हिन्दी समाचार, News in Hindi, हिंदी न्यूज़, ताजा समाचार, राशिफल

पाकिस्तान ने दी भारत को धमकी, कहा – बलूचिस्तान पर चुप रहो, नहीं तो …….!

दिल्लीः सर्जिकल स्ट्राइक के बाद दुनियाभर में अलग-थलग पड़ा पाकिस्तान अब नए-नए हथकंडे अपना रहा है। उसने अपने दो विशेष राजनायकों  को अमेरिका भेजा है जो कश्मीर के मुद्दे पर हस्तक्षेप करने के लिए अमेरिका से गुहार लगा रहे हैं। इतना ही नहीं पाक के ये दोनों राजनायक बलूचिस्तान के मुद्दे पर भारत को भी धमकी (Pakistan threat) दे रहे हैं।

Pakistan threat to India.
 पाक की भारत को धमकी –

 पाकिस्तान का कहना है कि अगर भारत बलूचिस्तान का मुद्दा उठाना बंद नहीं करता है, तो पाकिस्तान खलिस्तान, नागालैंड, त्रिपुरा, असम, सिक्किम और माओवाद विद्रोह का मुद्दा उठा सकता है। दोनों उच्चायुक्तों से वॉशिंगटन डीसी में आतंक को समर्थन देने, परमाणु हमले की धमकी और पाकिस्तान के एक राष्ट्र राज्य के रूप में असफल होने को लेकर तीखे सवाल पूछे गए।

एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक स्टीम्सन सेंटर में उपस्थित भीड़ को संबोधित करते हुए कश्मीर मसले पर प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विशेष दूत मुशाहिद हुसैन सैयद ने कहा, ‘जब आप शांति की बात करते हैं, तो काबुल में शांति का रास्ता कश्मीर से जुड़ता है। आप शांति को बांट नहीं सकते, एक भाग को अलग नहीं कर सकते। आप काबुल में शांति चाह सकते हैं, लेकिन कश्मीर को जलते नहीं छोड़ सकते.. ऐसा नहीं हो सकता।’

दूसरे राजनायक  मंसब ने कहा, “इस वक्त हमारा एकमात्र मकसद है और वह है कश्मीर में शांति स्थापित करना । जब तक यह मुद्दा नहीं सुलझता तब तक वहां शांति स्थापित नहीं हो सकती है।” उन्होंने कहा, “भारत-पाकिस्तान दोनों परमाणु हथियारों से लैश पड़ोसी देश हैं। हम कश्मीर मुद्दे पर दोनों पक्षों से शांति चाहते हैं।” सैयद ने कहा, “हम अमेरिका से गुजारिश करते हैं कि वह भारत को कश्मीर में शांति  स्थापित करने की दिशा में कदम उठाने को कहे।”

 काबुल में शांति सिर्फ कश्मीर के रास्ते : पाकिस्तान –

पहली बार पाकिस्तान ने कश्मीर मुद्दे के हल को अफगानिस्तान से जोड़ते हुए कहा है कि शांति के लिए दोनों विषयों का हल जरूरी है और उन्हें अलग-अलग करके नहीं देखा जा सकता।

कश्मीर पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के विशेष दूत सीनेटर मुशाहिद हुसैन सैयद ने यहां कहा कि जब आप शांति की बात करते हैं तब काबुल में शांति का रास्ता कश्मीर से होकर जाता है। आप शांति को एक-दूसरे से अलग नहीं कर सकते. काबुल में शांति हो और कश्मीर जलता रहे, ऐसा नहीं होने जा रहा।

अमेरिका को धमकी, कश्मीर के बिना काबुल में शांति नहीं –

“कश्मीर मुद्दे पर पूरी दुनिया में अलग-थलग पड़ चुके पाकिस्तान ने अमेरिका को धमकी दी है कि यदि उसने कश्मीर मुद्दे को नहीं सुलझाया तो काबुल में शांति नहीं होगी। पाकिस्तान ने पहली बार सीधे-सीधे कश्मीर को अफगानिस्तान से जोड़ दिया है।”

गौरतलब है कि अमेरिका लंबे समय से अफगानिस्तान में शांति के लिए प्रयासरत है मगर पाकिस्तान समर्थित और प्रायोजित तालिबान आतंकी वहां शांति नहीं होने दे रहे हैं। अमेरिका लगातार प्रयास कर रहा है कि पाकिस्तान तालिबान को समर्थन देना बंद कर दे मगर उसकी कोशिश कामयाब नहीं हो रही है। पाकिस्तान सरकार चोरी-छिपे तालिबान को समर्थन देने में जुटी है।

नवाज शरीफ के विशेष दूत सीनेटर मुशाहिद हुसैन सैय्यद ने शुक्रवार को वाशिंगटन में कहा- ‘कश्मीर मुद्दा हल होने पर ही अफगानिस्तान में शांति आ सकती है।

इसका हल दोनों देशों के लिए जरूरी है। इस मुद्दे को खेमों में नहीं बांटा जा सकता।’ दूसरी ओर, अमेरिका ने कहा है कि कश्मीर विवाद खत्म करने के लिए भारत-पाक के बीच ऐसी बातचीत होनी चाहिए जिसका कोई नतीजा निकले।

 

DMCA.com Protection Status