से फेफड़ों के रोग के साथ जुकाम के साथ ही कफ की समस्या भी हो जाती है, जिससे फेफड़े का रोग का खतरा बढ़ जाता है।

आंखों के लिए हानिकारक – अगरबत्ती या धूपबत्ती का धुआं भी खतरनाक हो सकता है

अगरबत्ती और धूपबत्ती के धूएं में मौजूद हानिकारक केमिलक आंखों में खुजली, जलन और स्किन एलर्जी का कारण बन सकते है, जिसकी वजह से आपके आंखों की रोशनी कम हो सकती है, इतना ही नहीं आपकी आंखें खराब भी हो सकती है।

अस्थमा की समस्या – अगरबत्ती या धूपबत्ती का धुआं भी खतरनाक हो सकता है

बताते चलें कि अगरबत्ती के धूंए में मौजूद नाइट्रोजन और सल्फर डाईऑक्साइड गैस सेहत के लिए हानिकारक होती है, जिससे सांस लेने में तकलीफ के साथ अस्थमा की समस्या भी हो सकती है, ऐसे में आपको इनसे सावधानी बरतनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.