अगर आपके घर में भी लगे हुए हैं ये पौधे तो हो सकता है आपको नुकसान, आज ही हटायें

भारत एक धार्मिक देश है। यही वजह है कि यहाँ पर कई तरह की मान्यताएं हैं। लोग अपना जीवन कई प्राचीन मान्यताओं के हिसाब से ही जीते हैं। मनुष्य के जीवन में कई चीजों की आवश्यकता होती है। भारत की परम्परा रही है कि यहाँ कोई भी काम ग्रह-नक्षत्रों के हिसाब से किया जाता है। लोगों के जीवन में ग्रह-नक्षत्रों की अहम भूमिका होती है। यह लोगों के जीवन की दिशा को तय करते हैं। सदियों से भारत के लोग वास्तुशास्त्र में यकीन करते आ रहे हैं।

घर में होता है सकारात्मक उर्जा का संचार:

आपको बता दें वास्तुशास्त्र एक बड़ा ही कमाल का शास्त्र है। यह लोगों के रहन-सहन और उनके भवन निर्माण की जानकारी देता है। किस तरह के काम से व्यक्ति को हानि और फायदा हो सकता है, इसके बारे में भी जानकारी मिलती है। आपको बता दें पेड़-पौधे किसी भी घर की खूबसूरती को दो गुना बड़ा देते हैं। घर में पौधों के होने की वजह से सकारात्मक उर्जा का संचार होता रहता है। लेकिन ऐसा नहीं है, कुछ पौधे हानिकारक भी होते हैं, जिन्हें घर में ना लगाने की सलाह दी जाती है।

होती है शुभ फलों की प्राप्ति:

अगर वास्तुशास्त्र की मानें तो कई ऐसे पेड़-पौधे होते हैं जो घर के दोष को ख़त्म करते हैं। लेकिन इसके लिए इन पौधों का सही दिशा में रखना ज्यादा जरुरी होता है। अगर वही पौधे गलत दिशा में रखें जाएँ तो उसके भयंकर परिणाम होते हैं। इसी लिए कहा जाता है कि घर में या घर के बाहर पौधे लगाने से पहले दिशा निर्धारित कर लेनी चाहिए। आज हम आपको कुछ ऐसे पौधों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें अगर सही दिशा में लगाया जाए तो शुभ फलों की प्राप्ति होती है।

पेड़-पौधों सम्बंधित इन बातों का रखें ध्यान:

*- हिन्दू धर्म में बरगद और पीपल के पेड़ को बहुत ही पवित्र माना गया है। लेकिन ऐसा कहा जाता है कि इन पेड़ों को भूलकर भी अपने घर के अन्दर नहीं लगाना चाहिए। यह बहुत ही अशुभ होता है। इन पेड़ों को हमेशा मंदिरों के आस-पास ही लगाया जाना चाहिए।

*- तुलसी के पौधे के महत्व के बारे में किसी को कुछ भी बताने की जरुरत नहीं है। तुलसी के पौधे को भूलकर भी घर की दक्षिणी दिशा में नहीं लगाना चाहिए। घर के इस भाग में लगा हुआ तुलसी का पौधा फायदे की जगह नुकसान पहुंचाता है।

*- अगर किसी बड़े पौधे को लगाने का मन कर रहा है तो उसे घर की दक्षिण या पक्षिम दिशा में लगाना चाहिए। जिससे इन पौधों को अच्छी रौशनी मिलती रहे। लेकिन एक बात का ध्यान रखें कि ये घर के सदस्योंके रास्ते में ना आये।

*- अगर छोटे साइज़ के पौधे को लगाना हो तो उसे घर के उत्तर-पूर्व दिशा में लगाना चाहिए।

*- दुधिया पेड़-पौधों को भूलकर भी घर के आँगन में नहीं लगाना चाहिए। इससे घर में रहने वाले लोगों की सेहत पर बुरा असर पड़ता है।

*- लताओं वाले पौधों को घर के मुख्य दरवाजे पर या बालकनी में लगाया जा सकता है। इन्हें लगाने के बाद एक बाद का ध्यान रखें कि यह वहां की दिवार से ज्यादा बड़े ना हो जाएँ। जब बेल बड़ी होने लगे तो उसे दूसरी दिशा में घुमा देना चाहिए।

*- कुछ ऐसे भी पौधे हैं जिन्हें घर के आँगन में लगाना शुभ फल देता ही अनार, दालचीनी, अशोक, नारियल, बकुल, चमेली, गुलाब, केसर, और चंपा। इन पौधों को घर के आंगन के अलावा कहीं और नहीं लगाना चाहिए।

इस आर्टिकल को लिखते समय हमने काफी जाँच की और सावधानी बरती है। अगर फिर भी आपको किसी तरह की कोई शंका हो तो आप किसी वास्तुशास्त्री से संपर्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

4 × five =