लड़के और लड़की की उम्र में होना चाहिए ये ख़ास अंतर, वरना रिश्तों में पड़ता है बुरा प्रभाव

नई दिल्ली: इंसान ने समय के साथ साथ काफी उन्नति कर ली है. इस तेज़ी से हो रही उन्नति ने मानव जाती को ख़ासा प्रभावित किया है. इतना ही नहीं बल्कि इस बदलते हुए वक़्त ने इंसानों की सोच को भी काफी बदल कर रख दिया है. आज के समय में ऐसी बहुत सारी चीज़ें मनुष्य के लिए सामान्य हो चुकी हैं, जबकि कुछ चीज़ों को होना समाज में आज भी महा पाप माना जाता है. दरअसल, आज के इस आर्टिकल में हम पुरुष और स्त्री के आपसी संबंधों के बारे में बात करने जा रहे हैं.

आज की युवा पीढ़ी की बात की जाए तो ये काफी खुले विचारों के होते हैं. फिल्मों के इस दौर ने युवायों को सबसे अधिक प्रभावित किया है. पहले के समय में बच्चों की शादी का फैसला घरवालों द्वारा ही लिया जाता था. मगर अब बच्चे जवानी में कदम रखने के साथ ही अपने लिए कोई न कोई साथी ढूँढ लेते हैं. ऐसे में देश के युवा धर्म, जात पात आदि जैसी बातों में विश्वास नहीं रखते. उनका बचपना इतना बढ़ जाता है कि कईं बार वह अपने घरवालों की मर्जी के खिलाफ जाकर भी शादी कर लेते हैं.

एक रिसर्च के अनुसार पति और पत्नी का रिश्ता सबसे अटूट और अहम रिश्ता है. ऐसे में उनका रिश्ता तभी टिक पाता है, जब वह एक दुसरे को अच्छे से समझे और दोनों में आपसी साझेदारी हो और ये साझेदारी तभी मुमकिन है जब दोनों की उम्र में ख़ास अंतर ना हो. क्यूँ कि इंसान की उम्र का उसके व्यक्तित्व के साथ गहरा रिश्ता होता है. ऐसे में अगर आपका साथी आपकी उम्र से छोटा होगा तो वह आपको अपने आप से कम समझदार लगेगा. इसके इलावा अगर आपकी साथी आपसे बड़ा है तो वह आपको हमेशा नीचा दिखाने की कोशिश कर सकता है. क्यूंकि समझदारी उम्र के ढलने के साथ ही आती है.

ऐसे में अगर आप अपने हम उम्र से शादी करें तो आप दोनों में अच्छी अंडरस्टैंडिंग बनी रहेगी और आप एक दुसरे को आसानी से समझ पाओगे. शादी का रिश्ता जिम्मेदारियों से भरा रिश्ता है. ऐसे में शादी के बाद आपकी और आपकी साथी की एक दुसरे से हजारों अपेक्षाएं होती हैं और उन अपेक्षायों को आप तभी समझ सकते हैं जब आपका पार्टनर आपकी उम्र का हो. क्यूंकि इच्छाएं ना पूरी कर पाना भी रिश्ता टूटने का एक कारण बनता है.

एक दुसरे को अच्छे से समझने के लिए जरुरी है कि आप सामने वाले के भाव को जाने और समझे. मगर, कई बार उम्र में बहुत अधिक अंतर होने की वजह से लोग रिश्ते में तनाव जैसी परेशानियों का सामना करते है.आज हम आपको बताएंगे कि आपकी शादी के लिए सही उम्र का अंतर क्या होना चाहिए.

आपके और आपके पार्टनर की उम्र में कम से कम एक से दो सालों का ही फर्क होना चाहिए. क्यूंकि, उम्र के साथ साथ इंसान की सोच और पसंद भी बदल जाती है. ऐसे में अगर आप एक ही उम्र के होंगे तो दोनों की पसंद और नापसंद एक जैसी रहेगी.

20 से 22 साल की उम्र युवायों की मस्ती की उम्र होती है. ऐसे में अगर आपको आपकी उम्र से बड़ा साथी मिलता है तो वह आपकी पसंद और सपनों को नादानी का नाम देगा. इससे आप दोनों में छोटी मोटी बात को लेकर भी अनबन बनी रह सकती है.