ब्रेकिंग न्यूज़

अब देश में नहीं होंगे आतंकी हमले, सील होगी भारत-पाक सीमा’

दिल्लीः केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह पाकिस्तान के साथ जारी तनाव के बीच अन्तरराष्ट्रीय सीमा से जुड़े चार राज्यों में मौजूदा सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा करने के लिए आज जैसलमेर के दौरे पर हैं। पाकिस्तान से सटे चार भारतीय राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ सुरक्षा समीक्षा को लेकर बैठक के बाद राजनाथ सिंह ने कहा कि दिसंबर 2018 तक भारत-पाक सीमा को सील कर दिया जाएगा। Indo Pakistan border sealed.

गृहमंत्री ने कहा कि देश पर किसी तरह की आंच नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि वर्ष 2018 तक भारत पाक सीमा को पूरी तरह सील कर दिया जाएगा।

ऐसे किया जाएगा देश की सीमा को सील (Indo Pakistan border seal.)-

जिस भी जगह पर फेंसिंग नहीं है और नदी और नाले हैं वहां पर इलेक्ट्रानिक सेर्विलॉन्स लगाने के निर्देश दिए गए हैं। और जहां फेंसिंग हैं और ज्यादा खतरनाक एरिया है वहां से अगर आतंकी घुसपैठ करते हैं तो उसके लिए अंडर ग्राउंड सेंसर भी लगाए जाएंगे। नदी नालों के इलाके में लेज़र वाल होगी साथ ही इन्ही इलाकों में अंडर ग्राउंड वाटर सेंसर लगाए जाएंगे। सीमा के आस-पास इलेक्ट्रो ऑप्टिक सेंसर लगाए जाएंगे। घुसपैठ रोकने के लिए माइक्रो एयरो स्टैट बैलून भी लगाया जाएगा। घने जंगलों में आतंकियों पर नजऱ और फोटो लेने के लिए Foliage Penetrating Radar लगाए जाएंगे।

बनाया जाएगा ‘बॉर्डर सिक्योरिटी ग्रिड (Indo Pakistan border ) .’ –

केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि सीमा पर ‘बार्डर सिक्योरिटी ग्रिड’ बनाया जाएगा और लगातार इसकी निगरानी की जाएगी। उरी हमले और उसके बाद भारतीय सेना के लक्षित हमले के बाद पाकिस्तान के साथ जारी तनाव के बीच शुक्रवार को यहां पहुंचकर अन्तरराष्ट्रीय सीमावर्ती राजस्थान, पंजाब, जम्मू कश्मीर और गुजरात में ताजा सुरक्षा प्रबंधों की समीक्षा करने के बाद सिंह संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे।

पाकिस्तान के साथ तनाव में हुई है वृद्धि –

केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री किरन रिजिजू के साथ संवाददाताओं से बातचीत करते हुए सिंह ने स्वीकार किया कि पाकिस्तान के साथ तनाव बढा है। उन्होंने कहा कि देश पर किसी तरह की आंच नहीं आने दी जाएगी। देशवासियों को सेना और जवानों पर विश्वास रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि सेना और जवानों पर पूरी तरह से विश्वास और भरोसा है। जिस तरह से किसान अपनी फसल की रखवाली करता है उसी तरह जवान सीमा की रखवाली कर रहा है।

राहुल के ‘खून की दलाली’ वाले बयान पर राजनाथ की चुप्पी –

राजनाथ ने राहुल के ‘खून की दलाली’ वाले बयान पर कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि देश के समक्ष चुनौती हो तो सभी को एकजुट होना चाहिए। इन दिनों भारत-पाक के बीच टेंशन बढ़ी है। ऐसे में सभी को संयम से काम लेना चाहिए।

सूत्रों के मुताबिक सीमा पर कई संवेदनशील इलाकों मे इजराइल-फिलिस्तीन की सीमा की तर्ज़ पर दीवार बनाने की योजना पर काम शुरू होगा। सीमा को सील करने के लिए बड़े पैमाने पर अत्याधुनिक उपकरण लगाने की योजना पर सरकार काम कर रही है।

बता दें कि जैसलमेर पहुंचे केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान के साथ जारी तनाव के बीच अन्तरराष्ट्रीय सीमा से जुड़े चार राज्यों में मौजूदा सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा करने के लिए आज चार राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की। राजनाथ 7 और 8 अक्टूबर को राजस्थान में रहेंगे। राजनाथ राजस्थान के सीमावर्ती इलाकों में सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने पहुंचे थे।

Related Articles

Close