विशेष

OMG: सूर्यग्रहण सबसे बड़ा खतरा लेकर आ रहा है, अभी जानिये और संभलिए

सूर्यग्रहण जो अबसे बस कुछ ही घण्टो में लगने वाला है। जी हां, सूर्यग्रहण का असर बहुत बुरा पड़ने वाला है। बताते चले कि ज्योतिष के अनुसार ये ग्रहण बहुत ही खतरनाक है, जिसके प्रभाव दूरगामी हो सकते हैं। ऐसे में आपको बहुत ही ज्यादा सावधान होने की जरूरत है। आइये जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

15 फरवरी की मध्यरात्रि से लगने वाला सूर्यग्रहण भारत मे भले ही नहीं दिखेगा, लेकिन इसके सूर्यग्रहण का असर भारत मे भी देखने को मिलेंगे। ज्योतिष जे अनुसार, ग्रहण 15 फरवरी, 2018 को अर्धरात्रि में पड़ेगा जो भारत में नहीं दिखेगा। दरअसल, सूर्य ग्रहण तब लगता है, जब सूर्य और पृथ्वी के बीच में चंद्रमा आ जाता है। ऐसे में यह ग्रहण अर्धरात्रि में 15 व 16 फरवरी, 2018 के संधिकाल में पड़ेगा, यही वजह है कि भारत मे नहीं दिखाई देगा।

शास्त्रों ने चेताया है कि कम अंतराल के बीच दो ग्रहण धरती के लिए शुभ संकेत नहीं है। बता दें कि 31 जनवरी को चंद्रग्रहण लगा था, अब उससे अगले पक्ष में ही अमावस्या को यह आंशिक सूर्यग्रहण लग रहा है, सूर्यग्रहण का असर की वजह से धरती में उथल पुथल के हालात बन रहे हैं।

सूर्यग्रहण के बाद भूकंप आने की सम्भावनाये : सूर्यग्रहण का असर

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, ग्रहण की वजह से धरती में कहीं न कहीं भू-पटल में दरारें पड़ेंगी, जिसकी वजह से भूकंप जैसी घटनाएं घटित होंगी। बता दें कि घटना का असर अमेरिका में देखने को मिलेगा, जिससे वहां काफी बेचैनी होगी।ब ताते चलें कि इसका असर भारत मे कम रहेगा, लेकिन 16 फरवरी और बाद के महीने-दो महीने भूकम्पों से सावधान रहना होगा। ज्योतिष के मुताबिक, सूर्यग्रहण का खतरा बहुत ज्यादा है।

बता दें कि भूकंप का असर भारत में कम होगा, लेकिन भारत में भी एक या दो बार भूकंप आने की संभावनाएं जताई जा रही है। ज्योतिषि के अनुसार, भूकंप का असर पाकिस्तान, अमेरिका, इजराइल के अलावा उत्तरी इलाकों में दिखाई देगा। आपको बता दें सूर्यग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को विशेष ख्याल रखना चाहिए, उन्हें उस दौरान सिलाई, बुनाई या नहाने से बचना चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close